ख़बरें

टी20 विश्व कप में जगह किसी को जागीर में नहीं मिलेगी: मॉट

इंग्लैंड के सफ़ेद गेंद कोच चाहते हैं खिलाड़ी द हंड्रेड में प्रभावित करें और चयन की दावेदारी को मज़बूत करें

Jos Buttler and Matthew Mott chat during the T20I series against India

कप्तान जॉस बटलर का भी फ़ॉर्म कोच मैथ्यू मॉट के लिए चिंता का विषय होगा  •  Getty Images

इंग्लैंड के सीमित ओवर क्रिकेट कोच मैथ्यू मॉट ने सभी बल्लेबाज़ों को द हंड्रेड प्रतियोगिता में ख़ूब रन बनाने की सलाह दी है। साथ ही उन्होंने कहा है कि टी20 विश्व कप दल में चयन किसी भी खिलाड़ी के लिए आसान नहीं होने जा रहा है।
इंग्लैंड जब ऑस्ट्रेलिया में होने वाली विश्व कप के लिए अपनी प्रारंभिक दल की घोषणा करेगा, उसके बाद ही उनकी टीम पाकिस्तान में एक सात मैच के सीरीज़ में अगली बार टी20 प्रारूप में खेलती दिखेगी। इससे पहले भारत और साउथ अफ़्रीका दोनों से सीरीज़ हारने के बाद यह कहा जा सकता है कि विश्व कप दल में कई स्थान फ़िलहाल रिक्त होंगे।
पिछले साल द हंड्रेड के पहले सीज़न में टिमाल मिल्स और लियम लिविंग्स्टन ने अपनी टीमों के लिए लगातार प्रभावशाली खेल के बलबूते पर विश्व कप टीम में अपनी जगह पक्की की थी। इस साल पुरुषों का टूर्नामेंट बुधवार से शुरू होगा, जब साउथैंप्टन में सदर्न ब्रेव का मुक़ाबला वेल्श फ़ायर से होगा।
मॉट ने कहा, "क्या खिलाड़ी अभी भी टीम में आ सकते हैं? बिल्कुल। अगर आप फ़ॉर्म में हों, रन बनाएं और फिर पाकिस्तान जाकर भी प्रभावित करें। हम 'द हंड्रेड' को एक मज़बूत बुनियाद के तौर पर देख रहे हैं, जहां से सब खिलाड़ी आत्मविश्वास के साथ आगे बढ़ें।"
स्थायी कप्तान बनने के बाद जॉस बटलर के फ़ॉर्म में ख़ासा गिरावट आया है। उन्होंने छह पारियों में केवल 87 रन बनाए हैं। हालांकि उन्होंने मैनचेस्टर ओरिगिनल्स की कप्तानी करते हुए फ़ॉर्म में लौटने के लिए उत्साह जताया है।
बटलर ने कहा, "मेरा ड्रेसिंग रूम में सभी से यही संदेश रहा है कि आप अपनी टीम के सबसे प्रभावशाली खिलाड़ी बनने की कोशिश कीजिए। पिछले साल लियम लिविंग्स्टन एमवीपी (सबसे बहुमूल्य खिलाड़ी) बने थे और अब तक उसी आत्मविश्वास के साथ खेल रहे हैं। सारे मैच टीवी पर प्रसारित होंगे। अगर आप ऐसे दबाव में अच्छा खेलेंगे तो आप अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट और विश्व कप के दबाव को भी झेल सकेंगे।"
इंग्लैंड की सबसे बड़ी उम्मीद होगी द हंड्रेड में जेसन रॉय का फ़ॉर्म में लौटना। रॉय ने छह पारियों में 98 गेंदों में केवल 76 रन बनाए हैं और ओवल इंविंसिबल्स के लिए उनके खेल पर सबकी निगाहें होंगी। मॉट ने फ़िल सॉल्ट और हैरी ब्रुक जैसे खिलाड़ियों से अच्छे खेल की उम्मीद जताई और कहा कि आगे कुछ कड़े फ़ैसले लिए जा सकते हैं।
उन्होंने कहा, "जब आप एक महान खिलाड़ी रहे हैं और आपने बड़े मंच पर बहुत कुछ हासिल किया है तो ज़ाहिर सी बात है टीम आप के प्रति वफ़ादारी निभाएगी। लेकिन कभी-कभी कुछ कड़े फ़ैसले लेने पड़ते हैं और युवा खिलाड़ियों को शामिल करने से टीम की ऊर्जा में भी वृद्धि होती है। इन दो खिलाड़ियों ने बेंच से सब कुछ देखा है और टीम में घुसने के लिए बेताब हैं। यह एक अच्छी बात है। अब उनके पास मौक़ा है द हंड्रेड में जाने का, पहाड़-रूपी रन बनाने का और टीम में शामिल होने की दावेदारी को मज़बूत करने का। टीम में किसी की जगह उनको जागीर में तो मिली नहीं है। खिलाड़ी आते हैं और जाते हैं और किस को खिलाना है यह कोई सटीक विज्ञान नहीं। हालांकि आप चाहते हैं खिलाड़ियों में आत्मविश्वास बनी रहे और इसके लिए उन्हें पर्याप्त अवसर देना भी आवश्यक है।"
मॉट ने माना कि जोफ़्रा आर्चर, मार्क वुड और क्रिस वोक्स के लिए विश्व कप तक फ़िट होना मुश्किल है। ऐसे में गेंदबाज़ों पर काफ़ी क़रीब नज़र होगी, क्योंकि इंग्लैंड ने अपने पिछले छह टी20 मुक़ाबलों में से पांच में विपक्ष को 190 या उससे अधिक का स्कोर बनाने दिया है। द हंड्रेड में विल जैक्स, जेम्स विंस और कई अन्य बल्लेबाज़ों को प्रबंधन को प्रभावित करने का मौक़ा मिलेगा लेकिन मॉट ने कहा कि अगर वह फ़िट रहते हैं तो बेन स्टोक्स का चयन लगभग तय है।
उन्होंने कहा, "स्टोक्स जैसा खिलाड़ी चयन को लेकर कई मुश्किलों को सहज बना देता है। पाकिस्तान में सात मैच होंगे और हम शायद वहां टीम संतुलन के लिए कई प्रयोग करेंगे। विश्व कप से पहले वहां और ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध ऑस्ट्रेलिया में तीन टी20 मैच अहम होंगे। काफ़ी लोग समझते हैं कि यह एक महान टीम रह चुकी है, लेकिन यह एक अलग इकाई है। अच्छी बात यह है कि जॉस इस टीम की दिशा के बारे में सही राय रखते हैं।"

मैट रोलर ESPNcricinfo में असिस्टेंट एडिटर हैं, अनुवाद ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो हिंदी के संपादक देबायन सेन ने किया है