मैच (16)
आईपीएल (1)
T20I Tri-Series (1)
WI vs SA (1)
ENG v PAK (W) (1)
USA vs BAN (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
CE Cup (2)
फ़ीचर्स

रेटिंग्स: ऋचा का जयघोष

दो सीनियर खिलाड़ियों जेमिमाह और रेणुका रहीं फिसड्डी

Richa Ghosh launches the ball over the off side, India vs Australia, 4th T20I, Mumbai, December 17, 2022

ऋचा ने 19वें ओवर की पहली तीन गेदों में दो छक्के और एक चौका लगाकर मैच को रोमांचक बना दिया था  •  BCCI

आज का मैच भारतीय प्रशंसकों के मूड के माफ़िक था: बड़े स्कोर वाला मैच और मुक़ाबला अंत तक जाए। लेकिन परिणाम उनका मज़ा किरकिरा कर गया। ऑस्ट्रेलिया ने आख़िरी ओवर में ऋचा घोष को स्ट्राइक से दूर रखकर सात रन से मुक़ाबला और सीरीज़ अपने नाम कर लिया। आगे हम जानेंगे कि ऋचा और उनके साथी खिलाड़ियों के इस मैच के प्रदर्शन के आधार पर कितने अंक मिलते हैं।

क्या सही, क्या ग़लत?

भारत के लिए इस मैच या ये कहें कि इस सीरीज़ में उनके लिए सही मायनों में कुछ अच्छी चीज़ रही है, तो वह है आख़िरी ओवरों में आकर ऋचा घोष का बड़े-बड़े शॉट्स लगाना। भारतीय महिला टीम को निचले मध्यक्रम में हमेशा ऐसे बल्लेबाज़ की कमी खली है जो विपक्षी टीम के जबड़े से मैच छीन लाए। भले ही वह आज जीत नहीं दिला पाईं लेकिन इससे पहले उन्होंने ऐसा कर दिखाया है और भविष्य के लिए अच्छे सपने दिखाए हैं।
भारत को डेथ ओवरों की गेंदबाज़ी लगातार परेशान कर रही है। दीप्ति को छोड़े दें तो अंजली और रेणुका ने ख़ासा निराश किया। टीम इंडिया को इस समस्या से जल्दी से जल्दी निजात पाना होगा।

प्लेयर रेटिंग्स (1 से 10, सर्वाधिक 10)

स्मृति मांधना, 7.5: बड़े लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम को एक तेज़ शुरुआत की ज़रूरत थी। स्मृति ने उसकी कुछ झलकियां दिखाई लेकिन ऐश्ली गार्डनर ने एक बेहतरीन गेंद पर उनको चलता कर दिया। स्मृति ने आज बाउंड्री लाइन पर ज़बरदस्त फ़ील्डिंग का मुज़ाहिरा पेश किया, लिहाज़ा उन्हें आधे अंक अतिरिक्त दिए गए हैं।
शेफ़ाली वर्मा, 7: पहला झटका लगने के बाद भारत को शेफ़ाली से उम्मीद थी कि वह रनगति को कम न होने दें। वह इसी प्रयास में पावरप्ले के आख़िरी ओवर में लगातार दो चौके जड़ने के बाद तीसरे के प्रयास में अपना विकेट गंवा बैठीं।
जेमिमाह रॉड्रिग्स, 5: लगातार तीन मैच में विफल रहने के बाद आज जेमिमाह से भारतीय पारी को चलायमान रखने की उम्मीद थी, लेकिन अहम समय पर रचनात्मक होने के प्रयास में वह अपना विकेट फेंककर चलते बनीं।
हरमनप्रीत कौर, 8: 50 रन के अंदर शीर्ष तीन को गंवाने के बाद हरमन ने ज़िम्मेदारी उठाई और सकारात्मक बल्लेबाज़ी की। देविका वैद्य के साथ उन्होंने अच्छी साझेदारी की और 13वें ओवर में ग्रेस हैरिस को चार चौके जड़कर ऑस्ट्रेलियाई ख़ेमे में खलबली मचा दी थी। हालांकि इसके एक ओवर बाद वह स्वीप के प्रयास में आउट हो गईं। उन्होंने स्पिनरों को अच्छा रोटेट किया और ख़ासकर दीप्ति का बढ़िया उपयोग किया। 12वें ओवर में रेणुका को गेंदबाज़ी के लिए बुलाना भारत को भारी पड़ गया इसलिए हरमनप्रीत को आधे अंक कम दिए गए हैं।
देविका वैद्य, 7.5: देविका ने मिडिल ओवरों में राधा का अच्छा साथ दिया और अपने तीन ओवरों में सिर्फ़ दो बाउंड्री दिए, लेकिन वह खाली हाथ रहीं। हालांकि बल्ले से उन्होंने मुश्किल समय में अपने कप्तान का बख़ूबी साथ दिया और 32 उपयोगी रन बनाए। हरमन के आउट होने के बाद वह लगातार बाउंड्री तलाशती रहीं और इसी प्रयास में आउट हुईं।
ऋचा घोष, 9: ऋचा जब क्रीज़ पर आईं उस समय भारत को 33 गेंद में 58 रनों की ज़रूरत थी और उन्होंने आते ही लगातार दो चौकों के साथ अपने इरादे जता दिए कि मैं मैच को अंत तक ले जाने वाली हूं। 19वें ओवर की पहली तीन गेंदों पर जब उन्होंने 16 रन बंटोरे तब लगा कहीं यह दूसरे टी20 की कहानी न दोहरा दें, जहां इन्होंने मैच को सुपर ओवर में ले जाकर भारत को जीत दिलाई थी। हालांकि अगली 9 गेंदों में इन्हें सिर्फ़ 4 गेंदें खेलने का मौक़ा मिला, जिसमें से एक गेंद आख़िरी थी, तब तक भारत की हार लगभग सुनिश्चित हो चुकी थी।
दीप्ति शर्मा, 8: दीप्ति ने तीसरे ओवर में आते ही भारत को पहली सफलता दिलाई। पावरप्ले में एक और ओवर डालने के बाद हरमन ने उन्हें डेथ ओवरों (16-20) के लिए रोककर रखा। जहां उन्होंने ऑफ़ स्टंप के बाहर गेंदें कर ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज़ों से रन बनाने के लिए ख़ूब मेहनत करवाए। बल्ले से आज दीप्ति कुछ अविश्वसनीय नहीं कर पाईं।
राधा यादव, 7: पावरप्ले के बाद पहले ओवर की ज़िम्मेदारी राधा को दी गई और उन्होंने आईसीसी महिला टी20 अंतर्राष्ट्रीय रैंकिंग में नंबर 1 पर मौजूद तालिया मैक्ग्रा को आउट कर भारत को बड़ी सफलता दिला दी। इसके बाद उन्होंने अपने अगले ओवर में एलीस पेरी को लगातार चार गेंद डॉट फेंककर उन्हें दबाव में ला दिया था।
अंजली सरवानी, 5: अंजली ने अपने स्पेल की आख़िरी दो गेंदें डॉट फेंकी, फिर भी वह भारत की सबसे महंगी गेंदबाज़ रहीं। उनके प्रत्येक ओवर में आए बाउंड्री से अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि वह पूरे मैच के दौरान लय तलाशती रहीं।
रेणुका सिंह, 5: पिछले मैच को छोड़ दें तो इस सीरीज़ में रेणुका उम्मीदों पर ख़री नहीं उतरी हैं। उन्होंने अपने दूसरे में ओवर में तीन चौके देकर स्पिनरों द्वारा बनाए गए दबाव को खोल दिया, जिसके बाद यहीं से पेरी और गार्डनर ने ऑस्ट्रेलिया को बड़े लक्ष्य तक ले जाने का मार्ग प्रशस्त किया।
हरलीन देओल, 6.5: हरलीन को आज गेंदबाज़ी और बल्लेबाज़ी करने का मौक़ा नहीं मिला। उन्होंने अपनी फ़ील्डिंग से आधे अंक अर्जित किए।

कुणाल किशोर ESPNcricinfo हिंदी के एडिटोरियल फ़्रीलांसर हैं। @ImKunalKishore