मैच (19)
IPL (3)
SA v SL (W) (1)
USA vs CAN (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
ACC Premier Cup (4)
Women's Tri-Series (1)
फ़ीचर्स

आंकड़े झूठ नहीं बोलते : क्या कप्तान मॉर्गन हैं कोलकाता की कमज़ोर कड़ी ?

महेंद्र सिंह धोनी एक और इतिहाच रचने के क़रीब, ऋतुराज गायकवाड़ ने सचिन तेंदुलकर को भी छोड़ा पीछे

बतौर कप्तान आईपीएल 2021 में ओएन मॉर्गन का बल्लेबाज़ी फ़ॉर्म है बेहद निराशाजनक  •  BCCI/IPL

बतौर कप्तान आईपीएल 2021 में ओएन मॉर्गन का बल्लेबाज़ी फ़ॉर्म है बेहद निराशाजनक  •  BCCI/IPL

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2021 अब अपने अंतिम पड़ाव पर पहुंच चुका है, जहां शुक्रवार को दुबई के अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में तीन बार की चैंपियन चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) और दो बार के चैंपियन कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) के बीच ख़िताबी टक्कर पर सभी क्रिकेट प्रेमियों की नज़र है। चैंपियनों के बीच होने वाले इस महामुक़ाबले के आंकड़े भी बेहद ही दिलचस्प हैं।

कप्तान मॉर्गन हैं कोलकाता की कमज़ोर कड़ी ?

कोलकाता ने इस सीज़न कमाल का पलटवार किया है। आईपीएल 2021 के भारतीय चरण में इस टीम को पहले सात मैचों में से पांच में हार मिली थी, जबकि संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) चरण में अगले सात मैचों में इस टीम ने पांच में जीत दर्ज की। पिछले नौ मैचों में देखा जाए तो यह टीम सात मैच जीत चुकी है। लेकिन केकेआर के कप्तान ओएन मॉर्गन का बल्ला पूरी तरह से न सिर्फ़ ख़ामोश है बल्कि एक अनचाहा इतिहास भी बनाता जा रहा है।
मॉर्गन ने इस सीज़न 15 पारियों में 99 के स्ट्राइक रेट और 11.7 की साधारण औसत से ही रन बनाए हैं, जो आईपीएल इतिहास में एक सीज़न में किसी भी कप्तान की सबसे कम औसत है। इससे पहले हरभजन सिंह 2012 में 12 की औसत और 135 के स्ट्राइक रेट से रन बनाने वाले कप्तान रहे थे, हालांकि हरभजन एक गेंदबाज़ के तौर पर खेलते हैं। इस फ़ेहरिस्त में तीसरे नंबर पर भी एक विशेषज्ञ गेंदबाज़ का ही नाम है और यह हैं शेन वॉर्न, जिन्होंने 2009 में बतौर कप्तान 13.5 की औसत से रन बनाए थे।

ऋतुराज ने मास्टर ब्लास्टर को भी छोड़ा पीछे

चेन्नई सुपर किंग्स के सलामी बल्लेबाज़ ऋतुराज गायकवाड़ के लिए ये सीज़न तो कमाल का गया है, जहां वह सबसे ज़्यादा रन के मामले में सिर्फ़ केएल राहुल से ही पीछे हैं। राहुल के नाम 626 रन है और अभी ऑरेंज कैप भी राहुल के पास है। लेकिन इस मैच में 23 रन और बनाते ही ऋतुराज के भी 626 रन हो जाएंगे यानी ऑरेंज कैप की रेस में वह राहुल को पीछे छोड़ सकते हैं।
लेकिन एक मामले में उन्होंने मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर को अभी ही पीछे छोड़ दिया है। आईपीएल इतिहास के पहले 25 मैचों में सबसे ज़्यादा रन बनाने वाले भारतीय खिलाड़ियों में अब ऋतुराज सबसे आगे हैं, उनके नाम 21 पारियों में अब तक 807 रन है। जबकि इससे पहले ये रिकॉर्ड सचिन के नाम था जिन्होंने 25 पारियों में 800 रन बनाए थे। इस फ़ेहरिस्त में तीसरे नंबर पर 782 रनों के साथ देवदत्त पड़िक्कल, चौथे नंबर पर 738 रनों के साथ गौतम गंभीर और पांचवें नंबर पर 730 रनों के साथ मिस्टर आईपीएल यानी सुरेश रैना मौजूद हैं।

सिक्का उछालते ही धोनी बनेंगे टी20 के बॉस

चेन्नई के कप्तान एमएस धोनी के लिए यह मैच बेहद ऐतिहासिक होने जा रहा है। धोनी अब तक टी20 क्रिकेट में 299 बार कप्तानी कर चुके हैं, जो अभी ही सबसे ज़्यादा है। लेकिन फ़ाइनल मुक़ाबले में सिक्का उछालते ही वह दुनिया के पहले खिलाड़ी बन जाएंगे, जिन्होंने 300 टी20 मैचों में कप्तानी की हो। इस फ़ेहरिस्त में दूसरे नंबर पर पूर्व कैरेबियाई कप्तान डैरन सैमी आते हैं, जिन्होंने 208 टी20 मैचों में कप्तानी की है। साथ ही साथ यह मुक़ाबला धोनी के फ़ैंस के लिए भावनाओं से भी भरा होगा, क्योंकि शायद आख़िरी बार धोनी को बतौर खिलाड़ी वह मैदान पर देखें। हालांकि इसको लेकर माही ने कुछ खुलकर तो नहीं कहा है पर इशारा ज़रूर कर दिया है

फ़ाइनल में पहुंचने का मतलब कोलकाता का चैंपियन बनना तय !

आईपीएल इतिहास के 14 सीज़न में ये सिर्फ़ तीसरा मौक़ा है जब कोलकाता के नाइट राइडर्स फ़ाइनल में पहुंचे हों। लेकिन जब ये फ़ाइनल में खेलते हैं तो फिर कभी हारते नहीं। आंकड़े ये कहते हैं - कोलकाता अब तक दो बार आईपीएल के फ़ाइनल में पहुंचा है, जहां पहली बार उन्होंने 2012 में चेन्नई सुपर किंग्स को ही शिकस्त दी थी। जबकि इसके दो साल बाद यानी 2014 में भी केकेआर फ़ाइनल में जगह बनाने में क़ामयाब रहा था और उस सीज़न उन्होंने ख़िताबी भिड़ंत में किंग्स-XI पंजाब को मात देकर चैंपियन का ताज हासिल किया था।
दूसरी तरफ़ चेन्नई सुपर किंग्स नौवीं बार आईपीएल के फ़ाइनल में पहुंच रही है, जबकि इस दौरान उन्होंने तीन बार ही ख़िताबी जीत हासिल की है और पांच बार उन्हें हार का सामना भी करना पड़ा है। जिसमें से एक बार तो कोलकाता से ही उन्हें हार मिली थी। आख़िरी बार चेन्नई 2019 में फ़ाइनल में पहुंची थी, जहां उन्हें मुंबई इंडियंस से एक रन से हार मिली थी। 2018 में चेन्नई अंतिम बार चैंपियन रही थी जब सनराइज़र्स हैदराबाद को धोनी के धुरंधरों ने आठ विकेट से फ़ाइनल में हराया था।

सैयद हुसैन ESPNCricinfo हिंदी में मल्टीमीडिया जर्नलिस्ट हैं।@imsyedhussain