मैच (15)
आईपीएल (1)
T20WC Warm-up (3)
County DIV1 (3)
County DIV2 (4)
CE Cup (3)
WI vs SA (1)
ख़बरें

जब आप आख़िरी गेंदों के लिए मुक़ाबला छोड़ेंगे तो फिर ये लॉटरी बन जाता है : कुंबले

पंजाब किंग्स के प्रमुख कोच अनिल कुंबले ने कहा कि इस मैच को 19वें ओवर में ही जीत लेना चाहिए था

पंजाब किंग्स के प्रमुख कोच अनिल कुंबले अपनी टीम की हार से निराश भी थे और हताश भी, इस हार पर ऐसा लगा कि कुछ कहने के लिए उनके पास शब्द ही नहीं हैं। पंजाब एक जीता हुआ मुक़ाबला हार गई, उन्हें आख़िरी दो ओवर में आठ रन चाहिए थे और वह वहां से राजस्थान रॉयल्स से हार गए जबकि आठ विकेट हाथ में थे। इस हार के बाद उनके अंतिम-4 में क्वालीफ़ाई करने की उम्मीदों को भी तगड़ा झटका लगा है। पंजाब की ये नौ मैचों में छठी हार थी यानी अब उन्हें प्ले-ऑफ़ में सीधे तौर पर जगह बनानी है तो फिर उन्हें हर मैच जीतना ज़रूरी है।
"ऐसा लगता है मानो इस तरह से हारना हमारी आदत में शुमार होता जा रहा है, ख़ास तौर से तब जब हम यूएई में खेलते हैं। बिल्कुल साफ़ था कि हमें 19वें ओवर तक मैच जीत जाना है, हमें बिल्कुल भी मैच को अंत तक नहीं ले जाना था। लेकिन बदक़िस्मती से जब आप आख़िरी दो गेंदो तक मुक़ाबला ले जाते हैं तो फिर ये लॉटरी बन जाता है। हालांकि इसका श्रेय कार्तिक त्यागी को जाता है, जिन्होंने शानदार गेंदबाज़ी की।"
अनिल कुंबले, प्रमुख कोच, पंजाब किंग्स
ये हार ठीक उसी तरह की थी जिस तरह अबू धाबी में पिछले साल कोलकाता नाइट राइडर्स से पंजाब हारी थी । उस मैच में भी पंजाब को जीत के लिए 18 गेंदों पर 22 रन बनाने थे और हाथ में नौ विकेट थे। उस स्थिति से भी पंजाब वह मैच हार गई थी, और ठीक ऐसा ही इस मैच में राजस्थान के ख़िलाफ़ हुआ।
कुंबले अपने बल्लेबाज़ों से बेहद नाख़ुश दिखाई दिए, ख़ास तौर से जब वे आख़िरी ओवर में त्यागी के ख़िलाफ़ खेलते हुए नज़र आए।
"ये बिल्कुल साफ़ था कि त्यागी ऑफ़ स्टंप के बाहर गेंदबाज़ी करेंगे, और हमारे बल्लेबाज़ों ने इस रणनीति को नहीं समझ पाए। हमें इसपर बैठकर बात करना होगा और इसका हल निकालना होगा, हमें लीग स्टेज में पांच मैच और खेलने हैं। इस हार को हमें भुलाना होगा, हालांकि इसे भूलना मुश्किल है लेकिन इससे पार पाना ही होगा।"
जब कुंबले से ये पूछा गया कि क्या राजस्थान ने उनके सामने बहुत ज़्यादा रनों की चुनौती दे दी थी, तो कुंबले ने कहा कि नहीं उनके गेंदबाज़ो ने उस अच्छी पिच पर शानदार गेंदबाज़ी की। "ये एक अच्छी विकेट थी, आख़िरी चार ओवर में हमने शानदार वापसी की। इस दौरान हमने महज़ 20 रन दिए और छ: विकेट झटके। अर्शदीप ने कमाल की गेंदबाज़ी की, शमी ने भी लाजवाब प्रदर्शन किया और इस पिच पर हरप्रीत का प्रदर्शन भी अच्छा रहा। एक समय लग रहा था कि राजस्थान आराम से 200-210 रन बना लेंगे लेकिन हमारे गेंदबाज़ों ने अच्छी वापसी कराई। हमारे बल्लेबाज़ों ने भी 17वें ओवर तक शानदार बल्लेबाज़ी की थी।"

शशांक किशोर ESPNcricinfo में सीनियर सब-एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के मल्टीमीडिया जर्नलिस्ट सैयद हुसैन (@imsyedhussain) ने किया है।