मैच (8)
रोड सेफ़्टी (1)
लेजेंड्स लीग (1)
काउंटी डिवीज़न एक (1)
काउंटी डिवीज़न 2 (1)
सीपीएल (2)
Marsh Cup (1)
पाकिस्तान बनाम इंग्लैंड (1)
फ़ीचर्स

आंकड़े : हार्दिक का हरफ़नमौला रिकॉर्ड, पंत के करियर की सर्वश्रेष्ठ पारी

ओल्ड ट्रैफ़र्ड में जीत के साथ भारत ने इंग्लैंड में चौथी वनडे सीरीज़ जीती

4 द्विपक्षीय वनडे सीरीज़ भारत ने इंग्लैंड में जीत ली हैं। उनकी पिछली जीत 2014 में आई थी जब भारत ने 3-1 से जीत हासिल की थी। 1986 में 1-1 से सीरीज़ बराबर रही लेकिन भारत को उच्च स्कोरिंग रेट की वजह से विजेता घोषित किया गया जबकि 1990 में भारत 2-0 से जीता।
125* का करियर सर्वश्रेष्ठ स्कोर बनाने वाले ऋषभ पंत ने तीसरे वनडे में भारत को जीत दिलाई। यह इंग्लैंड में किसी भारतीय विकेटकीपर का दूसरा सर्वश्रेष्ठ स्कोर है। 1999 विश्व कप में श्रीलंका के ख़िलाफ़ राहुल द्रविड़ ने 145 रन बनाए थे। वहीं पंत के 125* वनडे में लक्ष्य का पीछा करते हुए किसी भारतीय विकेटकीपर का दूसरा सर्वश्रेष्ठ स्कोर भी है। यह रिकॉर्ड महेंद्र सिंह धोनी के नाम है जिन्होंने 2005 में श्रीलंका के ख़िलाफ़ नाबाद 183 रन बनाए थे।
2 बार भारतीय बल्लेबाज़ों ने नंबर चार या उससे नीचे खेलते हुए एक पारी में पंत ने अधिक रन बनाए। विराट कोहली ने 2014 में रांची में श्रीलंका के ख़िलाफ़ नंबर चार पर खेलते हुए 139* और 2012 होबार्ट में श्रीलंका के ही ख़िलाफ़ नंबर चार पर खेलते हुए नाबाद 133 रन बनाए।
4 भारतीय खिलाड़ियों ने एक वनडे मैच में 50 से ज़्यादा रन बनाते हुए चार विकेट लिए हैं। हार्दिक के इंग्लैंड के ख़िलाफ़ तीसरे वनडे में ऐसा करने से पहले युवराज सिंह ने 2011 विश्व कप में आयरलैंड के ख़िलाफ़ ऐसा किया था। वहीं 24 रन देकर चार विकेट हार्दिक के वनडे करियर का सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज़ी प्रदर्शन है। जबकि उनका टेस्ट में 50 पर 6 और टी20 में 33 रन पर 4 विकेट का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन भी इंग्लैंड के ख़िलाफ़ इंग्लैंड में ही आया।
3 वनडे सीरीज़ इंग्लैंड ने 2015 की शुरुआत से घर पर गंवाई हैं। इससे पहले दोनों ही सीरीज़ इंग्लैंड ने 2015 और 2020 में आस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ गंवाई थी।
19.2 की बल्लेबाज़ी औसत रही है इस सीरीज़ में इंग्लैंड की। यह जुलाई 2007 से तीन या उससे ज़्यादा मैचों की सीरीज़ में उनकी सबसे कम औसत है।
2011 में ही पिछली बार भारतीय टीम ने लक्ष्य का पीछा करते हुए पहले 10 ओवरों में तीन या उससे ज़्यादा विकेट गंवाने के बाद जीत हासिल की थी। ऐसा उन्होंने कटक में वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ किया था। तब से भारत ने लक्ष्य का पीछा करते हुए तीन या उससे ज़्यादा विकेट गंवाने के बाद नौ मैच हारे थे।

संपत बंडारुपल्ली ESPNcricinfo में स्टैटिस्टिशियन हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सीनियर सब एडिटर निखिल शर्मा ने किया है।