मैच (5)
हज़ारे ट्रॉफ़ी (1)
ऑस्ट्रेलिया बनाम वेस्टइंडीज़ (1)
WTC (1)
बांग्लादेश ए बनाम इंडिया ए (1)
न्यूज़ीलैंड बनाम बांग्लादेश (1)
फ़ीचर्स

आंकड़े : एक शानदार साझेदारी और बेयरस्टो की बेहतरीन बल्लेबाज़ी

एजबेस्टन में इंग्लैंड के सफल रन चेज़ से जुड़े महत्वपूर्ण आंकड़े

Joe Root and Jonny Bairstow punch gloves, England vs India, 5th Test, Edgbaston, 5th day, July 5, 2022

जो रूट और जॉनी बेयरस्टो ने नाबाद 269 रन जोड़े  •  Getty Images

378 - इंग्लैंड ने भारत के ख़िलाफ़ एजबेस्टन टेस्ट में 378 रनों के लक्ष्य को सफलतापूर्वक हासिल किया। यह टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में उनका सबसे बड़ा सफल रन-चेज़ है। इससे पहले 2019 ऐशेज़ सीरीज़ में हेंडिग्ले टेस्ट में उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध 359 रनों का लक्ष्य हासिल किया था।
1 - इंग्लैंड ने टेस्ट मैचों में भारत के ख़िलाफ़ सबसे बड़े लक्ष्य को हासिल करने का रिकॉर्ड भी अपने नाम किया। 1977 के पर्थ टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया ने भारत के ख़िलाफ़ 339 रनों का लक्ष्य हासिल किया था। इंग्लैंड का यह रन चेज़ अपनी घरेलू धरती पर दूसरा सबसे बड़ा रन चेज़ भी है। 1948 में ऑस्ट्रेलिया ने इंग्लैंड में 404 रनों का लक्ष्य हासिल किया था।
1 - भारत के ख़िलाफ़ चौथी पारी में केवल एक टीम ने 378 से अधिक रन बनाए हैं। 2013 के जोहैनेसबर्ग टेस्ट में 458 के लक्ष्य का पीछा करते हुए साउथ अफ़्रीका ने 450 रन बनाए थे। यह इंग्लैंड के लिए टेस्ट मैच की चौथी पारी में बनाया गया चौथा सबसे बड़ा स्कोर भी है।
4 बार साल 2022 में इंग्लैंड ने चौथी पारी में लक्ष्य का सफलतापूर्वक पीछा किया है। वह एक कैलेंडर वर्ष में चार बार सफलता के साथ 250 से अधिक के लक्ष्य का पीछा करने वाली पहली टीम बन गई। 2006 में ऑस्ट्रेलिया ने तीन बार ऐसा किया था जबकि चार टीमें एक साल में दो बार यह कारनामा कर चुकी हैं।
4.93 के रन रेट से 378 के लक्ष्य को हासिल किया इंग्लैंड ने। यह 300 से अधिक के लक्ष्य को हासिल करते हुए किसी भी टीम का तीसरा सर्वाधिक रन रेट है। पाकिस्तान ने 2014 में श्रीलंका के विरुद्ध 302 का लक्ष्य 5.25 के रन रेट से पूरा किया था जबकि वेस्टइंडीज़ ने 1984 के लॉर्ड्स टेस्ट में इंग्लैंड के विरुद्ध 342 रन 5.19 के रन रेट से बनाए थे।
4.34 के रन रेट से कुल रन बने एजबेस्टन टेस्ट मैच में। यह किसी भी पूरे हुए टेस्ट मैच के लिए चौथा सर्वाधिक रन रेट है। सर्वाधिक रन रेट के साथ पूरे हुए टॉप छह टेस्ट मैचों में से तीन एजबेस्टन में खेले गए हैं।
269 रनों की नाबाद साझेदारी हुई जो रूट और जॉनी बेयरस्टो के बीच। यह टेस्ट मैच की चौथी पारी में किसी भी विकेट के लिए निभाई गई चौथी सबसे बड़ी साझेदारी है। इसके अलावा ये चौथे विकेट या उससे नीचे आई हुई सबसे बड़ी साझेदारी भी बन गई।
1 - रूट और बेयरस्टो की यह साझेदारी भारत के ख़िलाफ़ टेस्ट मैच की चौथी पारी में बनाई गई सबसे बड़ी साझेदारी है। साथ ही यह इंग्लैंड के लिए टेस्ट मैच की चौथी पारी में दूसरी सर्वाधिक साझेदारी है।
1 - इंग्लैंड के लिए टेस्ट मैच की चौथी पारी में सफल रन चेज़ में शतक बनाने वाली पहली जोड़ी बन गई रूट और बेयरस्टो की। इससे पहले 11 बार सफल रन चेज़ में दो खिलाड़ियों ने शतक जड़ा है। पिछली बार साल 2015 में पल्लेकेले टेस्ट मैच में पाकिस्तान ने ऐसा किया था।
2 शतक बनाए हैं रूट और बेयरस्टो ने सफल रन चेज़ में और वह भी इसी साल। किसी अन्य इंग्लैंड बल्लेबाज़ ने लक्ष्य को हासिल करते हुए एक से अधिक शतक नहीं लगाया है।
2008 में आख़िरी बार किसी इंग्लैंड खिलाड़ी ने टेस्ट मैच की दोनों पारी में शतक जड़ा था। बेयरस्टो से पहले ऐंड्रयू स्ट्रॉस ने चेन्नई टेस्ट में भारत के ख़िलाफ़ दो शतक लगाए थे।
2 - बेयरस्टो के नाम अब टेस्ट मैचों में पांचवें स्थान या उससे नीचे बल्लेबाज़ी करते हुए दो शतक हैं। वह ऐसा करने वाले इंग्लैंड के केवल दूसरे बल्लेबाज़ हैं। उनसे पहले 1947 के एडिलेड टेस्ट में डेनिस कॉम्पटन ने ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध पांचवें नंबर पर खेलते हुए दो शतक जड़े थे।
6 शतक हो गए इस साल जॉनी बेयरस्टो के। एक कैलेंडर वर्ष में पांचवें नंबर या उससे नीचे खेलते हुए यह सर्वाधिक शतक बनाने का रिकॉर्ड है। उन्होंने माइकल क्लार्क को पीछे छोड़ा जिन्होंने 2012 में पांच शतक बनाए थे। छह शतक बनाकर बेयरस्टो एक कैलेंडर वर्ष में इंग्लैंड की ओर से सर्वाधिक टेस्ट शतक बनाने की सूची में संयुक्त रूप से पहले स्थान पर जा पहुंचे हैं।
9 शतक बना चुके हैं रूट भारत के ख़िलाफ़ टेस्ट मैचों में। यह भारत के विरुद्ध किसी एक बल्लेबाज़ द्वारा बनाए गए सर्वाधिक शतक का रिकॉर्ड है। गैरे सॉबर्स, विव रिचर्ड्स, रिकी पोंटिंग और स्टीव स्मिथ आठ शतकों के साथ इस सूची में संयुक्त रूप से दूसरे स्थान पर हैं।
737 रन बनाए रूट ने इस सीरीज़ में जो भारत के ख़िलाफ़ सीरीज़ में इंग्लैंड के किसी बल्लेबाज़ का दूसरा सर्वाधिक कुल स्कोर है। उनके यह 737 रन एक द्विपक्षीय सीरीज़ में इंग्लैंड के बल्लेबाज़ों द्वारा बनाए गए पांचवें सर्वाधिक रन हैं और भारत के ख़िलाफ़ सीरीज़ में बने पांचवें सर्वाधिक रन भी हैं।
333 रनों का अंतर था इस सीरीज़ में सर्वाधिक रन बनाने वाले रूट और दूसरे सर्वाधिक रन बनाने वाले बेयरस्टो के बीच। यह 1940 से सीरीज़ के टॉप दो बल्लेबाज़ों के रनों के बीच संयुक्त रूप से तीसरा सबसे बड़ा अंतर है। 2019 के ऐशेज़ सीरीज़ में स्मिथ और स्टोक्स के रनों के बीच 333 रनों का अंतर था।

संपत बंडारुपल्ली ESPNcricinfo में स्टैटिस्टिशियन हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब एडिटर अफ़्ज़ल जिवानी ने किया है।