372 भारत ने दूसरे टेस्ट को 372 रनों से जीता। जो रनों के लिहाज़ से भारत के लिए टेस्ट में सबसे बड़ी जीत है। इससे पहले 2015 भारत ने साउथ अफ़्रीका के ख़िलाफ़ 337 रनों से जीत हासिल की थी। जो आज के मैच से पहले सर्वश्रेष्ठ जीत थी। साथ ही न्यूज़ीलैंड के लिए भी 372 रनों की हार रनों के लिहाज़ से सबसे बड़ी हार है। इससे पहले वह 2007 में साउथ अफ़्रीका से 358 रन से हारे थे, जो कीवी टीम के लिए इस मैच से पहले सबसे बड़ी हार थी।

300 अनिल कुंबले के बाद भारतीय पिचों पर सबसे ज़्यादा विकेट लेने के मामले में अश्विन 300 विकेटों के साथ दूसरे नंबर पर आ गए हैं। 350 विकेटों के साथ अनिल कुंबले पहले स्थान पर हैं। सिर्फ़ पांच गेंदबाजों ने अश्विन से पहले घरेलू मैदानों पर 300 टेस्ट विकेट विकेट लिए हैं।

9 अश्विन नौवीं दफ़ा टेस्ट क्रिकेट में प्लेयर ऑफ़ द सीरीज़ बने हैं। संयुक्त रूप से जाक कैलिस के साथ इस मामले में दूसरे स्थान पर हैं। पहले स्थान पर 11 प्लेयर ऑफ़ द सीरीज़ अवार्ड के साथ मुथैया मुरलीधरन पहले स्थान पर हैं।

66 अश्विन ने अपने टेस्ट करियर में 66 विकेट ले लिए हैं। न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ किसी भी विपक्षी गेंदबाज़ के द्वारा यह सबसे ज़्यादा विकेट हैं। इससे पहले यह रिकॉर्ड 65 विकेट के साथ सर रिचर्ड हेडली के नाम था।

14/ 225 इस मैच में एजाज़ पटेल ने 225 रन देकर 14 विकेट लिए। यह किसी भी हारने वाली टीम के द्वारा सबसे बेहतरीन प्रदर्शन है। इस पहले यह रिकॉर्ड 132 रन देकर 13 विकेट लेकर पूर्व भारतीय तेज़ गेंदबाज़ जवागल श्रीनाथ के नाम थे। साथ ही एजाज़ ने एक पारी में 10 विकेट लेकर एक रिकॉर्ड तो बनाया लेकिन पहली बार यह हारने वाली टीम के गेंदबाज़ हारने वाली टीम के गेंदबाज़के द्वारा लिया गया। इससे पहले वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ यह रिकॉर्ड कपिल देव के नाम था उन्होंने एक पारी में 9 विकेट लिए थे लेकिन भारत वह मैच हार गई थी।

8/42 अश्विन ने इस मैच में 42 रन देकर 8 विकेट लिए। एक पारी में बिना 5 विकेट लिए यह दूसरा सबसे सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है।

52 2021 में अश्विन ने टेस्ट क्रिकेट में 52 विकेट लिए हैं। वह इस साल 50 से ज़्यादा विकेट लेने वाले पहले गेंदबाज़ हैं। 2021 चौथा कैलेंडर वर्ष है जहां अश्विन ने 50 से अधिक टेस्ट विकेट हासिल किए हैं। इससे पहले 2015, 2016 और 2017 में उन्होंने ऐसा किया था। केवल शेन वॉर्न (8), मुथैया मुरलीधरन (6) और ग्लेन मैकग्रा (5) के नाम क्रमश : सबसे ज़्यादा बार ऐसा किया है।

2003 इससे पहले किसी भी आईसीसी टूर्नामेंट में भारत ने साल 2003 में पिछली बार हराया था।

संपत बंडारुपल्ली ESPNcricinfo में स्टैटिस्टिशियन हैं, अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब एडिटर राजन राज ने किया है।