ख़बरें

शेल्डन जैक्सन पुडुचेरी टीम के साथ कार्यकाल पूरा करने के बाद सौराष्ट्र लौटने के लिए तैयार

जैक्सन को एनओसी मिल गई है और वह तुरंत अपनी घरेलू टीम में चयन के लिए उपलब्ध हैं

Sheldon Jackson kisses the trophy, Saurashtra v Bengal, Ranji Trophy final, March 13, 2020

रणजी ट्रॉफी को चूमते हुए जैक्शन  •  Shashank Kishore/ESPNcricinfo Ltd

घरेलू क्रिकेट के दिग्गज शेल्डन जैक्सन सौराष्ट्र लौटने के लिए तैयार हैं। सौराष्ट्र के साथ खेलते हुए ही उन्होंने 2019-20 में रणजी ट्रॉफी जीती थी। रणजी जीत के बाद जैक्सन एक पेशेवर खिलाड़ी के रूप में पुडुचेरी की टीम में चले गए थे। कोविड -19 महामारी के कारण जैक्सन ने पुडुचेरी के लिए रणजी ट्रॉफी में नहीं खेला और केवल सीमित ओवरों के प्रारूप में विजय हजारे ट्रॉफी और सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में पुडुचेरी की टीम का प्रतिनिधित्व किया। सौराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष जयदेव शाह ने प्रेस ट्रस्ट ऑफ इंडिया से पुष्टि की कि जैक्सन ने पुडुचेरी से एनओसी प्राप्त कर ली है और वह तुरंत चयन के लिए उपलब्ध हैं।
पुडुचेरी सीमित ओवरों की दोनों प्रतियोगिताओं के नॉकआउट में विफल रहा। हालांकि जैक्सन विजय हजारे ट्रॉफी में टीम के दूसरे सबसे अधिक रन बनाने वाले खिलाड़ी थे। उन्होंने पांच पारियों में 227 रन बनाए थे, जिसमें सर्वश्रेष्ठ 104 रनों की एक पारी भी शामिल थी। उन्होंने मुश्ताक अली ट्रॉफी में और भी बेहतर प्रदर्शन किया। वहां वह पांच पारियों में 242 रन के साथ सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ियों में से एक थे। चार साल के बाद आईपीएल में वापसी के लिए उन्होंने इस समयावधि को श्रेय दिया है। 2021 की नीलामी में कोलकाता नाइट राइडर्स ने उनके आधार मूल्य 20 लाख रुपये में उनको साइन किया था।
34 वर्षीय जैक्सन घरेलू सर्किट में सबसे अधिक कुशल बल्लेबाज़ों में से एक माने जाते हैं। हैं। 76 प्रथम श्रेणी मैचों में उन्होंने 49.42 की औसत से रन बनाया है। इसमें 19 शतक और 27 अर्धशतक भी शामिल है। 60 लिस्ट ए मैचों में उनका औसत 37.42 है जबकि 59 टी20 मेैचों में उनका औसत 117.09 का है।
भारत के पूर्व तेज गेंदबाज़ (जो क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास ले चुके हैं) पंकज सिंह और जैक्सन के बाहर होने से पुडुचेरी टीम अचानक से काफी कमजोर नजर आने लगी है। टीम में तीन पेशेवर खिलाड़ी हैं। लोढ़ा समिति की सिफारिशों के बाद अब कोई भी रणजी टीम तीन प्रोफ़ेशनल (बाहरी राज्यों के) खिलाड़ियों को अपने दल में रख सकती है।

शशांक किशोर ESPNcricinfo के सब एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब एडिटर राजन राज ने किया है।