मैच (13)
AFG v IRE (1)
NZ v AUS (1)
विश्व कप लीग 2 (1)
Nepal Tri-Nation (1)
BPL 2023 (1)
WPL (1)
Sheffield Shield (3)
QAT v HKG (1)
CWC Play-off (3)
ख़बरें

रावलपिंडी में ही खेला जाएगा पहला पाकिस्तान इंग्लैंड टेस्ट

मौजूदा राजनीतिक परिस्थितियों को देखते हुए मैच के रावलपिंडी के बजाय कराची में आयोजित होने की संभावना थी

Dark clouds and floodlights take over the Rawalpindi Cricket Stadium  •  PCB

Dark clouds and floodlights take over the Rawalpindi Cricket Stadium  •  PCB

पाकिस्तान में 17 वर्षों में इंग्लैंड का पहला टेस्ट मैच निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार रावलपिंडी में ही खेला जाएगा। पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान ख़ान द्वारा मौजूदा सरकार के विरुद्ध प्रस्तावित मार्च को देखते हुए टेस्ट मैच के रावलपिंडी के बजाय कराची में आयोजित होने की संभावना जताई जा रही थी। हालांकि पीसीबी इस बात को लेकर आश्वस्त है कि टेस्ट मुक़ाबलों का आयोजन अपने निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार किया जा सकता है। इसका मतलब है कि कराची में समाप्त होने वाली तीन टेस्ट मैचों की श्रृंखला की शुरुआत 1 दिसंबर से रावलपिंडी में होगी, इसके बाद मुल्तान में दोनों टीमों का आमना-सामना होगा।
इंग्लैंड ने परिस्थितियों पर लगातार अपनी निगरानी बनाई हुई है। हाल ही में ईसीबी के सलाहकार टेस्ट दौरा का जायज़ा लेने के लिए पाकिस्तान आए थे।
रावलपिंडी में पाकिस्तानी थल सेना का मुख्यालय है और यह शहर राजधानी इस्लामाबाद से सटा हुआ है। दो सप्ताह पहले इमरान पर हुए जानलेवा हमले के बाद से ही इस शहर में लगातार प्रदर्शन किए जा रहे हैं। दाएं पैर में गोली लगने से घायल हुए इमरान अब अपनी पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ़ के साथ देश में आम चुनाव कराने की मांग को लेकर राजधानी में एक बड़ा मार्च निकालने की तैयारी कर रहे हैं।
पिछले सप्ताह लोगों द्वारा किए गए प्रदर्शन के बीच क़ायद-ए-आज़म ट्रॉफ़ी के एक मुक़ाबले को रद्द करना पड़ा था। सिंध और ख़ायबर पख़्तूनख़्वा की टीमें होटल से स्टेडियम तक का सफ़र तय करने में असमर्थ थीं, जिसके कारण पहले मैच के शुरू होने में देरी हुई और अंततः दोनों टीमों को पांच-पांच अंक देकर मुक़ाबले को रद्द करना पड़ा। अब इस प्रतिस्पर्धा के मुक़ाबले कराची, लाहौर और एबटाबाद में आयोजित किए जा रहे हैं, वहीं रावलपिंडी में कोई मुक़ाबला नहीं खेला जाएगा।
लॉन्ग मार्च के समय को लेकर अभी भी असमंजस की स्थिति बरकरार है। मार्च की टाइमलाइन को लेकर इस समय स्पष्टता नहीं है लेकिन इसकी समाप्ति इस्लामाबाद में होनी है। शुक्रवार को इमरान ने अपनी पार्टी के समर्थकों को बताया कि वह शनिवार को बताएंगे कि मार्च इस्लामाबाद कब पहुंचेगा। चोटिल होने के कारण वह मार्च का हिस्सा नहीं हैं लेकिन वह मार्च के रावलपिंडी में प्रवेश करने के बाद उससे जुड़ जाएंगे। 'द टेलीग्राफ़' को दिए अपने एक साक्षात्कार में उन्होंने बताया कि यदि सुप्रीम कोर्ट को कार्रवाई नहीं करता है तो ऐसी स्थिति में उनके ऊपर एक और हमला होने की आशंका है।
26 नवंबर को पाकिस्तान के लिए उड़ान भरने से पहले इंग्लैंड एक सप्ताह अबू धाबी में बिताएगा।