मैच (21)
IPL (3)
SA v SL (W) (1)
USA vs CAN (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
ACC Premier Cup (6)
Women's Tri-Series (1)
ख़बरें

वेंकटेश के लिए दरवाज़ें बंद नहीं हुए हैं: मक्कलम

कोलकाता के कोच ने कहा, 'वह अपने स्थान को ​वापस पाने के लिए वह कड़ी मेहनत कर रहे हैं'

इस सीजन में केवल एक ही अर्धशतक लगा पाए हैं वेंकटेश  •  BCCI

इस सीजन में केवल एक ही अर्धशतक लगा पाए हैं वेंकटेश  •  BCCI

कोलकाता नाइट राइडर्स के प्रमुख कोच ब्रेंडन मक्कलम ने वेंकटेश अय्यर का बचाव करते हुए कहा है कि वह दोबारा वापसी करेंगे और प्लेइंग इलेवन में जगह बनाएंगे।
मक्कलम ने शनिवार को कोलकाता की सातवीं हार के बाद कहा, "उसको इतने रन नहीं मिल सके जो उन्हें मिलने चाहिए। इसके बाद हमें दूसरे विकल्प के साथ जाना पड़ा। यह एक ऐसे खिलाड़ी के लिए निराशाजनक हो सकता है जो कुछ महीने पहले ही भारत के लिए खेला हो और उसका पिछला आईपीएल बेहद ही शानदार गया हो।"
सलामी बल्लेबाज़ के तौर पर सात पारियों में 109 रन बनाने के बाद कोलकाता ने उनको मध्य क्रम में इस्तेमाल किया, लेकिन यह भी काम नहीं किया। केवल एक बार ही वह मुंबई इंडियंस के ख़िलाफ़ अर्धशतक लगा सके।
मक्कलम ने कहा, "वह नेट्स पर मेहनत करके अपना स्थान वापस पाने की कोशिश कर रहे हैं। वह हमारी नज़रों से भी बाहर नहीं हैं। एक छोटे टूर्नामेंट में आपको टीम में कुछ अन्य लोगों का उपयोग करने के लिए तैयार रहना होता है और दुर्भाग्य से हमें वेंकटेश के साथ यही करना पड़ा। लेकिन वह निश्चित रूप से आने वाले मैचों के लिए बाहर नहीं हैं। वह एक वास्तविक प्रतिभा हैं। मुझे पता है कि वह अधिक प्रदर्शन करने के लिए दृढ़ हैं।"
ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो के विशेषज्ञ डैनियल वेटोरी, क्रिस लिन और आकाश चोपड़ा का मानना ​​​​है कि यह ऑलराउंडर दूसरे सीज़न के सिंड्रोम से पीड़ित हो सकता है। कोलकाता ने इस साल पांच अलग-अलग ओपनिंग जोड़ियां खिलाने की कोशिश की है और उनमें से किसी ने भी काम नहीं किया है। उनका पहले विकेट के लिए सिर्फ़ 13.09 रन का औसत है, जो सभी 10 टीमों में सबसे ख़राब है। पावरप्ले (6.53) में उनका रन रेट कम भी है और और वे पहले छह ओवरों में भी बहुत अधिक विकेट (23) खो रहे हैं
मक्कलम ने कहा, "हम पावरप्ले में संघर्ष कर रहे हैं, यह हमारे लिए अब तक के सीज़न के लिए सबसे निराशाजनक बात है। हमने मध्य ओवरों में अच्छा किया है, डेथ ओवरों में भी इतना ख़राब नहीं किया है, लेकिन पावरप्ले में हम अटक रहे हैं। हम प्रयास कर रहे हैं कि पावरप्ले में विकेट नहीं खोएं। हम चाह रहे हैं कि हम आक्रामक होकर बाउंड्री निकाले क्योंकि विरोधी टीम इसका फ़ायदा उठा रही हैं।
"अगर आप तालिका में शीर्ष पर बैठी टीमों को देखो, तो उनके सलामी बल्लेबाज़ों ने अधिक रन बनाए हैं। यही वह जगह है जहां पर हम सही करने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन दुर्भाग्य से कुछ खिलाड़ी फ़ॉर्म में नहीं है। इसलिए हम बस फ़ॉर्म की तलाश कर रहे हैं। कभी-कभी ऐसे टूर्नामेंट में आपको खिलाड़ियों को बदलना पड़ता है। यह निराशाजनक है लेकिन खिलाड़ी निश्चित रूप से कड़ी मेहनत कर रहे हैं और मैं उनके प्रयास में ग़लतियां नहीं निकाल सकता हूं।"
वेंकटेश गेंदबाज़ी में भी कुछ ख़ास नहीं कर पाए हैं और उन्होंने केवल तीन ओवर डालते हुए 12 के इकॉनमी से रन दिए हैं। लेकिन मक्कलम उनको और मौक़े देने से इंकार नहीं कर रहे हैं।
उन्होंने कहा, "दुर्भाग्य से, वेंकी और (नीतीश) राणा को हमने थोड़ा कम इस्तेमाल किया है और जब मौक़ा मिला तो वह अच्छा नहीं कर पाए। यह किसी के आत्मविश्वास को प्रभावित कर सकता है।"