मैच (17)
IPL (3)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
ACC Premier Cup (4)
Women's Tri-Series (1)
फ़ीचर्स

मिलिए भारत के सबसे तेज़ गेंदबाज़ उमरान ​मलिक से

17 साल की उम्र तक क्रिकेट गेंद से नहीं खेले, अब आईपीएल में भारत के सबसे तेज़ गेंदबाज़ और टीम इंडिया के नेट बॉलर

मोहसिन कमाल
02-Nov-2021
आईपीएल इतिहास में सबसे तेज गेंद डालने वाले गेंदबाज बने थे उमरान मलिक  •  Sahil Magotra/JKCA video analyst

आईपीएल इतिहास में सबसे तेज गेंद डालने वाले गेंदबाज बने थे उमरान मलिक  •  Sahil Magotra/JKCA video analyst

उमरान मलिक ने 2018 में अपने इंस्टाग्राम बायो में लिखा, "जल्द ही भारत"। वह तब 18 साल के थे और जम्मू-कश्मीर अंडर -19 टीम का हिस्सा थे। उन्होंने एक साल पहले ही लेदर-बॉल क्रिकेट खेलना शुरू किया था। अभ्यास सत्र में अपनी गेंदबाज़ी से उन्होंने भारत के अंडर-19 चयनकर्ताओं को स्तब्ध कर दिया था।
मलिक कहते हैं, "चयनकर्ता वैष्णो देवी मंदिर के दर्शन करने आए थे। उन्होंने मुझे सीमेंट के विकेट पर नेट्स में गेंदबाज़ी करते देखा और पूछा, "तुम कौन हो? तुम इतनी तेज़ गेंदबाज़ी कर रहे हो! तुम मैच क्यों नहीं खेलते हो?"
इसके बाद चयनकर्ताओं ने जम्मू-कश्मीर के अंडर-19 कोच से संपर्क किया और उन्हें मलिक को मैच में खिलाने की सलाह दी। यह पहली बार था जब मलिक को अहसास हुआ कि वह कुछ बड़ा कर सकते हैं।
पिछले महीने मलिक 21 साल के हो चुके हैं। वह आईपीएल में खेलने वाले जम्मू-कश्मीर के केवल चौथे क्रिकेटर हैं। जैसे ही वह अपने शुरुआती मैच में गेंदबाजी करने के लिए दौड़े, उनकी हर गेंद पर सभी की नज़रें स्पीडोमीटर पर थी। उन्होंने अपने स्पेल में कई बार 150 किमी प्रति घंटा की रफ़्तार पकड़ी। अपने दूसरे मैच में उन्होंने 152.95 किमी प्रति घंटा की गति से सबसे तेज़ गेंद फ़ेंकी, जो कि टूर्नामेंट के इतिहास में एक भारतीय तेज़ गेंदबाज़ का रिकॉर्ड है।
जम्मू के गुर्जर नगर में एक ग़रीब परिवार से ताल्लुक रखने वाले मलिक ने छोटी उम्र में ही क्रिकेट खेलना शुरू कर दिया था। उनके पिता अब्दुल राशिद शहीदी चौक में एक फल-विक्रेता थे। उनकी मां और दो बड़ी बहनें भी उनकी जुनून की समर्थक थीं।
राशिद कहते हैं, "दिन में स्कूल में खेलने के बाद वह बैग घर पर ही छोड़ देता था और शाम को भी क्रिकेट खेलने जाता था। मैं उससे कहता था क्रिकेट खेलो लेकिन पढ़ाई पर भी थोड़ा ध्यान दो। मैंने उसके लिए क्रिकेट के सामान या अन्य चीजें ख़रीदने से कभी इनकार नहीं किया।"
मलिक के लंबे, स्थिर, सटीक और विस्फोटक छलांग वाली रन-अप की वजह से कमेंटेटरों और प्रशंसकों ने उनके एक्शन की तुलना वकार यूनुस से की। मलिक ने कहा, "मैं शुरू से ही तेज़ गेंदबाज़ी करता था। मेरे पास अपना प्राकृतिक एक्शन था, मैंने किसी से कॉपी नहीं किया।"
सत्रह साल की उम्र में वह गली क्रिकेट से बाहर निकल गए और जम्मू के आसपास प्रतिस्पर्धी टेनिस-बॉल टूर्नामेंट में खेलने लगे। मैच आमतौर पर शाम को होते थे और बड़ी भीड़ उमड़ती थी। बल्लेबाज़ इस खेल को पसंद करते थे, दस ओवर की पारी और छोटी बाउंड्री। लेकिन मलिक की गति ने अक्सर सुर्खियां बंटोरी
मलिक के क्रिकेट सफ़र को करीब से देखने वाले जम्मू-कश्मीर के क्रिकेटर रमन थपलू कहते हैं, "हर टीम उन्हें अपने साथ चाहती थी।"
टेनिस-बॉल क्रिकेट में उनकी बढ़ती लोकप्रियता ने उन्हें लेदर-बॉल क्रिकेट को आज़माने के लिए प्रेरित किया। 2017 में क्रिकेट की गेंद के साथ अपने पहले स्थानीय मैच में उन्होंने कुछ बड़े छक्के लगाए और तेज़ गेंदबाज़ी की।
जैसे-जैसे वह लोकप्रिय हुए, उन्हें 'गजनी' उपनाम मिला। बॉलीवुड फिल्म गजनी में आमिर खान के चरित्र की तरह ही उनके पास कटे हुए छोटे बाल और एक मजबूत शरीर था। थपलू याद करते हुए कहते हैं, "लोग कहते थे, गजनी बड़े छक्के मारता है, गजनी गेंदबाज़ी बड़ी तेज़ करता है।"
जल्द ही मलिक के दोस्तों ने सुझाव दिया कि वह अपने कौशल में सुधार के लिए कोच के पास जाए। उन्होंने एमए स्टेडियम की ओर रूख़ किया, जहां एक स्थानीय कोच रणधीर सिंह मन्हास युवा क्रिकेटरों को प्रशिक्षित करते हैं। मन्हास ने कहा, "मुझे याद है कि वह सुबह का सत्र था और हमेशा की तरह मेरे पास गेंदबाज़ कम थे। जब वह मेरे पास आया, तो मैंने कहा, 'ठीक है, तुम भी गेंदबाज़ी कर सकते हो।"
मन्हास ने कहा, "मलिक ने अभी कुछ गेंदें फ़ेंकी थीं, जब जम्मू-कश्मीर के एक वरिष्ठ क्रिकेटर राम दयाल अंदर आए। वह नेट्स पर रूके और कुछ देर तक देखते रहे। दयाल ने पूछा, यह लड़का कौन है? उसके पास कच्ची प्रतिभा है और वह 135 से 140 किमी प्रतिघंटा के आसपास गेंदबाज़ी कर रहा है।"
मन्हास ने अपने नए शिष्य को प्रतिदिन स्टेडियम आने के लिए कहा। मलिक के पास बहुत कुछ था, लेकिन मन्हास ने कुछ चीज़ों पर काम किया। मन्हास ने कहा, "वह एक स्वाभाविक प्रतिभा थी। आमतौर पर कॉस्को [टेनिस-बॉल] पृष्ठभूमि वाले खिलाड़ी हवा के माध्यम से तेज़ गेंद डालते हैं। उनकी छलांग और लैंडिंग सही नहीं थी, इसलिए मैंने उनके साथ इस पर काम किया। बाद में जब इरफान पठान यहां [जम्मू-कश्मीर मेंटॉर के रूप में] आए, तो उन्होंने भी उनकी थोड़ी मदद की।"
उस मैदान पर अभ्यास करने वाला एक अन्य खिलाड़ी अब्दुल समद था, जो मलिक से छोटा था, लेकिन एक अधिक अनुभवी क्रिकेटर था, क्योंकि वह मलिक से पहले जम्मू-कश्मीर और सनराइज़र्स हैदराबाद के लिए खेल चुका था। दोनों रोजाना साथ में ट्रेनिंग करने लगे। मलिक कहते हैं, "मैं समद को पहले से जानता था लेकिन 2018 से हम सबसे अच्छे दोस्त बन गए। अब हम दोस्त से अधिक भाई हैं।"
मलिक का करियर अभी भी पटरी पर नहीं था। जब वह जम्मू-कश्मीर अंडर-19 ट्रायल के लिए गए, तो वह हैरान रह गए। उन्हें बताया गया कि वह जिला स्तर पर नहीं खेले हैं, इसीलिए ट्रायल में नहीं लिए जा सकते हैं।"
उन्होंने अगले दिन फिर से आने का फैसला किया। उन्होंने कहा, "मैं नेट्स पर गया और जैसा कि उन्हें नहीं पता था कि मैंने जिला स्तर पर खेला हूं या नहीं, मैंने गेंदबाज़ी शुरू की। मैंने सिर्फ़ एक गेंद फ़ेंकी और चयनकर्ता मेरे पास आए और कहा, 'आप टीम में होंगे, चिंता मत करो। बस अपने आप को तैयार रखें।'
थपलू याद करते हुए कहते हैं, "उन्होंने अपना पहला मैच यहां जम्मू में खेला था, जब उसने पहली ही गेंद फ़ेंकी, तो वह टप्पा खाने के बाद कीपर के सिर के ऊपर से निकल गई। अंपायर दंग रह गए। उन्होंने उससे पूछा कि क्या उसने पहले कोई राष्ट्रीय मैच खेला है।"
अगले वर्ष, मलिक को अंडर-23 ट्रायल में ख़ारिज कर दिया गया था। फरवरी 2020 में, समद, जो अब जम्मू-कश्मीर रणजी ट्रॉफी टीम का हिस्सा है, मलिक के मामले की पैरवी करने के लिए जम्मू-कश्मीर अंडर-23 टीम के कोच से मिले। 2020 के आईपीएल के लिए सनराइज़र्स हैदराबाद द्वारा चुने जाने के बाद यह समद ही थे, जिन्होंने फ्रेंचाइज़ी को नेट गेंदबाज़ के रूप में मलिक का नाम सुझाया था। मलिक कहते हैं, "मैंने समद को अपना वीडियो उन्हें भेजने के लिए कहा था।"
जल्द ही मलिक सनराइज़र्स के दल में आ गए, उन्होंने अपनी गति से बेहतरीन बल्लेबाज़ों को चौंका दिया। एक मौक़े पर केदार जाधव ने उनसे पूछा कि वे टीम में हैं या नेट बॉलर। थपलू गर्व से दूसरे पल को याद करते हुए कहते हैं, "वह नेट्स में जॉनी बेयरस्टो को बहुत तेज़ गेंदबाज़ी कर रहे थे और उन्होंने मलिक को थोड़ी धीमी गति से गेंदबाज़ी करने के लिए कहा। मलिक अंग्रेजी को ज़्यादा नहीं समझता है, उन्होंने तेज़ गेंदबाज़ी जारी रखी। फिर सनराइज़र्स के खेमे से कोई उनके पास आया और कहा, 'वह तुम्हें थोड़ी धीमी गेंदबाज़ करने के लिए कह रहे हैं, तुम बहुत तेज़ गेंदबाज़ी कर रहे हो।"
2020 के आईपीएल में नेट गेंदबाज़ के रूप में मलिक के प्रभावशाली प्रदर्शन ने फ्रेंचाइज़ी को 2021 में उनके साथ बने रहने के लिए प्रेरित किया। इस साल सितंबर में टूर्नामेंट के दूसरे चरण के दौरान उन्हें राज्य क्रिकेट संघ से एक कॉल आया, जिसमें उन्हें सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफ़ी ट्रायल के लिए जम्मू में रिपोर्ट करने के लिए कहा गया। लेकिन उन्हें टी नटराजन की जगह सनराइज़र्स हैदराबाद की टीम में जगह मिल गई, जिन्हें कोविड 19 पॉज़िटिव पाया गया था।
मलिक कहते हैं, "अल्लाह का शुक्र है, मुझे टीम में शामिल किया गया, नहीं तो मुझे अगले दिन वापस जाना पड़ता। यह एक अद्भुत अहसास था।"
एक बार जब सनराइज़र्स प्लेऑफ़ की दौड़ से बाहर हो गई, तो उसने मलिक को कोलकाता नाइट राइडर्स के ख़िलाफ़ प्लेइंग इलेवन में मौक़ा दिया। उन्होंने सिर्फ़ तीन गेंदें फेंकी थीं जब क्रिकेट जगत ने पूछना शुरू किया, यह लड़का कौन है?
मलिक ने अपने पहले ही ओवर में 150 किमी प्रति घंटा और मैच में एक दो बार इसके क़रीब गेंद की। वह उस समय तक नहीं जानते थे कि वह इतनी गति से गेंदबाज़ी कर रहे हैं।
उन्होंने कहा, "मैंने सोचा था कि मैं लगभग 140-145 किमी प्रति घंटा अधिकतम गेंदबाज़ी कर सकता हूं। मैंने आईपीएल में खेलने से पहले अपनी गति की जांच नहीं की थी। आईपीएल में पदार्पण करना और पहले मैच में अच्छा प्रदर्शन करना मेरे जीवन का सबसे ख़ास पल था।"
अगले मैच में, रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के ख़िलाफ़, मलिक ने आईपीएल 2021 की दूसरी सबसे तेज़ गेंद - 152.95 किमी प्रति घंटा की गेंदबाज़ी की। मैच के बाद विराट कोहली ने युवा खिलाड़ी की तारीफ़ की और कहा, "जब भी आप इस तरह की प्रतिभा देखते हैं, तो आपकी नज़र उन पर होगी और सुनिश्चित करें कि आप उनकी क्षमता को बढ़ाते रहें।"
आईपीएल में उनके प्रदर्शन को देखते हुए उन्हें टी20 विश्व कप के लिए नेट बॉलर के रूप में भारतीय दल में शामिल किया गया था। गति उनका प्रमुख हथियार है, वह दायें हाथ के बल्लेबाज़ों को आउट स्विंग करा सकते हैं, बाउंसर वह पसंद करते हैं। वह अपने कौशल में सुधार करने के लिए काम कर रहे हैं और अपने यॉर्कर पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं।

मोहसिन कमाल संवाददाता हैं और क्रिकेट प्रेमी हैं। अनुवाद ESPNcricinfo में सीनियर सब एडिटर निखिल शर्मा ने किया है।