मैच (17)
IPL (3)
Pakistan vs New Zealand (1)
PAK v WI [W] (1)
ACC Premier Cup (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
CAN T20 (2)
ख़बरें

बिग बैश लीग में खेलने वाले पहले भारतीय होंगे उन्मुक्त चंद

ऑस्ट्रेलिया के टी20 लीग में मेलबर्न रेनेगेड्स की ओर से खेलेंगे

उन्मुक्त ने भारतीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया है और अब अमेरिका के घरेलू क्रिकेट में खेल रहे हैं  •  Unmukt Chand/Twitter

उन्मुक्त ने भारतीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया है और अब अमेरिका के घरेलू क्रिकेट में खेल रहे हैं  •  Unmukt Chand/Twitter

पूर्व भारतीय अंडर-19 कप्तान उन्मुक्त चंद ऑस्ट्रेलिया के बिग बैश टी20 लीग में मेलबर्न रेनेगेड्स की ओर से खेलते हुए नज़र आएंगे। 28 साल के उन्मुक्त बिग बैश लीग में खेलने वाले पहले भारतीय पुरुष होंगे। हालांकि उन्होंने इस साल ही भारत का घरेलू क्रिकेट छोड़कर अमेरिका के माइनर और मेज़र लीग में खेलने का फ़ैसला किया था। बिग बैश लीग में हरमनप्रीत कौर, जेमिमाह रॉड्रिग्स, स्मृति मांधना और शेफ़ाली वर्मा सहित कुल आठ महिला भारतीय क्रिकेटर पहले से ही खेल रही हैं।
उन्मुक्त ने इस बारे में जानकारी देते हुए कहा, "मुझे बिग बैश देखना अच्छा लगता है। उसमें दुनिया भर के क्रिकेटर खेलने आते हैं। यह एक अच्छा प्लेटफ़ॉर्म है और मैं हमेशा से इसमें खेलना चाहता था। मैं अब आगे की ओर देख रहा हूं। मैं अच्छा प्रदर्शन कर टीम के लिए ट्रॉफ़ी जीतना चाहता हूं।"
शीर्ष क्रम के बल्लेबाज़ उन्मुक्त चंद ने 2012 के अंडर-19 विश्व कप के फ़ाइनल में ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध शतक लगाकर भारत को ख़िताबी जीत दिलाई थी। इसके बाद उन्होंने मुंबई इंडियंस, दिल्ली डेयरडेविल्स और राजस्थान रॉयल्स के लिए आईपीएल भी खेला, हालांकि कभी बड़े स्तर पर वह अपना नाम नहीं बना पाए। वह दिल्ली के लिए घरेलू क्रिकेट खेलते थे।
भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) नहीं चाहता कि उनके खिलाड़ी दुनिया के अन्य लीग में खेले, लेकिन उन्मुक्त अब भारतीय क्रिकेट से संन्यास लेकर दुनिया भर में क्रिकेट खेलने के मौक़े ढूंढ़ रहे हैं। उन्होंने 2010 में डेब्यू करने के बाद 77 टी20 मैच खेले हैं और 116 के स्ट्राइक रेट व 22.35 के औसत से कुल 1565 रन बनाए हैं।
रेनगेड्स के कोच डेविड सेकर ने कहा, "आईपीएल खेलने वाले खिलाड़ी को टीम में लाना एक बेहतरीन कदम है। एक बल्लेबाज़ के रूप में उन्मुक्त अपने खेल को ज़ल्दी-ज़ल्दी बदल सकते हैं। वह पारी को संभाल सकते हैं और जरूरत पड़ने पर ताबड़तोड़ बल्लेबाज़ी भी कर सकते हैं। हालांकि वह शीर्ष क्रम के बल्लेबाज़ हैं लेकिन हमें भरोसा है कि टीम की ज़रूरत के अनुसार वह बल्लेबाज़ी क्रम में नीचे भी आ सकते हैं।"