मैच (18)
IPL (3)
SA v SL (W) (1)
USA vs CAN (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
ACC Premier Cup (4)
ख़बरें

ओड़िशा के लिए खेलेंगे हॉन्ग कॉन्ग के पूर्व कप्तान अंशुमन रथ

घरेलू खिलाड़ी के तौर पर आईपीएल खेलना चाहते हैं रथ

अंशुमन ने हॉन्ग कॉन्ग के लिए 18 वनडे और 20 टी20 खेले हैं  •  Panda Man

अंशुमन ने हॉन्ग कॉन्ग के लिए 18 वनडे और 20 टी20 खेले हैं  •  Panda Man

हॉन्ग कॉन्ग के पूर्व कप्तान अंशुमन रथ भारत के घरेलू क्रिकेट सीज़न में ओड़िशा की ओर से खेलते हुए नज़र आएंगे। भारतीय पासपोर्ट धारक रथ ने पिछले एक साल में हॉन्ग कॉन्ग की तरफ से कोई क्रिकेट ना खेलकर एक स्थानीय खिलाड़ी के तौर पर भारतीय घरेलू सीज़न में खेलने की योग्यता प्राप्त कर ली है।
तेईस साल के इस शीर्ष क्रम के बल्लेबाज़ ने इससे पहले विदर्भ के लिए क्रिकेट खेलने की कोशिश की थी, लेकिन वहां बात नहीं बन पाने पर रथ ने अपने जन्म राज्य ओड़िशा के लिए कोशिश करना शुरू किया।
रथ ने ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो से कहा, "एक साल का विराम समय (कूलिंग ऑफ़) पूरा करने के बाद मैंने नागपुर में क्लब क्रिकेट खेला और उम्मीद कर रहा था कि मैं विदर्भ की तरफ से खेल सकूं। लेकिन जब वहां बात नहीं बनी, तो मैं नए विकल्पों को तलाशने लगा। अब ओड़िशा ही वह नया विकल्प है।" वह कहते हैं, "मैं भुवनेश्वर में पैदा हुआ हूं, ओड़िया बोल लेता हूं, इसलिए मेरे लिए यह सबसे अच्छी जगह है।"
रथ रणजी ट्रॉफ़ी में अपनी पहचान बनाकर एक स्थानीय खिलाड़ी के रूप में आईपीएल में खेलने के योग्य होना चाहते हैं। वह वर्तमान में भुवनेश्वर में एक प्रदेश स्तरीय टूर्नामेंट में भाग ले रहे हैं, जिसमें बेहतर प्रदर्शन कर वह अक्टूबर में होने वाली सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफ़ी के लिए अपनी जगह बनाना चाहते हैं।
उन्होंने बताया, "मैंने टीम के साथ एक महीने से अधिक समय बिताया है। टीम बहुत प्रतिभाशाली है, लेकिन किन्हीं कारणों से वह अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पा रही है। टीम में प्रतिभा प्रचुर मात्रा में है और मुझे उम्मीद है कि हम सभी इस सीज़न में कुछ बेहतर करें।"
"व्यक्तिगत रूप से मैं खुद बेहतर प्रदर्शन कर टीम में जगह बनाना चाहता हूं। इसका सबसे अच्छा तरीका यही है कि मैं जहां भी खेलूं वहां रन बनाते रहूं," रथ आगे कहते हैं।
रथ भारत, मुंबई और विदर्भ के पूर्व बल्लेबाज़ वसीम जाफ़र के साथ वक़्त बिताना चाहते हैं, जिन्हें पिछले महीने ही ओड़िशा का मुख्य कोच बनाया गया है। रथ ने कहा, "एक सलामी बल्लेबाज़ होने के नाते मैं उनसे अधिक से अधिक बात करना चाहता हूं। वह थोड़े समय पहले ही टीम में आए हैं, इसलिए उनसे अभी अधिक कुछ बात नहीं हो पाई है। उम्मीद है कि भविष्य में मुझे उनसे बात करने के और अच्छे मौक़े मिलेंगे।"
"यह समझ पाना मुश्किल नहीं है कि उनका इतना सम्मान क्यों किया जाता है। वह एक सख़्त कोच के साथ-साथ ऐसे व्यक्ति हैं, जो ज़रूरत पड़ने पर आपके कंधे पर हाथ भी रख दें। उनका रिकॉर्ड बोलता है। अगर मैं उनके अनुभवों से सीखता हूं, तो यह मेरे और टीम के लिए फ़ायदेमंद होगा।"
रथ के अब तक के क्रिकेटिंग करियर को "खानाबदोश करियर" भी कहा जा सकता है। उन्होंने स्कूली क्रिकेट इंग्लैंड में खेला, जहां के एक बोर्डिंग स्कूल में वह छात्र थे। लेकिन आईसीसी के आव्रजन नियमों के कारण वह इंग्लैंड के लिए उच्च स्तर पर नहीं खेल सकते थे, इसलिए वह अपने माता-पिता के साथ 14 साल की उम्र में हॉन्ग कॉन्ग चले गए।
रथ ने हॉन्ग कॉन्ग के लिए 18 वनडे और 20 टी20 मैच खेले हैं। उन्होंने 2018 के एशिया कप में टीम का नेतृत्व किया था। जहां टीम भारत पर लगभग उलटफेर किया। उसी साल नामीबिया में हुए विश्व कप लीग डिवीजन 2 में अंतिम स्थान हासिल करने के बाद हॉन्ग कॉन्ग ने अपना वन डे दर्जा गंवा दिया। हालांकि रथ इस टूर्नामेंट में सबसे अधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज़ थे। इसके बाद रथ ने हॉन्ग कॉन्ग से आगे बढ़ने का फ़ैसला किया।

शशांक किशोर ESPNcricinfo में सीनियर सब एडिटर हैं, अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के दया सागर ने किया है