फ़ीचर्स

रेटिंग्स : भारत की हार में हरफ़नमौला हार्दिक ने किया प्रभावित

सूर्यकुमार यादव लगातार तीसरी बार शून्य के स्कोर पर आउट हुए

Suryakumar Yadav was dismissed for his third-straight golden duck, India vs Australia, 3rd ODI, Chennai, March 22, 2023

मध्य क्रम भारतीय टीम के लिए चिंता का सबब बना हुआ है  •  Getty Images

चेन्नई में खेले गए तीसरे मुक़ाबले में भारतीय टीम को ऑस्ट्रेलिया के हाथों 21 रनों की हार झेलनी पड़ी। इस हार ने गहरे घाव इसलिए छोड़े हैं क्योंकि भारत सिर्फ़ यह मुक़ाबला ही नहीं हारा है बल्कि उसे ऑस्ट्रेलिया के हाथों अपने ही घर में सीरीज़ गंवानी पड़ी है।
क्या सही क्या ग़लत?
पिछले मैच से अगर तुलना करें तो भारतीय टीम के टॉप ऑर्डर का रंग में आना अच्छे संकेत लेकर आया। गेंदबाज़ों ने भी अपना काम बखूबी निभाया और एक अच्छी शुरुआत के बावजूद ऑस्ट्रेलिया को बड़ा स्कोर बनाने से रोक दिया।
मध्य क्रम पूरी सीरीज़ में टीम इंडिया के लिए चिंता का सबब बना रहा। सूर्यकुमार यादव लगातार तीसरी बार शून्य पर आउट हो गए। इसके पीछे वजह उनकी ख़राब फ़ॉर्म है या यह एकमात्र संयोग भर है, इस पर सोचने की ज़रूरत है। हालांकि अच्छी शुरुआत मिलने के बाद टॉप ऑर्डर के बल्लेबाज़ों को थोड़ी अधिक ज़िम्मेदारी के साथ बल्लेबाज़ी करनी चाहिए थी जिसमें वे नाकाम रहे।
रेटिंग्स, (1 से 10, 10 सर्वाधिक)
रोहित शर्मा, 7 - जब रोहित शर्मा बल्लेबाज़ी के लिए आए तब उनके ऊपर टीम को एक ठोस शुरुआत दिलाने की ज़िम्मेदारी थी। उम्मीदों के अनुरूप रोहित ने अच्छी शुरुआत दिलवाई भी लेकिन अपना पसंदीदा पुल शॉट खेलने के चक्कर में के डीप स्क्वायर लेग पर कैच थमा बैठे। उनके पास एक लंबी पारी खेलने का अच्छा मौक़ा था।
शुभमन गिल, 6.5 - रोहित के जोड़ीदार शुभमन गिल ने भी दूसरे छोर से कुछ अच्छे शॉट्स लगाए। हालांकि वह भी रोहित की ही तरह एक अच्छी शुरुआत को बड़ी पारी में तब्दील नहीं कर पाए। फ़ील्डिंग में भी गिल ने अक्षर की गेंद पर 37वें ओवर में लॉन्ग ऑन पर कैच ज़रूर लपका लेकिन इसके साथ ही उन्होंने ट्रैविस हेड का एक कैच टपकाया भी।
विराट कोहली, 7 - इस मैच में विराट कोहली अपनी पहचान के अनुरूप अपने अर्धशतक को शतक में भले ही बदल नहीं पाए लेकिन उनका यह अर्धशतक इस मैच में हार्दिक के हरफ़नमौला खेल से कहीं भी कमतर नहीं है। यदि कोहली ने एक छोर नहीं संभाला होता तो शायद भारत के लिए यह रन चेज़ और कठिन हो सकता था।
केएल राहुल, 6.5 - केएल राहुल ने अधिकांश समय तक आज विकेटों के पीछे कीपिंग नहीं की। हालांकि बल्लेबाज़ी में उन्होंने विराट कोहली का भरपूर साथ दिया। हालांकि जैसे ही उन्होंने तेज़ी से रन बटोरने का प्रयास किया, वह आउट हो गए।
अक्षर पटेल, 6 - अक्षर पटेल को सूर्यकुमार यादव से पहले प्रमोट किया गया लेकिन वह कप्तान की उम्मीदों पर खरे नहीं उतर पाए। उनका दुर्भाग्यपूर्ण तरीक़े से रन आउट भारत को काफ़ी भारी पड़ा। गेंदबाज़ी में अक्षर ने थोड़े महंगे ज़रूर साबित हुए लेकिन उन्होंने ऐश्टन एगार और मार्कस स्टॉयनिस जैसे सेट बल्लेबाज़ों के विकेट भी झटके।
हार्दिक पंड्या, 8 - हार्दिक पंड्या ने आज दोनों ही क्षेत्रों में कमाल का खेल दिखाया। गेंदबाज़ी में ऑस्ट्रेलिया को पहले तीन झटके तो दिए ही, साथ ही उन्होंने डेविड वॉर्नर का एक बढ़िया कैच भी लपका। बल्लेबाज़ी की शुरुआत तो उन्होंने ताबड़तोड़ अंदाज़ में की। लेकिन पहले कोहली और फिर उसके अगले ही गेंद पर सूर्यकुमार के आउट होने ने उनकी रफ़्तार पर हल्की ब्रेक लगा दी। 44वें ओवर में वह एक बड़ा शॉट लगाने के चक्कर में कैच आउट हो गए।
सूर्यकुमार यादव, 3 - इस सीरीज़ में लगातार तीसरी बार सूर्यकुमार गोल्डन डक का शिकार हुए। सूर्यकुमार के विकेट ने भारत बैकफ़ुट पर जाने के लिए मज़बूर कर दिया। हालांकि क्या सूर्यकुमार की इस शून्य की हैट्रिक में टीम मैनेजमेंट द्वारा उन्हें देर से बैटिंग के लिए भेजे जाने का भी एगार की गेंद जितना ही योगदान है, यह विमर्श का विषय है।
रवींद्र जाडेजा, 6.5 - रवींद्र जाडेजा को भले ही गेंदबाज़ी में एक भी विकेट हासिल नहीं हुआ लेकिन उनकी किफ़ायती गेंदबाज़ी ने अन्य गेंदबाज़ों के लिए स्टेज सेट किया। जाडेजा ने फ़ील्ड में दो महत्वपूर्ण कैच भी लपके। हार्दिक के आउट होते ही वह मैदान पर अकेले पड़ गए और बढ़ते आवश्यक रन रेट के बीच वह भी जल्द ही अपना विकेट गंवा बैठे।
कुलदीप यादव, 7 - गेंदबाज़ी में कुलदीप यादव ने एक बार फिर अपनी फिरकी से सभी को प्रभावित किया। उन्होंने ज़रूरी अवसरों पर तीन अहम विकेट झटके। कुलदीप जब बल्लेबाज़ी करने आए तो मैच नाज़ुक मोड़ में प्रवेश कर चुका था और एक बल्लेबाज़ के तौर पर उनसे ज़्यादा उम्मीद नहीं की जा सकती।
मोहम्मद शमी, 6 - बुधवार का दिन मोहम्मद शमी के लिए अच्छा नहीं रहा। गेंदबाज़ी में उन्हें एक भी विकेट हासिल नहीं हुआ। हालांकि बुधवार की शाम बल्लेबाज़ी में उन्होंने कुछ अच्छे शॉट्स ज़रूर खेले लेकिन तब तक भारतीय टीम की जीत की उम्मीदें लगभग दम तोड़ चुकी थीं।
मोहम्मद सिराज, 6 - सिराज और शमी दोनों ही पहले दस ओवर में भारत को कोई सफलता नहीं दिला पाए। हालांकि बाद में सिराज ने एगार और स्टार्क के दो विकेट ज़रूर झटक लिए अन्यथा ऑस्टेलियाई टीम और बड़ा स्कोर खड़ा कर सकती थी।