मैच (17)
T20 वर्ल्ड कप (5)
CE Cup (3)
SL vs WI [W] (1)
T20 Blast (8)
ख़बरें

राशिद मानते हैं कि टी20 विश्वकप में स्पिन गेंदबाज़ों पर होगी बड़ी ज़िम्मेदारी

"आईपीएल में भी जिस तरह से स्पिनरों का बोलबाला रहा था, ठीक वैसे ही टी20 विश्वकप में भी होगा"

Rashid Khan kneels on the pitch, Chennai Super Kings vs Sunrisers Hyderabad, IPL 2021, Sharjah, September 30, 2021

आईपीएल 2021 में राशिद ने 18 विकेट झटके थे  •  Pankaj Nangia/BCCI

अफ़ग़ानिस्तान के स्ट्राइक गेंदबाज़ राशिद ख़ान को भरोसा है कि टी20 विश्वकप में भी स्पिन गेंदबाज़ों का ही बोलबाला रहेगा। राशिद अपने देश के लिए दूसरा टी20 विश्वकप खेल रहे हैं, 'द क्रिकेट मंथली' के साथ बात करते हुए उन्होंने कहा कि संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के इन तीनों ही स्थानों की पिच स्पिन गेंदबाज़ों के लिए मूफ़ीद रहेगी।
"स्पिनर्स के लिए यहां हमेशा ही हालात फ़ायदेमंद रहते हैं और मुझे लगता है ये स्पिनरों का विश्वकप होगा। विकेट किस तरह से बनाए जाते हैं, उससे कोई फ़र्क़ नहीं पड़ता, क्योंकि ये हमेशा ही स्पिन गेंदबाज़ों के लिए मूफ़ीद होने वाली हैं। इस विश्वकप में स्पिनर्स की भूमिका बेहद अहम होने वाली है। जैसा कि हमने आईपीएल में देखा था कि हर बार स्पिनर्स ही टीम को वापसी दिला रहे थे। मुझे लगता है कि इस विश्वकप में भी यही तस्वीर रहेगी, टीम के बेहतरीन स्पिनर ही अपने देश को मैच में वापस लाएंगे या जीत दिलाएंगे।"
राशिद ख़ान, पूर्व कप्तान, अफ़ग़ानिस्तान
हालांकि राशिद की फ़्रेंचाइज़ी सनराइज़र्स हैदराबाद अंक तालिका में सबसे नीचे रही थी, लेकिन गेंद के साथ राशिद का प्रदर्शन अच्छा रहा था। युज़वेंद्र चहल और वरुण चक्रवर्ती के साथ संयुक्त तौर पर राशिद सबसे ज़्यादा विकेट (18) लेने वाले स्पिनर रहे थे। आईपीएल 2020 में भी चहल और राशिद दोनों ही सबसे ज़्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज़ों की फ़ेहरिस्त में टॉप 10 में रहे थे।
यूएई में आईपीएल के दोनों ही सीज़न पर नज़र डालें तो साफ़ दिखता है कि यहां स्पिन गेंदबाज़ों का वर्चस्व रहता है। दुबई में स्पिनरों के नाम कुल विकेटों का 30.8% हिस्सा है, तो शारजाह में 31.1% और अबू धाबी में तो कुल विकेटों का 32.1 प्रतिशत स्पिन गेंदबाज़ों के नाम रहा है।
राशिद ने अपनी बातों को आगे बढ़ाते हुए कहा कि ग्रुप-2 में जहां उनके साथ भारत, पाकिस्तान और न्यूज़ीलैंड भी शामिल हैं, वह उनके सामने अच्छा करने की चुनौती होगी। क्योंकि इन सभी टीमों में स्पिन को अच्छा खेलने वाले बल्लेबाज़ मौजूद हैं इसलिए उन्हें ज़्यादा मेहनत करनी होगी।
2016 टी20 विश्वकप में अफ़ग़ानिस्तान ने सुपर 10 में जगह तो बना ली थी लेकिन वहां उन्हें सिर्फ़ एक ही जीत मिली थी, और वह आई थी विश्व विजेता वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़। जहां उन्होंने 123 रनों का बचाव करते हुए वेस्टइंडीज़ को शिकस्त दी थी।
टी20 विश्वकप के लिए अफ़ग़ानिस्तान के दल का ऐलान होने के तुरंत बाद ही राशिद ने कप्तानी से इस्तीफ़ा दे दिया था। उन्होंने ये भी कहा था कि अफ़ग़ानिस्तान को अगर अच्छा करना है तो इसके लिए बल्लेबाज़ों को बेहतर प्रदर्शन करना होगा।
"एक बार अगर आप इन धीमी पिचों पर अच्छा स्कोर बना देते हैं तो फिर स्पिन गेंदबाज़ों के लिए ये बहुत मददगार हो जाता है। क्योंकि फिर आप अपने कौशल को दिखाते हुए विकेट निकाल सकते हैं। इस टी20 विश्व कप में अगर हमने अच्छी बल्लेबाज़ी की तो फिर किसी भी टीम को हराने का माद्दा रखते हैं।"
राशिद ख़ान, पूर्व कप्तान, अफ़ग़ानिस्तान
(राशिद ख़ान का पूरा इंटरव्यू 20 अक्तूबर को पब्लिश किया जाएगा। इस पूरी बातचीत में राशिद ने बताया है कि कैसे एक हादसे की वजह से वह क्रिकेटर बन गए। कैसे उन्होंने लेंथ को अपना सबसे बड़ा हथियार बनाया और अभी भी वह कैसे ज़मीन से जुड़े हुए इंसान हैं।)

नागराज गोलापुड़ी ESPNcricinfo में न्यूज़ एडिटर हैं, अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के मल्टीमीडिया जर्नलिस्ट सैयद हुसैन ने किया है।