भारत 325 (मयंक 150, शुभमन 44,अक्षर 52, एजाज़ 10-119) और 69/0 (मयंक 38*, पुजारा 29*) < b>न्यूज़ीलैंड 62 (सिराज 3-19, अक्षर 2-14, अश्विन 4-8) से 332 रन से आगे.

आज एजाज़ पटेल ने पहली पारी में 10 विकेट लेकर इतिहास रच दिया। इसके बाद एजाज़ ने देखा कि उनके टीम के बल्लेबाज़ भी न्यूनतम स्कोर खड़ा करने के मामले में एक नया इतिहास बना रहे हैं।

आज एक ही पारी में दस विकेट झटकने के बाद एजाज़ उन तीन गेंदबाज़ों की सूची में शामिल हो गए जिन्होंने किसी भी अंतर्राष्ट्रीय स्तर के टेस्ट मैच के एक ही पारी में 10 विकेट झटके हैं। इससे पहले इस सूची में दो नाम थे - जिम लेकर और अनिल कुंबले। विदेशी धरती पर ऐसा प्रदर्शन करने वाले एजाज़ पहले गेंदबाज़ हैं।

हालांकि वह ऐसे पहले गेंदबाज़ हो सकते हैं जिसने टेस्ट मैच के एक ही पारी में 10 विकेट तो लिया लेकिन उनकी टीम वह टेस्ट हार गई हो क्योंकि न्यूज़ीलैंड की टीम पहली पारी में भारत के 325 रनों के जवाब में सिर्फ़ 62 रनों पर ही ढेर हो गई।

पहली पारी में एजाज़ ने 47.5 ओवरों की गेंदबाज़ी करते हुए 119 रन ख़र्च किए और 10 विकेट झटके। हालांकि जब भारत के ख़िलाफ उनकी टीम बल्लेबाज़ी करने के लिए उतरी तो भारतीय गेंदबाज़ो के धारदार लाइन और लेंथ का उनके पास कोई जवाब नहीं था। उनके बल्लेबाज़ सिर्फ़ 28.1 ओवर तक ही बल्लेबाज़ी करने में सक्षम हो पाए।

न्यूज़ीलैंड के इतनी जल्दी ऑल आउट होने के बाद भी कप्तान विराट कोहली ने फॉलोऑन कराने का निर्णय नहीं लिया। दिन का खेल खत्म होने तक दूसरी पारी में भारतीय टीम ने बिना कोई विकेट खोए 66 रन बना लिए थे। आपको बता दें कि दूसरी पारी में मयंक अग्रवाल के साथ चेतेश्वर पुजारा सलामी बल्लेबाज़ के तौर पर मैदान में उतरे थे क्योंकि फील्डिंग करने के दौरान शुभमन गिल के उंगिलयों में चोट लग गई थी। साथ ही शॉर्ट लेग पर फील्डिंग करने के दौरान उनकी कोहनी में भी चोट आई थी।

दूसरी पारी में जब मयंक बल्लेबाज़ी करने आए तो ऐसा लगा कि पहली पारी में जहां उन्होंने खत्म किया था, वहीं से उन्होंने बल्लेबाज़ी शुरू की। अपनी 38 रनों की नाबाद पारी के दौरान उन्होंने काफ़ी धैर्य के साथ बल्लेबाज़ी की और जब भी हाथ खोलने का मौक़ा मिला, वह रन बनाने से नहीं चूके। मयंक के साथ सलामी बल्लेबाज़ी करने आए पुजारा भी दूसरी पारी में काफ़ी सकारात्मक दिख रहे थे और मौक़ा मिलने पर लगातार कमज़ोर गेंदों पर प्रहार कर रहे थे। उन्होंने अपनी नाबाद 29 रनों की पारी में पुल करते हुए मिड विकेट की दिशा में एक सिक्सर भी लगाया।

आज दिन की शुरुआत में भारत का स्कोर चार विकेट के नुकसान पर 221 रन था लेकिन एजाज़ ने जल्द ही एक बार फिर से भारत को बैकफ़ुट पर धकेल दिया और फटाफट दो विकेट झटक लिए। इसके बाद भारत का स्कोर 226 रन पर 6 विकेट था। पहले उनकी एक सीधी गेंद पर रिद्धिमान साहा कट लगाने गए और पगबाधा आउट हो गए और उसके बाद उन्होंने अश्विन को बोल्ड मार दिया। एजाज़ की मिडिल स्‍टंप पर फुलर गेंद को अश्विन डिफेंस करने गए, गेंद बाहर की ओर बहुत टर्न हुई और बल्‍ले से बचती हुई सीधा ऑफ स्‍टंंप पर जा टकराई।

इसके बाद मयंक और अक्षर पटेल के बीच 66 रनों की एक अच्छी साझेदारी हुई जिसके कारण भारत एक बढ़िया स्कोर तक पहुंचने में कामयाब रहा। लंच के बाद भारत का स्कोर 286 रन था और तब तक भारत ने 6 विकेट गंवाए थे। इसके बाद जब भारत वापस बल्लेबाज़ी करने आया तो एक बार फिर से एजाज़ ने अपनी एक शानदार गेंद से मयंक को आउट कर दिया और टॉम लैथम ने एक शानदार कैच पकड़ा। इसके बाद उन्होंने अक्षर को भी कुछ देर बाद पगबाधा आउट कर दिया। अंत के सभी विकेट भी उन्होंने आसानी से प्राप्त किए।

हालांकि इसके बाद जब न्यूज़ीलैंड की टीम बल्लेबाज़ी करने उतरी तो भारतीय गेंदबाज़ों ने उन्हें कोई मौक़ा नहीं दिया। पहले सिराज ने तीन शीर्ष बल्लेबाज़ों को पवेलियन का रास्ता दिखाया, इसके बाद का काम स्पिनरों ने कर दिया, जिसमें अश्विन ने चार, अक्षर ने दो और जयंत ने एक विकेट झटके।

सौरभ सोमानी ESPNcricinfo के अस्सिटेंट एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब एडिटर राजन राज ने किया है।