मैच (20)
T20 वर्ल्ड कप (6)
CE Cup (4)
T20 Blast (10)
ख़बरें

एलीस पेरी: महिला आईपीएल, क्रिकेट का अगला मील का पत्थर साबित होगा

डब्ल्यूआईपीएल मार्च 2023 में अस्थायी रूप से निर्धारित है

Ellyse Perry celebrates after having Shafali Verma caught behind, India vs Australia, first Women's T20I, Mumbai, December 9, 2022

पेरी का मानना है कि भारत क्रिकेट का अध्यात्मिक स्थल है  •  BCCI

भारत को "विश्व क्रिकेट का आध्यात्मिक स्थल" बताते हुए ऑस्ट्रेलिया की स्टार ऑलराउंडर एलीस पेरी ने कहा है कि डब्ल्यूआईपीएल (महिला आईपीएल) महिला क्रिकेट के लिए अगला मील का पत्थर साबित होगा।
डब्ल्यूआईपीएल मार्च 2023 में अस्थायी रूप से निर्धारित है और बीसीसीआई ने हाल ही में 2023-2027 की अवधि के लिए टूर्नामेंट के मीडिया अधिकार देने के लिए टेंडर जारी किया था।
पेरी ने शनिवार को चौथे महिला टी20 मैच में ऑस्ट्रेलिया की भारत पर सात रन की जीत के बाद कहा, "(महिला) आईपीएल शानदार होने वाला है। यह महिला क्रिकेट के लिए अगला मील का पत्थर होगा। हमने देखा है कि डब्ल्यूबीबीएल और हंड्रेड ने महिला क्रिकेट के लिए क्या किया है। महिला आईपीएल क्रिकेट के अध्यात्मिक स्थल भारत में होने वाला है।"
भारत में क्रिकेट की दीवानगी के बारे में बात करते हुए 32 वर्षीय ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज ने कहा, "जिस तरीक़े से भारत में दर्शक स्टेडियम में आकर अपनी टीम को मोबाइल का फ़्लैश लाइट जलाकर सपोर्ट करते हैं, वैसा मैंने कभी कहीं भी नहीं देखा है।"
पेरी ने 2007 से अब तक 10 टेस्ट, 128 वनडे और 130 टी20 आई खेले हैं। उन्होंने कहा कि जैसे-जैसे यह खेल विकसित हो रहा है, खिलाड़ियों को भी उसी हिसाब से अनुकूलन और समायोजन करना होगा।
पेरी ऑस्ट्रेलिया फ़ुटबॉल टीम का भी हिस्सा रही हैं। वह एक साल से अधिक समय के बाद भारत के इस टी20आई दौरे में राष्ट्रीय टीम में वापसी कर रही थीं। उन्हें इस साल की शुरुआत में खेले गए घरेलू ऐशेज़ श्रृंखला के साथ-साथ बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेलों के लिए भी टीम में नहीं चुना गया था।
टी20आई में उनके भविष्य के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, "अगर मैं उस तरह की बातचीत में शामिल होती हूं तो एक खिलाड़ी के रूप में मुझे अपने आप से निराशा होगी। मेरे इस खेल में शामिल होना एक ख़ुशी की बात रही है और इस टीम का हिस्सा बनना मेरे लिए सौभाग्य की बात है। पिछले कुछ मैचों में जिस तरह से मैंने खेला है, वह काफ़ी अच्छा है। कुछ भी नहीं बदला है। अलग-अलग टीमों के लिए अलग-अलग भूमिकाएं निभाना इस खेल के प्रति विकसित होने के जैसा है।"