मैच (17)
IPL (2)
ACC Premier Cup (2)
Pakistan vs New Zealand (1)
PAK v WI [W] (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
Women's QUAD (2)
फ़ीचर्स

आंकड़े: रेहान का ड्रीम डेब्यू, पाकिस्तान का घर में पहली बार सूपड़ा साफ़

ब्रूक और स्टोक्स के लिए भी ऐतिहासिक रहा यह टेस्ट सीरीज़

ट्रॉफ़ी के साथ इंग्लैंड की टीम  •  Matthew Lewis/Getty Images

ट्रॉफ़ी के साथ इंग्लैंड की टीम  •  Matthew Lewis/Getty Images

3 - कराची के नेशनल स्टेडियम में पाकिस्तानी टीम को मिली यह तीसरी टेस्ट हार है। इससे पहले वह यहां इंग्लैंड से 2000 में और साउथ अफ़्रीका से 2007 में हार चुका है। पाकिस्तान ने यहां 45 में से 23 टेस्ट मैच जीते हैं, जबकि 19 ड्रॉ रहे हैं। कराची में अब भी उनके हार का प्रतिशत सिर्फ़ 6.67% है, जो कि कम से कम 20 टेस्ट मैच खेले किसी भी मैदान में सबसे कम है।
1 - यह पहला मौक़ा है, जब पाकिस्तानी टीम का तीन या उससे अधिक टेस्ट मैच की किसी घरेलू सीरीज़ में क्लीन स्वीप हुआ है। वहीं किसी मेहमान टीम के लिए यह नौवां मौक़ा है, जब उन्होंने किसी घरेलू टीम को तीन या उससे अधिक टेस्ट मैच की सीरीज़ में सूपड़ा साफ़ किया हो। इससे पहले इंग्लैंड टीम ने ही 2018 में श्रीलंका को 3-0 से हराया था।
4 - यह पाकिस्तानी टीम की घरेलू सरज़मीं पर लगातार चौथी हार है, जो कि घर में उनके लिए सर्वाधिक है। इससे पहले वह 1956 और 1959 के बीच लगातार तीन टेस्ट हारे थे।
18 साल 126 दिन- रेहान अहमद, इंग्लैंड की ओर से टेस्ट खेलने वाले सबसे युवा टेस्ट क्रिकेटर बन गए हैं। इसके अलावा वह डेब्यू मैच में पांच विकेट लेने वाले सबसे युवा गेंदबाज़ भी बन गए हैं। इससे पहले यह दोनों रिकॉर्ड पैट कमिंस के नाम था, जब उन्होंने 2011 में साउथ अफ़्रीका के ख़िलाफ़ 18 साल और 193 दिन की उम्र में टेस्ट डेब्यू करते हुए छह विकेट चटकाए थे।
16 - इंग्लैंड के स्पिनरों ने इस मैच में 16 विकेट लिए, जो कि किसी भी मेहमान टीम के स्पिनरों द्वारा पाकिस्तान में किया गया संयुक्त रूप से सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। इससे पहले 1961-62 के पाकिस्तार दौरे के ढाका टेस्ट में भी इंग्लिश टीम ने ऐसा किया था। तब ढाका पाकिस्तान का हिस्सा हुआ करता था।
9 - बेन स्टोक्स ने कप्तान के रूप में 2022 में नौ टेस्ट मैच जीते हैं। सिर्फ़ सात अन्य कप्तानों ने एक कैलेंडर साल में ऐसा किया है। इंग्लैंड के कप्तान माइकल वॉन के नाम 2004 में 10 टेस्ट जीत है।
3 - हैरी ब्रूक ने इस सीरीज़ के सभी तीन मैचों में शतक लगाए। विदेशी ज़मीन पर तीन या उससे अधिक टेस्ट मैचों की सीरीज़ में वह ऐसा करने वाले सिर्फ़ दूसरे मेहमान बल्लेबाज़ हैं। इससे पहले यह कारनामा डैरिल मिचेल ने मिचेल किया था, जब वह इस साल इंग्लैंड दौरे पर गए थे।
5.50 - इस सीरीज़ में इंग्लैंड का रन रेट 5.50 था। तीन या उससे अधिक मैचों की सीरीज़ में कभी भी कोई टीम पांच के रन रेट के भी क़रीब नहीं पहुंची है। इससे पहले ऑस्ट्रेलिया ने 2015-16 के वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ तीन मैचों की घरेलू सीरीज़ में 4.66 के रन रेट से रन बनाए थे।

संपत बंडारुपल्ली ESPNcricinfo में स्टैटिस्टिशियन हैं