मैच (18)
IPL (3)
SA v SL (W) (1)
USA vs CAN (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
ACC Premier Cup (4)
ख़बरें

ब्रैथवेट : तेजनारायण चंद्रपॉल के साथ साझेदारी ख़ूब जमेगी

ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ सीरीज़ के अभ्यास मुक़ाबलों से पहले वेस्टइंडीज़ टेस्ट कप्तान ने कहा कि उनकी टीम के लिए 2022 अच्छा रहा है और उसी को बरकरार रखने की कोशिश जारी रहेगी

अभ्‍यास सत्र के दौरान क्रेग ब्रैथवेट  •  AFP/Getty Images

अभ्‍यास सत्र के दौरान क्रेग ब्रैथवेट  •  AFP/Getty Images

वेस्टइंडीज़ ने ऑस्ट्रेलियाई धरती पर अपना पिछला टेस्ट फ़रवरी 1997 में जीता था। इसके बाद किसी भी प्रारूप में वेस्टइंडीज़ ने ऑस्ट्रेलिया को ऑस्ट्रेलिया को केवल एक बार हराया है। वह भी फ़रवरी 2013 में एक टी20 मुक़ाबले में हुआ था।
कहा जा सकता है कि वेस्टइंडीज़ के लिए ऑस्ट्रेलिया का दौरा बहुत ज़्यादा आशावादी नहीं होता, हालांकि 2000 के बाद उन्होंने वहां केवल 14 टेस्ट मैच खेले हैं और 2016 के बाद एक भी नहीं। फिर भी, 12 बार पराजय और दो ड्रॉ रहे मैच बहुत आकर्षक आंकड़े तो नहीं हैं। जब वेस्टइंडीज़ पिछली बार जीता था तब शिवनारायण चंद्रपॉल अपने टेस्ट करियर के तीसरे साल में थे, जबकि अब उनके 26-वर्षीय पुत्र तेजनारायण कप्तान क्रेग ब्रैथवेट के सलामी जोड़ीदार बनने के प्रबल दावेदार हैं।
पर्थ में होने वाले पहले टेस्ट से पूर्व वेस्टइंडीज़ कैनबेरा में दो अभ्यास मैच खेलेगा और पहले मुक़ाबले से पहले पत्रकारों से बात करते हुए ब्रैथवेट ने कहा, "बतौर टीम हम परिणामों पर ज़्यादा ध्यान नहीं देते। हमें पता है कि ऑस्ट्रेलिया में जीते हुए बहुत लंबा समय बीत चुका है लेकिन हम अपनी योजनाओं और पहले टेस्ट से पहले की तैयारी पर ध्यान दे रहे हैं। हमारे पास 10 दिन का टेस्ट क्रिकेट है और हम इसमें अच्छा क्रिकेट खेलने की पूरी कोशिश करेंगे।"
टेस्ट से पहले दो अभ्यास मैच मिलने के दुर्लभ मौक़ों पर ब्रैथवेट बोले, "ऑस्ट्रेलियाई टीम का चयन हो चुका है और हमें पता है हम किन बल्लेबाज़ों और बल्लेबाज़ों के ख़िलाफ़ खेलेंगे। अब ज़रूरी है कि हम प्रतिद्वंद्वी के लिए सटीक योजना और मानसिकता की रचना करें और यह दो मैच उस बात में मददगार साबित होंगे।"
यह वेस्टइंडीज़ के लिए टी20 विश्व कप के पहले पड़ाव में टूर्नामेंट से बाहर होने के तुरंत बाद पहली सीरीज़ है और ऐसे में हो सकता है टीम पर अतिरिक्त दबाव रहे, हालांकि ब्रैथवेट ने इसे नहीं स्वीकारा। उन्होंने कहा, "यह अलग प्रारूप है और हमारे लिए अब तक यह साल टेस्ट क्रिकेट में अच्छा रहा है [घर पर इंग्लैंड के विरुद्ध 1-0 और बांग्लादेश के ख़िलाफ़ 2-0 की सीरीज़ जीत] और अब हम अपनी ऊर्जा टेस्ट पर लगाना चाहेंगे। हम पर कोई दबाव नहीं है। हम केवल कैरेबियाई समर्थकों को गर्व का एहसास दिलाना चाहते हैं।"
टेस्ट क्रिकेट में वेस्टइंडीज़ टीम के आक्रमण का भार तेज़ गेंदबाज़ों पर पड़ता है और ऐसे में ब्रैथवेट ने उम्मीद जताई कि अल्ज़ारी जोसेफ़, केमार रोच, जेडन सील्स और ऐंडरसन फ़िलीप "आक्रामकता के साथ निरंतरता" दिखाएंगे और अनुशाषित गेंदबाज़ी करेंगे। जब ब्रैथवेट ने जून में पिछली बार वेस्टइंडीज़ के लिए टेस्ट खेला था तब जॉन कैंपबेल उनके सलामी जोड़ीदार थे। कैंपबेल पर तब से डोप नियमों का पालन ना करने पर प्रतिबंध लगा है और ऐसे में तेजनारायण पहले टेस्ट में ब्रैथवेट के साथ बल्लेबाज़ी करते हुए उतर सकते हैं।
ब्रैथवेट ने कहा, "सच कहूं तो मुझ लगता है हमारी साझेदारी बहुत अच्छी जमेगी। तेज ऐसे बल्लेबाज़ है जो पिच पर समय बिताने में विश्वास करते हैं। मेरे लिए मेरा फ़ोकस भी नहीं बदलेगा। मैं हर गेंद पर ध्यान केंद्रित रखते हुए सह निर्णय की कोशिश करता रहूंगा। मैंने उन्हें प्रथम-श्रेणी क्रिकेट खेलते हुए देखा है और मैं उनके साथ अच्छी पारी की शुरुआत करने के बारे में उत्साहित हूं।"
ब्रैथवेट हालिया समय में वेस्टइंडीज़ की टेस्ट बल्लेबाज़ी के स्तंभ के रूप में उभर कर आए हैं। इस साल पांच टेस्ट मैच में उन्होंने चार अर्धशतक और एक शतकीय पारी खेली है। ब्रिजटाउन में इंग्लैंड के ख़िलाफ़ एक ही टेस्ट में उन्होंने कुल 216 रन बनाए थे।
कप्तान ने कहा, "मैं कुछ समय से बल्लेबाज़ी में संतुलन पर ध्यान देता आया हूं। मैं अपने करियर के ऐसे पड़ाव पर हूं जहां मुझे अपने गेम की बेहतरीन समझ है। मैं जानता हूं कि सही संतुलन मुझे गैप ढूंढने में और अच्छी गेंदों के लिए शरीर को सही संरेखण में लाने में मदद करता है। आपको टेस्ट क्रिकेट में कई अच्छी गेंदें मिलती हैं और यही ज़रूरी है कि आप उनका सामना कैसे करते हैं।"

अनुवाद ESPNcricinfo में स्‍थानीय भाषा प्रमुख देबायन सेन ने किया है।