स्टंप्स भारत 345 और 14/1 (पुजारा 9*, मयंक 4*, जेमीसन 1-8), न्यूज़ीलैंड 296 (लेथम 95, यंग 89, अक्षर 5-62, अश्विन 3-82) से 63 रन से आगे

टेस्ट क्रिकेट में अक्षर पटेल का 'ड्रीम स्टार्ट' जारी है। शनिवार को इस बाएं हाथ के इस स्पिनर ने सिर्फ़ चौथे टेस्ट में ही अपना पांचवां पंजा (5-विकेट) लगाया और एक समय मज़बूत स्थिति में दिख रही न्यूज़ीलैंड बल्लेबाज़ी क्रम की कमर तोड़ दी।

भारत के 345 रन के जवाब में न्यूज़ीलैंड 296 रन पर आलआउट हो गया। इस तरह भारत को पहली पारी में 49 रन की महत्वपूर्ण बढ़त मिली। कानपुर की पिच पर गेंद लगातार नीची रह रही थी। अक्षर ने इसका भरपूर फ़ायदा उठाया और 62 रन देकर पांच विकेट झटके।

दिन के अंत में भारत को भी पांच ओवर बल्लेबाज़ी करने का मौक़ा मिला, जहां पर भारत ने शुभमन गिल का महत्वपूर्ण विकेट गंवा दिया। काइल जेमीसन ने उन्हें एक बार फिर बोल्ड किया। यह टेस्ट क्रिकेट में जेमीसन का 50वां विकेट था और उन्होंने नौ टेस्ट में यह कारनामा कर शेन बांड का राष्ट्रीय रिकॉर्ड तोड़ा। हालांकि इसके बाद मयंक अग्रवाल और चेतेश्वर पुजारा ने संभल कर खेलते हुए भारत की बढ़त को 63 रन तक पहुंचा दिया, जबकि उसके 9 विकेट शेष हैं।

इससे पहले सुबह के सत्र में टॉम लेथम और विल यंग ने शुक्रवार की ही तरह बेजोड़ शुरुआत की। दोनों ने सलामी साझेदारी को 151 रन तक पहुंचाया। आर अश्विन ने यंग को विकेट के पीछे सब्स्टीट्यूट विकेटकीपर केएस भरत के हाथों लपकवाकर इस साझेदारी का अंत किया। इस विकेट के बाद तो विकेटों की झड़ी लग गई और 99 रन के भीतर ही सभी नौ विकेट गिर गए। न्यूज़ीलैंड की टीम 296 रन पर आलआउट हुई।

न्यूज़ीलैंड के इस कोलैप्स में अक्षर पटेल का सबसे बड़ा हाथ था। उन्होंने दूसरे नई गेंद से दूसरे सत्र में रॉस टेलर, हेनरी निकल्स और टॉम लेथम को आउट किया और कीवी मध्यक्रम की रीढ़ ही तोड़ दी। 11 ओवर के इस स्पेल में अक्षर ने सिर्फ़ 14 रन दिए। न्यूज़ीलैंड का स्कोर 241 रन पर दो विकेट से 227 रन पर पांच विकेट हो गया।

चाय के बाद अक्षर फिर गेंदबाज़ी पर लौटे और इस बार उन्होंने टॉम ब्लंडल के संघर्ष का अंत किया। ब्लंडल ने 94 गेंद खेले और 13 रन बनाए। टिम साउदी को बोल्ड कर अक्षर ने अपना पांच विकेट पूरा किया।

जेमीसन ने 23 रन बनाकर और विलियम समरविल ने 52 गेंद खेलकर भारतीय गेंदबाज़ों को थोड़ी देर के लिए परेशान किया, लेकिन अश्विन ने दोनों को आउट कर भारत को पहली पारी की महत्वपूर्ण बढ़त दिला दी।

हेमंत बराड़ ESPNcricinfo में उप संपादक हैं, अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के दया सागर ने किया है