मैच (12)
IPL (2)
PAK v WI [W] (1)
RHF Trophy (4)
WT20 WC QLF (Warm-up) (5)
ख़बरें

RCB vs MI का रिपोर्ट कार्ड : आरसीबी के सामने बेअसर रही मुंबई इंडियंस

आरसीबी के ओपनरों कोहली और डुप्लेसी ने मुक़ाबले को एकतरफ़ा बना दिया

आरसीबी को जीत दिलाने के बाद कोहली और मैक्सवेल  •  Associated Press

आरसीबी को जीत दिलाने के बाद कोहली और मैक्सवेल  •  Associated Press

रविवार शाम को जब चिन्नास्वामी में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (आरसीबी) और मुंबई इंडियंस (एमआई) आमने-सामने हुई तब एक टक्कर के मुक़ाबले की उम्मीद जताई जा रही थी। हालांकि आरसीबी ने एकतरफ़ा मुक़ाबले में एमआई को आठ विकेटों से हरा दिया। आइए देखते हैं कि दोनों टीमों ने विभिन्न क्षेत्रों में कैसा प्रदर्शन किया।
बल्लेबाज़ी
आरसीबी (A+) - आरसीबी की सलामी जोड़ी के पिच पर पहुंचने से पहले कोई गम नहीं लगाया था लेकिन विराट कोहली और फ़ाफ़ डुप्लेसी के पैर अंगद की तरह ही जम गए। दोनों बल्लेबाज़ों के सामने एमआई की गेंदबाज़ी लाइन अप पूरी तरह से बेअसर नज़र आई। एमआई के गेंदबाज़ पूरी तरह से बेअसर नज़र आए। हालांकि सलामी जोड़ी के साथ सबसे सकारात्मक बात यह रही कि उन्होंने अपना संयम नहीं ख़ोया और मैच को अंजाम तक पहुंचा कर ही दम लिया।
एमआई (C) - एमआई की पारी का आग़ाज़ संतोषजनक नहीं रहा। इशान किशन ने शुरुआत में कुछ अच्छे शॉट ज़रूर खेले लेकिन एक बड़ा शॉट खेलने की चाहत ने उन्हें थर्ड मैन पर हर्षल के हाथों लपका दिया। कैमरन ग्रीन भी सस्ते में पवेलियन लौट गए लेकिन वह जिस गेंद पर आउट हुए उनके पास कोई चारा नहीं बचा था। हालांकि रोहित अब भी मैदान में मौजूद थे और सिराज की गेंद पर उन्हें एक जीवनदान भी मिला लेकिन वह जीवनदान को बड़ी पारी में तब्दील नहीं कर पाए। इसके बाद एक छोर पर विकेट गिरते रहे और कहानी आया राम गया राम की हो गई। हालांकि दूसरे छोर पर तिलक वर्मा डटे रहे और अर्धशतक के दम पर उन्होंने एमआई को एक लड़ने लायक स्कोर तक पहुंचाया।
गेंदबाज़ी
आरसीबी (A)- आरसीबी के गेंदबाज़ शुरु से ही एमआई पर हावी रहे। हालांकि रीस टॉप्ली शुरु के कुछ गेंदों में दिशाहीन ज़रूर दिखाई दिए लेकिन ग्रीन को किए यॉर्कर ने उन्हें उनकी लय वापस दिला दी। एक बार एमआई पर काबू पाने के बाद आरसीबी के गेंदबाज़ों ने अपनी पकड़ ढीली नहीं होने दी। हालांकि तिलक ज़रूर मैदान पर डटे रहे और उन्होंने एमआई को एक ऐसे स्कोर पर पहुंचाया जिसे आरसीबी के बल्लेबाज़ों को परेशानी हो सकती थी। 19वें ओवर में सिराज की वाइड गेंदें भी आरसीबी को ख़टक सकती थीं।
एमआई (C) - बल्लेबाज़ी की तरह ही गेंदबाज़ी में भी एमआई की गेंदबाज़ी बेअसर रही। आरसीबी के सामने एमआई के गेंदबाज़ पूरी तरह से बेअसर नज़र आए। पहला विकेट भी एमआई को 15वें ओवर में हासिल हुआ लेकिन तब तक आरसीबी का बेड़ा लगभग पार हो चुका था।
क्षेत्ररक्षण
आरसीबी (A) - फ़ील्डिंग में आरसीबी ने कुल मिलाकर अच्छा प्रदर्शन ही किया। अगर रोहित को मिले जीवनदान में कार्तिक और सिराज के बीच हुई गलतफ़हमी को छोड़ दिया जाए तो आरसीबी की फ़ील्डिंग संतोषजनक रही। गेंदबाज़ों को फ़ील्डरों का संपूर्ण संरक्षण प्राप्त हुआ जिसने एमआई के बल्लेबाज़ों पर दबाव बनाए रखा।
एमआई (C) - एमआई इस बार हर क्षेत्र में बेअसर नज़र आई। 15वें ओवर में अपना पहला मैच खेल रहे अरशद ख़ान की गेंद पर डेविड ने कैच ज़रूर लिया लेकिन तब तक काफ़ी देर हो चुकी थी। इसी ओवर की दूसरी गेंद पर ऋतिक शौक़ीन ने डीप मिडविकेट पर कोहली का एक कैच भी छोड़ा। पीयूष चावला के ओवर में भी जब किशन ने पारी के पांचवें ओवर और चावला के पहले ओवर की पांचवीं गेंद पर हाफ़ चांस को मिस किया। जब तक ग्रीन ने कार्तिक को बिना खाता खोले वापस लौटाया तब तक चिड़िया खे़त को चुग चुकी थी।
रणनीति
आरसीबी (A+) - गेंदबाज़ी में तो आरसीबी, एमआई पर हावी रही ही लेकिन बल्लेबाज़ी में भी दोनों सलामी बल्लेबाज़ों ने ताबड़तोड़ पारी खेलने के साथ-साथ स्ट्राइक भी भरपूर रोटेट किए। दोनों ही बल्लेबाज़ ज़्यादा हड़बड़ी में नहीं दिखे लेकिन उन्होंने अपनी लय को भी खोने नहीं दिया।
एमआई (C) - एमआई के पास बल्लेबाज़ी में रणनीति बनाने का अवसर था ही नहीं। बेंगलुरु के गेंदबाज़ों ने शुरु से ही एमआई के बल्लेबाज़ों पर दबाव बनाए रखा, तिलक की पारी नहीं होती तो एमआई को और बड़ी हार नसीब हो सकती थी। एमआई ने इंपैक्ट प्लेयर के तौर पर सूर्यकुमार यादव की जगह जेसन बेहरडॉर्फ़ को शामिल ज़रूर किया लेकिन यह रणनीति भी एमआई के काम नहीं आई।