शनिवार को आईपीएल 2021 के दूसरे हाफ़ का पहला डबल हेडर दिल्ली कैपिटल्स और राजस्थान रॉयल्स के बीच खेला जाएगा। दोनों टीमों के लिए यूएई के सफ़र का आग़ाज़ अच्छा रहा है और राजस्थान के पक्ष में 12-11 के हेड टू हेड इतिहास को ध्यान में रखते हुए यह तय है कि काग़ज़ पर मुक़ाबला कड़ा रहेगा। आंकड़े क्या कहते हैं?

ऋषभ पंत की मनपसंद टीम राजस्थान

ऋषभ पंत ने आईपीएल जीवन में राजस्थान के ख़िलाफ़ सिर्फ छह बार बल्लेबाज़ी की है और इनमें चार पारियों को अर्धशतक में परिवर्तित किया है। इस टीम के ख़िलाफ़ दिल्ली के कप्तान का 69 का औसत और 175 का स्ट्राइक रेट दोनों ही उनके किसी भी टीम के विरुद्ध सर्वश्रेष्ठ आंकड़ें हैं। और इस सीज़न पंत ने स्पिन के ख़िलाफ़ अपने गेम में बेहतरी दिखाई है। 2020 के आईपीएल में स्पिन के ख़िलाफ़ 28 का औसत और 99 स्ट्राइक रेट रखने वाले पंत इस साल स्पिन के विरुद्ध 52 गेंदों पर बिना आउट हुए 69 रन जड़ चुके हैं। पूरे प्रतियोगिता में सिर्फ़ के एल राहुल और स्टीव स्मिथ ने उनसे ज़्यादा गेंदें बिना आउट हुए खेलीं हैं।

संजू के लिए रिकॉर्ड को बेहतर करने का मौक़ा

यह मुक़ाबला दो युवा विकेटकीपर कप्तानों के बीच की जंग भी तो है। ऋषभ पंत के उभरने से पहले संजू सैमसन ही तो थे भारतीय क्रिकेट के अगले बड़े सितारे। लेकिन दिल्ली कैपिटल्स के ख़िलाफ़ उनका रिकॉर्ड बहुत साधारण है। उन्होंने 10 पारियों में 16.4 के औसत से 164 रन बनाए हैं। वर्त्तमान टीमों में चेन्नई के बाद यह उनका सबसे ख़राब प्रदर्शन रहा है। ऊपर से यह मैच अबू धाबी में है जहां उनके लिए आईपीएल 2020 में औसत सिर्फ़ 18.7 का था। सैमसन को कप्तानी पारी खेलकर अपने निरंतरता के अभाव को ठीक करने का इससे बढ़िया मौक़ा शायद ही मिले।

अश्विन और पावरप्ले में उनका असर

रविचंद्रन अश्विन ने इस साल आईपीएल में केवल एक विकेट लिया है। लेकिन इस प्रतियोगिता के इतिहास में पावरप्ले में उनसे ज़्यादा घातक स्पिनर नहीं रहा है। उनके 42 विकेट उन्हें दूसरे स्थान पर स्थित हरभजन सिंह से 12 विकेट आगे रखते हैं। पिछले संस्करण के शुरू होने के बाद भी अश्विन इस मामले में सात विकेट लेते हुए अव्वल नंबर पर हैं। और बाएं हाथ के बल्लेबाज़ तो वैसे भी उन्हें बड़े लुभावने लगते हैं। तो जायसवाल और लुईस की जोड़ी के सामने उनका पावरप्ले में आना मज़ेदार होना चाहिए।

फ़िज़ से बच कर कहां जाएंगे?

पंजाब के ख़िलाफ़ सुर्ख़ियों में कार्तिक त्यागी का नाम भले ही रहा हो लेकिन आप मुस्तफ़िज़ुर रहमान के 19वें ओवर को नज़रअंदाज़ नहीं कर सकते। दरअसल इस सीज़न न्यूनतम 20 ओवर डालने वाले राजस्थान गेंदबाज़ों में फ़िज़ का डॉट बॉल प्रतिशत सबसे अच्छा रहा है। उन्होंने 38.7 फ़ीसदी गेंदों पर रन नहीं दिए हैं, क्रिस मॉरिस (37.7%) और चेतन साकरिया (33.3%) से बेहतर। और उनका कटर उनका विश्वसनीय साथी है। ऑफ़कटर के ज़रिए मुस्तफ़िज़ुर ने इस सीज़न 15.4 की औसत और सात की इकॉनमी से सात विकेट झटके हैं।

देबायन सेन ESPNcricinfo हिंदी में सीनियर असेस्टिंट एडिटर और स्थानीय भाषा प्रमुख हैं।