मैच (19)
Asia Cup (4)
ENG v WI (1)
ENG v SL (U19) (1)
T20 Blast (8)
MLC (2)
LPL (1)
विश्व कप लीग 2 (1)
TNPL (1)
फ़ीचर्स

रेटिंग्स : करारी शिकस्त में दीप्ति और हरलीन रहीं पॉज़िटिव

स्मृति मांधना और हरमनप्रीत कौर सहित सीनियर प्लेयरों ने किया निराश लेकिन देविका वैद्य ने दिया साहस का परिचय

Harmanpreet Kaur walks back after being dismissed, India v Australia, 5th T20I, Mumbai, December 20, 2022

निराश होकर पवेलियन लौटतीं भारतीय कप्तान हरमनप्रीत कौर  •  BCCI

एक चैंपियन टीम की यही पहचान होती है कि उनमें जीतने की इच्छा इतनी तीव्र होती है कि वह केवल आपको हराने ही नहीं, बल्कि पूरी तरह नेस्तानाबूत करने की मंशा रखते हैं। पांचवें और अंतिम टी20आई में भी भारत के साथ तालिया मैक्ग्रा की कप्तानी में ऑस्ट्रेलिया ने कुछ ऐसा ही किया। इसी के साथ सीरीज़ के पहले और अंतिम मैच में मेहमानों ने एकतरफ़ा मुक़ाबले में बड़ी जीत दर्ज करते हुए अपने वर्चस्व को साबित किया।

क्या सही, क्या ग़लत?

इस मैच में भारत के लिए बहुत कुछ अच्छा नहीं गया लेकिन टॉस जीतकर गेंदबाज़ी करते हुए उनकी पावरप्ले की गेंदबाज़ी अच्छी थी। हरमनप्रीत कौर ने गेंदबाज़ों को अच्छे से शफ़ल करते हुए ऑस्ट्रेलिया के शीर्ष और मध्य क्रम में कई घांव दिलवाए।
हालांकि 12वें ओवर के बाद भारत ने बिना विकेट लिए 112 रन दिए। इस दौरान ऐश्ली गार्डनर (66 नाबाद) और ग्रेस हैरिस (64 नाबाद) के सामने भारत की फ़ील्डिंग भी अच्छी शुरुआत के बाद बिखरती दिखी। गेंदबाज़ों ने भी दबाव में काफ़ी निराश किया। बल्लेबाज़ी में अगर आप दीप्ति शर्मा (53) और सीरीज़ में पहली पारी खेल रहीं हरलीन देओल (25) के योगदानों को हटा दें, तो हार का अंतर और बड़ा होता। इस सीरीज़ में डेब्यू करने वाली गेंदबाज़ हेदर ग्रैम का हैट्रिक जले पर नमक समान साबित हुआ।

प्लेयर रेटिंग्स (1 से 10, 10 सर्वाधिक)

स्मृति मांधना, 4 : स्मृति ने आज पारी का आग़ाज़ एक मनमोहक बाउंड्री के साथ किया लेकिन उसके बाद स्क्वायर लेग पर आसान कैच थमा बैठीं। दरअसल दूसरे मैच में विस्फोटक बल्लेबाज़ी के बाद भारत की सीनियर खिलाड़ी बल्लेबाज़ी के लिए बेहतरीन पिचों पर बड़ी पारी नहीं खेल पाईं।
शेफ़ाली वर्मा, 5: शेफ़ाली ने आज गेंद से अच्छा काम किया और गति और दिशा में लगातार परिवर्तन करते हुए मैक्ग्रा का बड़ा विकेट अपने नाम किया। बल्ले से उन्होंने शुरुआत अच्छी की थी लेकिन फिर ऐश्ली गार्डनर की गेंद पर क्रीज़ से ही बड़ा शॉट मारने का ख़ामियाज़ा भुगता।
हरलीन देओल, 7.5 : हरलीन ने भविष्य के लिए एक अच्छा संकेत दिया। चुस्त फ़ील्डिंग के बाद उन्होंने तीसरे नंबर पर कुछ आक्रामक तेवर दिखाए। जेमिमाह रॉड्रिग्स एक शानदार बल्लेबाज़ हैं लेकिन हरलीन की आक्रामक शैली शायद पावरप्ले का फ़ायदा उठाने के लिए ज़्यादा कारगर शैली कही जाएगी।
हरमनप्रीत कौर, 4 : भारत की कप्तान इस सीरीज़ में बिना किसी बड़े स्कोर के निरंतरता से ख़ूबसूरत बल्लेबाज़ी करती रहीं हैं। हालांकि मंगलवार को जब वह बल्लेबाज़ी करने आईं तब दो विकेट भी गिर चुके थे और आवश्यक रन रेट में बड़ा इज़ाफ़ा हो गया था। ऐसे में उनके लिए आराम से ख़ुद को सेट करने का मौक़ा भी कम था। आज उनकी कप्तानी में भी अच्छी शुरुआत के बाद कुछ फ़ैसले अटपटे लगे, जैसे राधा यादव को केवल 15वां ओवर देना। हालांकि इसे विश्व कप से पहले के प्रयोग में गिना जा सकता है। फिर सवाल यह भी उठता है कि क्या भारत टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी के अपने कमज़ोर पक्ष पर ख़ुद को टेस्ट करके फ़ायदे में रहता?
ऋचा घोष, 5 : ऋचा ने कीपिंग में दो आसान स्टंपिंग के साथ अच्छी शुरुआत की लेकिन पारी के अंत तक उन्होंने कुछ ग़लतियां करते हुए बाई और ओवरथ्रो भी दिए। बल्लेबाज़ी में अच्छी शुरुआत के बाद गार्डनर की गेंद पर वह छक्का मारने के प्रयास में आउट हुईं।
दीप्ति शर्मा, 8 : एक बार फिर भारत के लिए चमकता सितारा रहीं दीप्ति। गेंद से फ़ीबी लिचफ़ील्ड को स्टंप आउट करवाने के लिए उनकी ऑफ़ स्पिन गेंदबाज़ी दिन के हाइलाइट्स में से एक थी। बल्ले से उन्होंने आख़िरी गेंद तक आक्रमण करते हुए आकर्षक अर्धशतक जड़कर बताया कि इस टीम में फ़िनिशर बनने के सारे गुण उनमें हैं।
देविका वैद्य, 6.5: देविका ने परिचित अंदाज़ में गेंद और बल्ले से साहस का परिचय दिया। गेंद को भरपूर फ़्लाइट देते हुए उन्होंने एलीस पेरी का क़ीमती विकेट झटका और बल्ले से तेज़ी से रन बनाने का पूरा प्रयास किया। हालांकि वह ग्रैम के हैट्रिक का पहला शिकार बनीं।
राधा यादव, 4: राधा के पास कुछ अच्छे फ़ील्डिंग के प्रयासों के अलावा इस मैच में बहुत कुछ करने को नहीं मिला। उनके इकलौते ओवर में हैरिस ने उनकी ज़बरदस्त तुड़ाई की और बल्ले के साथ वह ग्रैम की गेंद नहीं पढ़ पाईं।
अंजली सरवानी, 5: नई गेंद से अंजली ने बेहतरीन शुरुआत की और भारत के ख़िलाफ़ काफ़ी समय से बढ़िया फ़ॉर्म में चल रहीं बेथ मूनी को आउट किया। हालांकि 13वें ओवर में गार्डनर ने उन पर प्रहार करते हुए 19 में से 18 रन बनाए और वहीं से गतिशीलता पूरी तरह ऑस्ट्रेलिया के पाले में चली गई।
रेणुका सिंह, 5: रेणुका की शुरुआत अच्छी रही और पहले दो ओवरों में एक मेडन भी शामिल था। हालांकि आख़िर के ओवरों में वह गार्डनर और हैरिस के प्रकोप से नहीं बच पाईं।
राजेश्वरी गायकवाड़, 4.5: राजेश्वरी की शुरुआत अच्छी थी और अपनी धीमी गति के चलते उन्हें टर्न भी मिल रहा था। हालांकि अपने तीसरे ओवर के शुरआती दो गेंदों में हैरिस के विरुद्ध 10 रन देकर वह वापसी नहीं कर पाईं।

देबायन सेन ESPNcricinfo में सीनियर असिस्टेंट एडिटर और क्षेत्रीय भाषा प्रमुख हैं