मैच (13)
AFG v IRE (1)
NZ v AUS (1)
विश्व कप लीग 2 (1)
Nepal Tri-Nation (1)
BPL 2023 (1)
WPL (1)
Sheffield Shield (3)
QAT v HKG (1)
CWC Play-off (3)
फ़ीचर्स

स्टीवन फ़्लेमिंग का क्लोन, जो केकेआर के लिए बना पावर प्ले का बादशाह

दिल्ली के कोच रिकी पोंटिंग ने कहा- वह एक दिन भारत के बड़े खिलाड़ी हो सकते हैं

अय्यर का यह पहला आईपीएल सीज़न है और उन्होंने धूम मचा दी है  •  BCCI

अय्यर का यह पहला आईपीएल सीज़न है और उन्होंने धूम मचा दी है  •  BCCI

वेंकटेश अय्यर कौन हैं? एक एमबीए पोस्ट ग्रेजुएट, रजनीकांत का फ़ैन, एक सलामी बल्लेबाज़ या फिर एक मध्यम तेज़ गेंदबाज़, जिन्हें आगामी टी20 विश्व कप के लिए टीम इंडिया का नेट गेंदबाज़ बनाया गया है।
वह सब कुछ हैं, लेकिन अगर कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) के मेंटॉर डेविड हसी की मानी जाए, तो वह न्यूज़ीलैंड के पूर्व सलामी बल्लेबाज़ और वर्तमान में चेन्नई सुपरकिंग्स के मेंटॉर स्टीवन फ़्लेमिंग के क्लोन हैं।
'पावर प्ले जीतो, मैच जीतो' शारजाह में हुए आईपीएल 2021 के मैचों का यही टेम्पलेट रहा है। बुधवार से पहले इस सीज़न शारजाह में खेले गए नौ में से आठ मैच उन टीमों ने जीता है, जिन्होंने पावर प्ले में अधिक स्कोर खड़ा किया था। एक बार गेंद के मुलायम हो जाने और फ़ील्डिंग बिखर जाने से इस पिच पर रन बनाना मुश्किल है। इसलिए जो भी टीम पावर प्ले में अधिक से अधिक रन बना लेती है, उनके लिए जीतना लगभग तय हो जाता है।
अब क्वालीफ़ायर 2 पर आते हैं। दिल्ली कैपिटल्स और कोलकाता नाइट राइडर्स दोनों को यह तथ्य पता था। इसलिए शिखर धवन और पृथ्वी शॉ ने पहले चार ओवर में 32 रन जोड़े। लेकिन इसके बाद वरूण चक्रवर्ती ने शॉ को अपने स्पिन के जाल में फंसाकर उन्हें पगबाधा आउट करा दिया। इसके बाद दिल्ली ने तेज़ रन बनाने के लिए मार्कस स्टॉयनिस को भेजा था लेकिन वरूण और लॉकी फ़र्ग्यूसन के आगे उनकी एक भी नहीं चली और छह ओवर में केकेआर को स्कोर 38 रन पर एक विकेट था। इसके बाद धीमी पिच और फैले हुए फ़ील्ड पर दिल्ली की टीम निर्धारित 20 ओवरों में पांच विकेट के नुकसान पर सिर्फ़ 135 रन ही बना सकी।
अब यह शुभमन गिल और अय्यर की ज़िम्मेदारी थी कि वह कोलकाता को एक तेज़ शुरूआत दें। गिल ने पहली ही गेंद पर कवर ड्राइव से चौका लगाकर शुरूआत की। लेकिन इसके बाद बस अय्यर ही अय्यर थे। बाएं हाथ के बल्लेबाज़ ने आर. अश्विन को स्क्वेयर लेग पर स्वीप किया और फिर अक्षर पटेल को वाइड लांग ऑन की दिशा में लॉन्च किया। रही सही कसर उन्होंने आवेश ख़ान पर मिडविकेट की दिशा में बॉउंड्री लगाकर पूरी कर दी। यह सब बहुत सरलता से किया गया था।
लेकिन सबसे जबरदस्त शॉट उन्होंने कगिसो रबाडा पर लगाया। भले ही यह एक धीमी गेंद थी लेकिन फिर भी रबाडा तो रबाडा हैं। अय्यर ने इसे ऐसे लिया, जैसे कि वह घरेलू क्रिकेट में किसी धीमी गति के गेंदबाज़ को खेल रहे हों। वह आगे निकले और रबाडा की गेंद को मिडविकेट स्टैंड के ऊपर टांग दिया।
पावर प्ले में गिल ने सिर्फ़ एक चौका लगाया लेकिन अय्यर की आतिशबाज़ी ने तय कर दिया कि कोलकाता पावर प्ले को जीतकर आधी बाज़ी जीतने वाले हैं। पावर प्ले में कोलकाता का स्कोर छह ओवर में बिना विकेट खोए 51 रन था।
मैच के बाद दिल्ली के कोच रिकी पोंटिंग ने कहा, "पावर प्ले ने ही मैच में सबसे अधिक अंतर किया। हमने पावर प्ले में अच्छा स्कोर नहीं किया और यह महज़ 37-38 था। हम आठ से दस रन पीछे रह गए। लेकिन दूसरी पारी में परिस्थितियां नाटकीय रूप से बदल गईं। ओस के आ जाने से बल्लेबाज़ी आसान हुई। कोलकाता को वेंकटेश के रूप में एक अच्छा खिलाड़ी मिला है। वह भविष्य में भारत के लिए भी खेल सकते हैं।"
जब अय्यर (55) आउट हुए तो कोलकाता का स्कोर 12.2 ओवर में 96 रन था। कोलकाता के मेंटॉर डेविड हसी ने कहा, "वह गेंदों को जबरदस्त तरीके से हिट करते हैं। उन्होंने कुछ बड़े छक्के लगाए, जिससे मैच का मोमेंटम बदला और हम जीत की स्थिति में आ गए। वह एक क्लास प्लेयर हैं। वह लंबे हैं और मेरा मानना है कि वह स्टीवन फ़्लेमिंग के क्लोन हैं। वह भविष्य के एक बड़े खिलाड़ी हैं।"
अय्यर आईपीएल 2021 में कोलकाता की शुरुआती टीम में नहीं थे। उन्हें भारत लेग के एक भी मैच में खेलने का मौक़ा नहीं मिला। लेकिन यूएई में उनका और टीम दोनों का भाग्य चमका। उन्होंने आईपीएल के यूएई लेग में 40 की शानदार औसत और 125 के स्ट्राइक रेट से 320 रन बनाए हैं। उनसे अधिक सिर्फ ऋतुराज गायकवाड़ ने 407 रन बनाए हैं। अय्यर एकमात्र ऐसे खिलाड़ी हैं, जिन्होंने यूएई के तीनों मैदानों- शारजाह, दुबई और अबू धाबी पर अर्धशतक लगाया है।
मैच के बाद अय्यर ने कहा, "मैं उसी तरह से खेला, जैसे मैं खेलना चाहता था और मुझे खुशी है कि टीम प्रबंधन ने भी मुझे ऐसा करने की छूट दी। मैं घरेलू क्रिकेट और आईपीएल में कुछ अधिक अंतर नहीं देखता। हां, यहां पर दबाव थोड़ा सा अधिक है लेकिन अगर आप इसे संभालना जानते हैं, तो आप एक सफल क्रिकेटर हैं।"
उन्होंने आगे कहा, "पिछले एक-दो मैचों से मैं अपने आप को रोक रहा था ताकि मैं पूरी पारी खेल सकूं। लेकिन मुझे एहसास हुआ कि नहीं, मैं ये नहीं हूं। मैं भविष्य का सोचकर अपना वर्तमान ख़राब कर रहा था। इसलिए मैंने सोचा कि जिस क्षण में हो, उसे ही जिया जाए, ख़राब गेंदों को बॉउंड्री पार पहुंचाया जाए। मैं भविष्य में भी इसे जारी रखना चाहता हूं।"
भारतीय दल से नेट गेंदबाज़ के रूप में बुलावा आने पर उन्होंने कहा कि वह ख़ुश तो हैं, लेकिन उसके बारे में अभी से ही अधिक नहीं सोच रहे हैं। "अभी आईपीएल में एक और मैच (फ़ाइनल) है और मेरा पूरा फ़ोकस उसी मैच पर है। मुझे सुबह ही इसकी ख़बर मिली, लेकिन मैं शाम वाले मैच पर इसका कोई प्रभाव नहीं आने देना चाहता था। फ़ाइनल में भी ऐसा ही होगा।"
क्या वह कॉर्पोरेट जॉब छोड़ देंगे? अय्यर ने तुरंत कहा- 'बिल्कुल, मैं अब वहां कभी नहीं जाना चाहता।'

हेमंत बराड़ ESPNcricinfo में सब ए़डिटर हैं, अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के दया सागर ने किया है