मैच (14)
आईपीएल (3)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
Charlotte Edwards (1)
T20I Tri-Series (1)
ख़बरें

हम एक संतुलित टीम नहीं बना पा रहे हैं : श्रेयस

कोलकाता नाइट राइडर्स के कप्तान चाहते हैं कि आने वाले मैचों में उनके खिलाड़ी निडर होकर खेलें

कोलकाता नाइट राइडर्स के कप्तान श्रेयस अय्यर का मानना है कि दिल्ली कैपिटल्स के विरुद्ध उनकी निराशाजनक बल्लेबाज़ी के लिए उनके पास कोई बहाना नहीं है। उन्होंने स्वीकार किया कि टीम सही सलामी जोड़ी नहीं चुन पाई है और यह उनके लिए चिंता का विषय बनता जा रहा है। साथ ही कप्तान ने इस सीज़न में लगातार पांचवीं हार झेलने के बाद अपनी टीम से निडर होकर खेलने का आग्रह किया।
गुरुवार को कुलदीप यादव की घातक गेंदबाज़ी के सामने घुटने टेकते हुए कोलकाता ने 83 रनों के भीतर छह विकेट गंवा दिए थे। केवल तीन ही बल्लेबाज़ 10 से अधिक रन बना पाए लेकिन नितीश राणा की अर्धशतकीय पारी ने उन्हें एक सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाया। दूसरी पारी में कोलकाता ने लगातार अंतराल पर विकेट लिए लेकिन वह दिल्ली को रोक नहीं पाई।
श्रेयस ने मैच के बाद ब्रॉडकास्टर को बताया, "शुरुआत में हमने धीमी गति से बल्लेबाज़ी की और विकेट भी गंवाए। गेंद पिच पर रुककर आ रही थी। इसके बावजूद मुझे लगता है कि हमने पर्याप्त रन नहीं बनाए। जिस तरह से हमने बल्लेबाज़ी की, उसके लिए कोई बहाना नहीं है। हमें वापस जाकर देखना होगा कि हमसे कहां ग़लतियां हो रही हैं।"
तीन जीत के साथ कोलकाता इस समय अंक तालिका में केवल मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपर किंग्स से आगे हैं। नौ मैचों के बाद भी वह अपनी सबसे अच्छी सलामी जोड़ी की तलाश कर रही हैं। इस सीज़न में वह पांच अलग-अलग सलामी जोड़ियां बदल चुकी हैं। पिछले सीज़न में ओपन करते हुए सभी को प्रभावित करने वाले वेंकटेश अय्यर अपने फ़ॉर्म को नहीं दोहरा पाए हैं और कुछ मैचों के लिए तो उन्हें मध्य क्रम में उतारा गया। सुनील नारायण का बल्ला शांत रहा है और अन्य सलामी बल्लेबाज़ ऐरन फ़िंच और सैम बिलिंग्स चोटिल रहे हैं। पहले पांच मैचों में अजिंक्य रहाणे और वेंकटेश पारी की शुरुआत कर रहे थे लेकिन ख़राब प्रदर्शन के बाद रहाणे को ड्रॉप कर दिया गया। दिल्ली के विरुद्ध फ़िंच और वेंकटेश ने पारी का आग़ाज़ किया था लेकिन वह क्रमशः छह और तीन ही रन बना पाए।
श्रेयस के अनुसार सलामी जोड़ी की परेशानी के कारण उन्हें अपने बल्लेबाज़ी क्रम में लगातार बदलाव करने पड़ रहे हैं और इससे टीम को संतुलन नहीं मिल पाया है। श्रेयस ने कहा, "पिछले कुछ मैच कठिन रहे हैं क्योंकि हम सही सलामी जोड़ी नहीं चुन पाए हैं। मैचों के बीच कुछ खिलाड़ी चोटिल हो रहे हैं जिससे एक संतुलित टीम बनाने में कठिनाई हो रही है। मुझे लगता है कि इस लीग में आपके पास पहले मैच से ही सही टीम होनी चाहिए। अगर वह टीम अच्छा करती है तो आप वहां से आगे बढ़ सकते हैं।"
लीग स्टेज में कोलकाता को पांच और मुक़ाबले खेलने हैं। श्रेयस ने कहा कि अब टीम ध्यान देगी कि अधिक बदलाव ना किए जाए। सलामी जोड़ी ही नहीं बल्कि मध्यक्रम ने भी कोलकाता की मुसीबतें बढ़ाई हैं। हालिया मैचों में मध्य ओवरों में उन्होंने लगातार अंतराल पर विकेट गंवाए हैं।
कोलकाता के कप्तान ने आगे कहा, "मुझे लगता है कि हमें इसी एकादश पर टिके रहना होगा। हमें रक्षात्मक होने की बजाय निडर होकर खेल खेलना होगा। पांच मैच शेष है जिसमें हमें पूरी जान लगाकर इस टीम के लिए अपना सब कुछ झोंक देना होगा।"
अब कप्तान यही बात अपनी टीम तक कैसे पहुंचाएंगे?
"हमें खिलाड़ियों को समझाना होगा कि उन्हें पुराने मैचों को भूलकर एक नई शुरुआत करनी होगी। सब जमकर तैयारी कर रहे हैं। बात बस मानसिकता की है। मेरा मानना है कि आपको स्वंय पर विश्वास जताना होगा। इसके बाद अगर आप ग़लतियां करेंगे तो कोई बात नहीं।"
इस निराशाजनक सीज़न के बीच उमेश यादव कोलकाता के लिए चमकता सितारा बनकर उभरे हैं। पहले चार मैचों में नौ विकेट लेकर सीज़न की शुरुआत करने वाले उमेश को अगले कुछ मैचों में काफ़ी मार पड़ी। हालांकि दिल्ली के विरुद्ध वह अपने रंग में लौट आए और मात्र 24 रन देकर उन्होंने पृथ्वी शॉ, डेविड वॉर्नर और ऋषभ पंत को आउट किया।
अपने सबसे सफल गेंदबाज़ पर श्रेयस ने कहा, "उन्होंने विकेट लेकर अच्छी शुरुआत की। उसके बाद उन्हें एक ओवर में 11 रन पड़े और मैच विपक्षी टीम की तरफ़ झुकता जा रहा था। इसके बाद जिस तरह से उन्होंने वापसी करते हुए टीम को दो विकेट दिलाए वह सराहनीय था। वह उन खिलाड़ियों में से हैं जिन्होंने मुझे मैच में अहम पल दिए हैं। जब भी मैं उन्हें गेंद थमाता हूं, वह कमाल करने के लिए तैयार रहते हैं। वह लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं और उनके टीम में होने से हमें ख़ुशी हो रही है।"

श्रुति रवींद्रनाथ ESPNcricinfo में सब एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब एडिटर अफ़्ज़ल जिवानी ने किया है।