मैच (10)
AFG v IRE (1)
BPL 2023 (1)
विश्व कप लीग 2 (1)
WPL (1)
PSL 2024 (1)
Durham in ZIM (1)
Nepal Tri-Nation (1)
CWC Play-off (3)
फ़ीचर्स

फ़ाइनल में जाने के लिए भारत को क्या करना होगा?

विश्व टेस्ट चैंपियनशिप 2021-23 की दौड़ तेज़ी पकड़ रही है

जून 2023 में इसके पुरस्कार के लिए भिड़ेंगी टॉप दो टीमें  •  ICC via Getty

जून 2023 में इसके पुरस्कार के लिए भिड़ेंगी टॉप दो टीमें  •  ICC via Getty

2021-23 तक चलने वाली वर्तमान विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) अब अपने अंतिम पड़ाव पर आ पहुंची है। ऐसे में नज़र डालते हैं कि फ़ाइनल में पहुंचने के लिए टीमों को क्या करना होगा।
क्या इंग्लैंड से मिली दो हार के बाद पाकिस्तान डब्ल्यूटीसी के फ़ाइनल में पहुंच सकता है?
घर पर मिली यह दो हार ने पाकिस्तान के फ़ाइनल में पहुंचने की उम्मीदों को ठेस पहुंचाई है। इस चक्र में उनके केवल तीन टेस्ट (एक कराची में इंग्लैंड के विरुद्ध और दो घर पर न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़) शेष है और वह अधिकतम 54.76 प्रतिशत अंकों तक पहुंच सकता है। कम से कम दो अन्य टीमों के इससे अधिक प्रतिशत तक पहुंचने की संभावना है।
उदाहरण के तौर पर, शीर्ष पर चल रही ऑस्ट्रेलिया के 75 प्रतिशत अंक हैं और उसे अपने अंतिम सात टेस्ट मैचों में पाकिस्तान से ऊपर रहने के लिए केवल 20 अंक अर्जित करने है। यह अंक ऑस्ट्रेलिया को एक जीत और दो ड्रॉ के साथ मिल जाएंगे। भारत के छह टेस्ट शेष है और वह फ़िलहाल 52.08 प्रतिशत पर है। उसे 44 अंक और चाहिए जो तीन जीत और दो ड्रॉ से मिल सकते हैं।
साउथ अफ़्रीका 60 प्रतिशत अंकों के साथ डब्ल्यूटीसी की अंक तालिका में दूसरे स्थान पर है और उसे पाकिस्तान से आगे जाने के लिए अंतिम पांच टेस्ट में 28 और अंक (दो जीत और एक ड्रॉ) चाहिए। श्रीलंका को न्यूज़ीलैंड रूपी कठिन चुनौती का सामना करना है लेकिन 1-0 की सीरीज़ जीत उसे भी पाकिस्तान से आगे ले जाएगी।
इस बात की संभावना बहुत कम है कि इन चार टीमों में से कोई दो पाकिस्तान को पछाड़कर आगे ना जाए।
भारत को फ़ाइनल में जगह बनाने के लिए क्या करना होगा?
भारत इस समय अंक तालिका में चौथे स्थान पर है लेकिन अगर वह अपने बाक़ी बचे छह टेस्ट - दो बनाम बांग्लादेश और चार बनाम ऑस्ट्रेलिया - जीत जाता है तो उसका अंक प्रतिशत 68.06 हो जाएगा जो टॉप 2 में जाने के लिए पर्याप्त होगा (क्योंकि हार के बाद ऑस्ट्रेलिया का प्रतिशत नीचे गिरेगा)।
अगर भारत 5 मैच जीतकर एक मैच हारता है तो भी अंक 62.5 प्रतिशत रहेंगे जो उसे दौड़ में बनाए रखेगा। हालांकि अगर दो मैचों में भारत को हार मिलती है, तो यह घटकर 56.94 होगा जिससे उसे अन्य टीमों के नतीजों पर निर्भर करना होगा।
क्या ऑस्ट्रेलिया ने फ़ाइनल के लिए द ओवल का टिकट पा लिया है?
ऑस्ट्रेलिया अभी के लिए अंक तालिका में प्रथम पायदान पर है लेकिन फ़ाइनल का टिकट पाने के लिए काम बाक़ी है। अगर ऑस्ट्रेलिया बाक़ी बचे अपने सातों मैच हार जाता है तो आंकड़ा गिरकर 47.37 हो जाएगा।
हालांकि ऑस्ट्रेलिया के पास भारत दौरे पर जाने से पहले ही अपना स्थान पक्का करने का अवसर है। अगर ऑस्ट्रेलिया घर पर साउथ अफ़्रीका को तीनों मैच हराता है तो भारत से चार मैच हारने के बाद भी उसके अंक 63.16 प्रतिशत रहेंगे जिससे फ़ाइनल खेलना पक्का होगा।
साउथ अफ़्रीका के फ़ाइनल में जाने की क्या संभावना है?
साउथ अफ़्रीका को दो और सीरीज़ खेलनी है - तीन टेस्ट ऑस्ट्रेलिया में और घर पर दो टेस्ट वेस्टइंडीज़ के विरुद्ध। अगर वह घर पर खेले जाने वाले मैचों को जीतकर ऑस्ट्रेलिया में तीनों मैच हारता है तो उसके अंक 53.33 रहेंगे। इसलिए साउथ अफ़्रीका को ऑस्ट्रेलिया में कम से कम एक टेस्ट जीतना होगा। ऑस्ट्रेलिया में 1-2 की सीरीज़ हार और घर पर 2-0 की जीत उसे फ़ाइनल की दौड़ में बरक़रार रखेगी।
क्या श्रीलंका के पास भी मौक़ा है?
श्रीलंका 53.33 प्रतिशत पर है और उसके केवल दो टेस्ट शेष है। दोनों मैच जीतने पर उसके अंक 61.11 प्रतिशत हो जाएंगे लेकिन अगर सीरीज़ 1-1 से बराबरी पर रहती है तो यह आंकड़ा 52.78 पर रहेगा। इसलिए श्रीलंका को अपने दोनों मैच जीतने होंगे।
इंग्लैंड, न्यूज़ीलैंड और वेस्टइंडीज़ का क्या हाल है?
बेन स्टोक्स की कप्तानी में विजयी रथ के बावजूद इंग्लैंड फ़ाइनल की दौड़ से बाहर है। पिछले नौ मैचों में आठ टेस्ट जीतने वाली इंग्लैंड अगर अपना अंतिम टेस्ट जीत जाती है तब भी उसके अंक 46.97 प्रतिशत होंगे। वह इसलिए कि इस डब्ल्यूटीसी की शुरुआत में इंग्लैंड ने 12 टेस्ट में से सात हारे जबकि चार मैच ड्रॉ रहे थे।
वेस्टइंडीज़ सभी मुक़ाबले जीतने पर अधिकतम 50 प्रतिशत तक जा सकती है जबकि गत चैंपियन न्यूज़ीलैंड के लिए यह आंकड़ा 48.72 प्रतिशत की रह पाएगा।

एस राजेश (@rajeshstats) ESPNcricinfo में स्टैट्स एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब एडिटर अफ़्ज़ल जिवानी ने किया है।