मैच (16)
IPL (2)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
ACC Premier Cup (4)
Women's Tri-Series (1)
ख़बरें

रोहित शर्मा और ऋषभ पंत में बहुत समानताएं हैं : पोंटिंग

दिल्ली कैपिटल्स के कोच का मानना है कि ऋषभ ठीक उसी स्थान पर हैं जहां 2013 सीज़न में रोहित थे

शायद इस बात का रिकी पोंटिंग को भी अंदाज़ा नहीं था। रोहित शर्मा और ऋषभ पंत को भी यह बात याद नहीं रही होगी। साथ ही शायद भारतीय क्रिकेट से जुड़े लोगों को भी इस बात की भनक नहीं लगी। बात यह है कि अपने खेल जीवन में बतौर ऑस्ट्रेलियाई कप्तान कई भारतीय कप्तानों से भिड़ चुके पोंटिंग आईपीएल में दो भविष्य के भारतीय कप्तानों के विकास का हिस्सा रह चुके हैं।
2018 में दिल्ली डेयरडेविल्स के कोच बनने से पहले पोंटिंग मुंबई इंडियंस का हिस्सा थे और एक युवा रोहित शर्मा को 2013 से 2016 के बीच उनके कप्तानी के शुरुआती दिनों में एक बहुत बड़ा सहारा बने हुए थे। इस बीच मुंबई इंडियंस ने 2013 और 2015 में आईपीएल ख़िताब भी जीते और अब रोहित भारत के हर प्रारूप में स्थायी रूप से कप्तान बन चुके हैं।
पंत भी अब रोहित जैसी स्थिति में हैं। एक युवा खिलाड़ी जो टीम का अहम हिस्सा बन चुका है और एक आईपीएल कप्तान के साथ साथ भविष्य में भारत की कप्तानी भी कर सकता है।
पंत और रोहित के इस सीज़न पहली भिड़ंत से एक दिन पहले पोंटिंग ने कहा, "मैंने इस बारे में ज़्यादा सोचा नहीं है लेकिन दोनों खिलाड़ियों में काफ़ी समानता है। जब रोहित मुंबई के कप्तान बने थे तो अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में काफ़ी नए थे। शायद उम्र के मामले में भी वह क़रीब उतने के ही थे जितने के अब ऋषभ हैं।"
"सच पूछिए तो दोनों काफ़ी प्रवृत्ति से काफ़ी समान हैं। मुझे पता है दोनों अच्छे दोस्त हैं और कप्तानी और नेतृत्व के बारे में दोनों काफ़ी बात करते हैं। रोहित शायद बहुत ज़्यादा राज़ नहीं खोलना चाहेंगे। हालांकि सारे आसार हैं कि ऋषभ की यात्रा ठीक रोहित जैसी ही रहेगी। वह एक सफल फ्रैंचाइज़ी के युवा कप्तान हैं और रोज़ सुधार ला रहे हैं। उम्मीद है कि जैसा रोहित मुंबई के साथ कर सके वैसा ही ऋषभ भी दिल्ली के साथ कर पाएंगे। और आईपीएल जैसे भारी भरकम मंच पर कप्तानी का अनुभव लेकर ऋषभ ज़रूर भारत की कप्तानी भी करेंगे। इस बारे में कोई संदेह नहीं।"
दोनों का कप्तान नियुक्त होने का तरीक़ा भी एक जैसा था। जहां रोहित ने 2013 सीज़न में पोंटिंग की जगह ली थी वहीं पंत को पिछले सीज़न श्रेयस अय्यर के चोटिल होने पर कप्तानी करने का मौक़ा मिला था। पोंटिंग अब दिल्ली के साथ अपनी पांचवीं सीज़न में हैं और उन्होंने पंत के विकास को निकट से देखा है। 2016 की नीलामी में डेयरडेविल्स से ख़रीदे जाने के बाद पंत ने 84 मैचों में 35.18 की औसत और 147.46 के स्ट्राइक रेट से 2498 रन बनाए हैं और बहुत कम समय में टीम के स्थायी कप्तान बन चुके हैं। पोंटिंग के अनुसार पंत पिछले साल डेढ़ साल में मिली अनुभव से एक "बेहतर कप्तान और इंसान" बनेंगे।
उन्होंने कहा, "इन सालों में उनका विकास काफ़ी असाधारण रहा है। पिछले दो वर्षों में भारतीय टीम के साथ भी उन्हें ज़्यादा ज़िम्मेदारी से खेलना पड़ा है और यह अनुभव उन्हें बेहतर कप्तान और बेहतर इंसान बनाएगा। मैं ऋषभ को अच्छे से जान चुका हूं और वह हर वक़्त बेहतर होने का तरीक़ा ढूंढते हैं।"
"मेरा काम होगा इस पथ पर उनका अच्छा मार्गदर्शन करना। लेकिन उनमें नेतृत्व की अच्छी समझ है और वह सफल टीमों में अच्छे कप्तानों के साथ खेल चुके हैं।" पोंटिंग को उम्मीद रहेगी कि पंत दो महीने बाद दिल्ली कैपिटल्स के इतिहास में पहली बार आईपीएल की ट्रॉफ़ी हाथ में उठा रहे होंगे। और शायद फिर पोंटिंग बीसीसीआई से एक 'कप्तानी मार्गदर्शन बोनस' की बात भी छेड़ सकेंगे।