मैच (9)
SL v AFG (1)
PSL 2024 (3)
NZ v AUS (1)
विश्व कप लीग 2 (1)
CWC Play-off (3)
ख़बरें

रोहित : आईपीएल में खिलाड़ियों का वर्कलोड मैनेजमेंट फ़्रैंचाइज़ियों पर निर्भर है

भारतीय टीम प्रबंधन ने इस संबंध में आईपीएल टीमों को कुछ निर्देश दिए हैं

'खिलाड़ी अपने फ़्रैंचाइज़ी से कभी भी ब्रेक मांग सकते हैं'  •  Associated Press

'खिलाड़ी अपने फ़्रैंचाइज़ी से कभी भी ब्रेक मांग सकते हैं'  •  Associated Press

भारतीय टीम प्रबंधन ने आईपीएल फ़्रैंचाइज़ियों को भारतीय खिलाड़ियों का वर्कलोड मैनेजमेंट करने के लिए कहा है। हालांकि भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने यह भी संदेह जताया है कि इसे किसी आईपीएल टीम द्वारा माना जाएगा।
उन्होंने कहा, "यह अब फ़्रैंचाइज़ियों पर निर्भर है, क्योंकि अब फ़्रैंचाइज़ी ही खिलाड़ियों के मालिक हैं। हमने फ़्रैंचाइज़ियों को इस बारे में संकेत दे दिए हैं। यह अब खिलाड़ियों पर भी निर्भर है। वे व्यस्क हैं और उन्हें अपने शरीर का देखभाल ख़ुद करना है। अगर उन्हें लगता है कि कुछ ज़्यादा हो रहा है तो वे बात करके एक या दो मैचों का ब्रेक ले सकते हैं। हालांकि मुझे नहीं लगता है कि ऐसा कुछ होगा।"
आईपीएल, भारत-ऑस्ट्रेलिया वनडे सीरीज़ के दस दिन के भीतर ही शुरू हो रहा है, वहीं आईपीएल फ़ाइनल के एक सप्ताह के भीतर ही भारत को विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) का फ़ाइनल खेलना है। भारत के कई प्रमुख खिलाड़ी मसलन श्रेयस अय्यर, जसप्रीत बुमराह, प्रसिद्ध कृष्णा और ऋषभ पंत अभी चोटिल हैं और वे आंशिक या पूर्ण रूप से आईपीएल से बाहर हो चुके हैं। आगामी होने वाले वनडे विश्व कप को देखते हुए यह अच्छे संकेत नहीं कहे जा सकते हैं।
रोहित भी इस बारे में चिंतित हैं। उन्होंने कहा, "हां, यह चिंताजनक है। हमारे पास ऐसे खिलाड़ी नहीं हैं, जो हमारे अंतिम एकादश का नियमित हिस्सा होते हैं। हालांकि वे जल्द फ़िट होने की कोशिश भी कर रहे हैं। हमारा भी ध्यान खिलाड़ियों के प्रबंधन पर है, इसलिए कई बार आप देखते हैं कि खिलाड़ियों को आराम दिया जाता है। जब आप अधिक क्रिकेट खेलते हैं, तो चोट होना लाज़िमी है। इसलिए आप सभी चीज़ों को नियंत्रित नही कर सकते हैं, जो आपके हाथ में है, उसे ही नियंत्रित किया जा सकता है।"
रोहित ने आगे कहा, "खिलाड़ी भी इससे निराश हैं। वे लगातार खेलना चाहते हैं, बाहर नहीं बैठे रहना चाहते हैं। यह दुःखद भी है कि आप इसमें अधिक कुछ नहीं कर सकते हैं। श्रेयस का उदाहरण सबके सामने है। वह दिन भर बैठा था और शाम को थोड़ा सा नॉक करने गया था, इसी में ही उसको इंज़री हो गई। आप इसमें ज़्यादा कुछ कर भी नहीं सकते हो। हां, अब खिलाड़ियों का वर्कलोड मैनेजमेंट कर उन्हें पर्याप्त आराम दे सकते हो और हम ऐसा कर रहे हैं।"

देवरायण मुथु ESPNcricinfo में सब एडिटर हैं