मैच (5)
T20 वर्ल्ड कप (2)
CE Cup (3)
फ़ीचर्स

SRH vs LSG मैच रिपोर्ट कार्ड : पूरन-मांकड़ की बल्‍लेबाज़ी पड़ी हैदराबाद की रणनीति पर भारी

जानिए हैदराबाद बनाम लखनऊ मुक़ाबले में किस टीम को मिले कितने ग्रेड

Prerak Mankad and Nicholas Pooran celebrate after completing the job, Sunrisers Hyderabad vs Lucknow Super Giants, IPL 2023, Hyderabad, May 13, 2023

जीत के बाद जश्‍न मनाते प्रेरक मांकड़ और निकोलस पूरन  •  AFP/Getty Images

लखनऊ सुपर जायंट्स को इस मैच में जीत की बहुत दरक़ार थी। लखनऊ की शुरुआती बल्‍लेबाज़ी को देखकर तो यह बिल्‍कुल मुश्किल लग रहा था लेकिन जिस तरह से निकोलस पूरन और प्रेरक मांकड़ ने बल्‍लेबाज़ी की उससे उन्‍हें जीत मिली और सनराइज़र्स हैदराबाद को निराशा। तो चलिए देखते हैं कि किस टीम ने किस क्षेत्र में कितने ग्रेड पाए हैं।

बल्लेबाज़ी

हैदराबाद (A+) - हैदराबाद ने अभिषेक शर्मा के रूप में अपना एक विकेट जल्‍दी तो गंवाया लेकिन उसके बाद उनके सभी बल्‍लेबाज़ों ने कमाल की बल्‍लेबाज़ी की। अनमोलप्रीत सिंह ने मूमेंटम दिया तो इसके बाद हेनरिक क्‍लासेन और अब्‍दुल समद ने मिलकर एक बेहतरीन साझेदारी की और ख़ासकर स्पिनरों को निशाना बनाया। यही वजह रही कि हैदराबाद इतने बड़े स्‍कोर तक पहुंच गई।
लखनऊ (A++) - लखनऊ की इस मैच में बल्‍लेबाज़ी शानदार रही है। शुरुआत में ओपनर लड़खड़ा रहे थे लेकिन जिस तरह से उन्‍होंने प्रेरक मांकड़ का तीसरे नंबर पर इस्‍तेमाल किया मैच बदलने लगा था। इसके बाद मार्कस स्‍टॉयनिस भी मांकड़ का सही साथ दे रहे थे लेकिन जैसे ही वह आउट हुए निकोलस पूरन ने पूरी तरह से मैच लखनऊ की झोली में डाल द‍िया। मांकड़ ने अच्‍छी एंकर की भूमिका निभाई और अर्धशतक बनाकर नाबाद लौटे।

गेंदबाज़ी

लखनऊ (B) - लखनऊ के पास गेंदबाज़ी के इतने विकल्‍प हैं कि कई बार वह अपने मुख्‍य गेंदबाज़ों को बैक नहीं कर पाते हैं। चाहे वह रवि बिश्‍नोई हों या फ‍िर आवेश ख़ान। इन दोनों को ही उनके कोटे के पूरे ओवर नहीं कराए गए। हालांकि केवल दो गेंद के अंदर क्रुणाल पंड्या ने मैच पलट दिया था, क्‍योंकि उस समय ऐडन मारक्रम अच्‍छी बल्‍लेबाज़ी कर रहे थे तो ग्‍लेन फ़‍िल‍िप्‍स भी आख़‍िर में प्रहार कर सकते थे। डेथ ओवरों की गेंदबाज़ी में यश ठाकुर काफ़ी प्रभावित किए।
हैदराबाद (A) - हैदराबाद की गेंदबाज़ी ने शुरुआत तो अच्‍छी की लेकिन ऐसा लगा इसके बाद उनके गेंदबाज़ भटक गए थे। कप्‍तान भी स्पिनरों को अधिक मौक़े दे रहे थे और इससे लखनऊ को वापसी का मौक़ा मिल गया। बीच के ओवरों में वह अभिषेक को लेकर आए और यही उनके लिए भारी पड़ गया। शुरुआत में फ़ज़ल हक़ फ़ारूक़ी से भी एक ही ओवर कराना उन्‍हें भारी पड़ा, क्‍योंकि वह और भुवनेश्‍वर वाकई बहुत अच्‍छी गेंदबाज़ी कर रहे थे। बात जब डेथ ओवरों की आई तो मैच पहले लखनऊ की ओर जा चुका था।

फ़ील्डिंग

लखनऊ (A) - लखनऊ की फ़ील्डिंग बेहतरीन रही। इसके लिए क्विंटन डिकॉक का राहुल त्रिपाठी का एक हाथ से बेमिसाल कैच लाज़वाब रहा। वहीं अगर देखा जाए तो इसके अलावा अन्‍य खिलाड़‍ियों को इतने मौक़े नहीं मिले लेकिन डिकॉक की फ़ी‍ल्‍डिंग विकेट के पीछे क़ाबिले तारीफ़ की क्‍योंकि दो कैच लेने के अलावा उन्‍होंने मारक्रम का सबसे अहम स्‍टंपिंग भी की।
हैदराबाद (A+) - हैदराबाद के फ़‍िल्‍डरों में अगर फ़‍िलिप्‍स और मारक्रम हों तो मामला हैदराबाद के पक्ष में जाना तो बनता है। मिडऑन पर काइल मेयर्स का दायीं ओर डाइव लगाकर लिया गया कैच मारक्रम का बेहतरीन रहा। इसके अलावा फ़‍िलिप्‍स ने भी बाउंड्री पर लंबी डाइव लगाते हुए कई बार अपनी टीम के लिए रन बचाए।

रणनीति

लखनऊ (B+) - लखनऊ की रणनीति साधारण सी दिखाई दी। बीच के ओवरों में जब हैदराबाद के बल्‍लेबाज़ ख़ासतौर पर स्पिनरों पर हमला कर रहे थे तो कप्‍तान क्रुणाल लगातार उनको बदलते रहे। ऐसे में दिक्‍कत उनके लिए बढ़ गई थी। हालांकि इस बार मांकड़ को तीसरे नंबर पर भेजने की रणनीति उनके काम आ गई।
हैदराबाद (B) - हैदराबाद की रणनीति समझ से परे थी। ऐसा लगा कि वह इस पिच के कुछ अधिक ही स्‍लोअर होने की उम्‍मीद कर रहे थे। हालांकि ऐसा हुआ नहीं। मध्‍य ओवरों में पार्ट टाइम स्पिनरों को लगाया गया जो फ़ैसला ग़लत साबित हो गया। वहीं विवरांत शर्मा को वह एक इम्‍पैक्‍ट प्‍लेयर के तौर पर लाए कि स्पिन कराई जाएगी लेकिन उनका तो इस्‍तेमाल ही नहीं हो पाया।

निखिल शर्मा ESPNcricinfo हिंदी में सीनियर सब एडिटर हैं। @nikss26