मैच (6)
West Indies v India T20I Series (1)
राष्ट्रमंडल खेल (2)
द हंड्रेड (पुरुष) (2)
ज़िम्बाब्वे में बांग्लादेश (1)
ख़बरें

प्रयोग करने का समय नहीं, विश्व कप संभावितों को खेल का समय देना चाहिए : रोहित

भारतीय कप्तान ने कहा, भारतीय टीम में खिलाड़ियों को अपनी आईपीएल फ़्रेंचाइज़ी से अलग भूमिका निभाने के लिए तैयार रहना चाहिए

Rohit Sharma speaks to a fielder, Jaipur, November 27, 2021

टीम संयोजन पर रोहित शर्मा ने खुलकर बात की  •  BCCI

"प्रयोग शब्द ओवररेटेड है।"
यह भारत के कप्तान रोहित शर्मा थे, जो इस बात का जवाब दे रहे थे कि क्या टीम कोलकाता में वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ आगामी तीन टी20आई में सभी खिलाड़ियों को मौक़ा देकर प्रयोग करेगी। उन्होंने बुधवार के पहले टी20 आई से पहले कहा, "मुझे लगता है कि प्रयोग शब्द मेरी शर्तों में अधिक है। हम उन कमियों को खोजने की कोशिश कर रहे हैं जो दल में हैं और हम उस अंतर को भरने की कोशिश कर रहे हैं। इसलिए जो कुछ भी होगा, हम कोशिश करेंगे।"
"ये सभी लोग नए हैं, बहुत युवा हैं और उन्होंने बहुत अधिक क्रिकेट नहीं खेला है। हमें उन्हें आश्वासन और खेल का समय देने की ज़रूरत है। एक बार यह होने के बाद हम चीज़ों को आज़मा सकते हैं। तब तक, हमारे दल में जो भी कमियां हैं, हमें उसे भरने की कोशिश करनी होगी।"
कौन खेलता है और कौन नहीं, इसकी पहचान करते हुए सर्वोच्च प्राथमिकताओं में यह तय करना है कि खिलाड़ी उनकी टी20 विश्व कप योजना का हिस्सा बनने जा रहा है या नहीं। उन्होंने खिलाड़ियों पर निर्णय लेने से पहले एक पर्याप्त खेल समय देने के महत्व पर भी जोर दिया।
उन्होंने कहा, "विचार उन खिलाड़ियों की पहचान करना है जो विश्व कप खेलने जा रहे हैं और उन्हें खेल का समय देना है। बहुत सारे खिलाड़ी हैं जो चोटिल हैं और टीम के साथ नहीं हैं। विश्व कप आने तक मुझे नहीं पता कौन फ़िट होगा और कौन फ़िट नहीं होगा, लेकिन हमें बस बैकअप तैयार करना है। हमारे पास एक पैक शेड्यूल है और चोटें भी होंगी। यह महत्वपूर्ण है कि हम सब कुछ ध्यान में रखते हुए खिलाड़ियों को खेल का पर्याप्त समय दें।"
केएल राहुल के नहीं होने से भारत निश्चित रूप से सीरीज़ में एक नया ओपनिंग संयोजन उतारेगा। वॉशिंगटन सुंदर के चोटिल होने से भारत के पास एक नए रूप का स्पिन आक्रमण भी होगा। चाहे इसका मतलब रवि बिश्नोई के लिए पदार्पण हो या 'कुल-चा' की वापसी, कुछ ऐसा है जो रोहित प्रकट नहीं करेंगे। रिकॉर्ड के लिए, वॉशिंगटन की चोट ने कुलदीप की T20आई सेट-अप में वापसी का मार्ग प्रशस्त किया है।
रोहित ने कहा, "ये दोनों खिलाड़ी अतीत में हमारे लिए काफ़ी अहम रहे हैं और आगे भी रहेंगे। उनके लिए चीज़ें गिरनी शुरू होंगी लेकिन हमें उन्हें विश्वास दिलाना है, उन्हें समर्थन देना है।"
"ये लोग विकेट लेने के विकल्प हैं। कप्तान उनसे गेंद को फ़्लाइट कराने और विकेट लेने की उम्मीद करेगा। अब उन्हें लय में वापस आना है। चहल अपनी लय में आ गए हैं। कुलदीप को कुछ समय की ज़रूरत होगी क्योंकि वह चोटिल थे। कलाई के स्पिनर की लय आने में थोड़ा समय लगता है। मुझे यकीन है कि वह बहुत जल्द अपनी लय में वापस आ जाएंगे।"
हालांकि, केवल विशेषज्ञों पर ध्यान केंद्रित न करने की बात कहना एक हल्के संकेत से अधिक है। जहां भी लागू हो, बहु-कुशल क्रिकेटरों को वरीयता दी जाएगी। रोहित ने कहा, "हमारे पास बहुत सारे विकल्प हैं। जब आप सबसे छोटा प्रारूप खेल रहे होते हैं, तो आपको कुछ ऐसे लोगों को देखना होता है जो बल्लेबाज़ी भी कर सकते हैं। इस फ़ॉर्मेट में आप ऐसे खिलाड़ियों को देख रहे हैं जो 2-3 अलग-अलग चीज़ें कर सकते हैं। इसलिए दूसरे लड़कों को ज़्यादा तरजीह मिलती है।"
ऑलराउंड आयाम लाने वाले खिलाड़ियों की बात करते हुए, रोहित ने यह भी स्पष्ट किया कि उन्होंने अभी तक हार्दिक पांड्या के विशेषज्ञ बल्लेबाज़ के रूप में खेलने के बारे में बात नहीं की थी। हार्दिक एक पुरानी पीठ की तक़लीफ़ से सही हो रहे हैं, जिसने उन्हें 2018 के बाद से सभी प्रारूपों में नियमित गेंदबाज़ बनने की अनुमति नहीं दी है। उन्हें पिछले अक्टूबर-नवंबर में टी20 विश्व कप के बाद से भारत के दल में शामिल नहीं किया है। जब वह आगामी रणजी ट्रॉफ़ी से हटे तो उनके सफ़ेद गेंद वाले क्रिकेट को प्राथमिकता देने के संकेत मिले हैं।
रोहित ने कहा, "वह एक बहुत ही महत्वपूर्ण खिलाड़ी है। वह तीन कौशल लाते हैं। हमने उनके बारे में चर्चा नहीं की है कि क्या वह एक शुद्ध बल्लेबाज़ के रूप में खेल सकते हैं। पिछले टी20 विश्व कप के बाद से बहुत सारी चोटें खिलाड़ियों को लगी हैं। एक बार जब हर कोई उपलब्ध होगा, तो हम अलग-अलग खिलाड़ियों के बारे में सोच सकते हैं। सभी के लिए दरवाज़ा खुला है। हम अभी निर्णय नहीं ले रहे हैं। हमें संयोजनों को देखना होगा। अलग-अलग स्थितियां होंगी।"
रोहित ने इस बारे में भी खुलकर बात की कि कैसे खिलाड़ियों को अपनी आईपीएल फ़्रेंचाइज़ी के लिए सफलतापूर्वक निभाई जाने वाली कुछ भूमिकाओं में नहीं बांधा जाना चाहिए और जब राष्ट्रीय टीम की बात आती है तो यह पूरी तरह से एक अलग खेल है।
इस पर विचार करें: वेंकटेश अय्यर को आईपीएल की अपनी अधिकांश सफलता शीर्ष क्रम में मिली है। इसके कारण उन्हें न्यूज़ीलैंड T20 के लिए भी चुना गया, जहां उन्होंने मध्य क्रम में बल्लेबाज़ी की। मुंबई के लिए इशान किशन नंबर 1-6 के बीच कहीं भी बल्लेबाज़ी करते हैं। अब हालांकि, यह संभावना है कि किशन एक सलामी बल्लेबाज़ के रूप में खेलेंगे ना कि एक फ्लोटर के रूप में।
उन्होंने कहा, "यहां आईपीएल का कोई विचार नहीं है। आईपीएल दो महीने के लिए खेला जाता है और हम अगले दस महीनों के लिए भारत के लिए खेलेंगे। मायने यह रखता है कि वे भारत के लिए कहां बल्लेबाज़ी करने जा रहे हैं। हमें यहां इन लोगों से जो चाहिए वह बहुत महत्वपूर्ण है। हम उस पर ध्यान दे रहे हैं। आईपीएल दो महीने के लिए होता है और हम बाद में इस पर ध्यान देंगे।"
"फिलहाल, हमें बस कुछ चीज़ों को हल करने की ज़रूरत है, हमें वह सही करने की आवश्यकता है और यह हमारे लिए ऐसा करने का समय है। हमने लोगों से बात की है कि विश्व कप के दौरान उन्हें क्या भूमिकाएं निभानी होंगी। उस मानसिकता से बल्लेबाज़ी या गेंदबाज़ी करने की ज़रूरत है। उनको स्पष्ट कर दिया गया है।"
बड़े ग्रुप में भूमिकाओं और बारीकियों के बारे में बात करने के बाद रोहित ने यह भी ख़ुलासा किया कि जब मंगलवार को टीम ईडन गार्डन में पहले प्रशिक्षत्र सत्र के लिए उतरी तो टीम प्रबंधन का स्पष्ट संदेश था : आईपीएल नीलामी ख़त्म हो चुकी है। अब नीले रंग पर फ़ोकस करने की ज़रूरत है।

शशांक किशोर ESPNcricinfo में सीनियर सब एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी में सीनियर सब एडिटर निखिल शर्मा ने किया है।