मैच (16)
आईपीएल (1)
T20WC Warm-up (2)
County DIV1 (3)
County DIV2 (4)
CE Cup (3)
ENG v PAK (1)
INTER-PRO T20 (1)
ITA vs NL [W] (1)
फ़ीचर्स

टीम प्रीव्यू: टी20 विश्व कप का सूखा ख़त्म करना चाहेगा ऑस्ट्रेलिया

उससे पहले टीम को सही संतुलन खोजने की ज़रूरत

Glenn Maxwell played an eventful innings, Australia vs India, 3rd T20I, Sydney, December 8, 2020

मैक्सवेल का आईपीएल फ़ॉर्म ऑस्ट्रेलिया के लिए अच्छा संकेत है  •  Getty Images

बड़ी तस्वीर
ऑस्ट्रेलिया ने पांच बार वन डे विश्व कप जीता है, लेकिन टी20 विश्व कप को वह अब तक एक बार भी नहीं जीत पाया है। 2010 में वे उपविजेता थे और यही टी20 विश्व कप में उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। 2019-20 में लगातार चार टी20 सीरीज़ जीतकर वे सर्वश्रेष्ठ फ़ॉर्म में थे और उस समय अगर 2020 में ऑस्ट्रेलिया में पूर्व निर्धारित विश्व कप होता तो वह जीत के प्रबल दावेदार थे। लेकिन कोरोना के कारण टूर्नामेंट को रद्द करना पड़ा और अब ऑस्ट्रेलिया के लिए परिस्थितियां बदल चुकी हैं।
उनके पास अभी भी डेविड वॉर्नर, ऐरन फ़िंच और ग्लेन मैक्सवेल जैसे मैच जीताऊ खिलाड़ी हैं। टीम में मिचेल स्टार्क, पैट कमिंस और जॉश हेज़लवुड की तेज़ी के साथ ऐडम ज़ैम्पा और ऐश्टन एगार का स्पिन आक्रमण है। जबकि मिचेल मार्श और मार्कस स्टॉयनिस जैसे आलराउंडर भी हैं, जो कि बल्लेबाज़ी के साथ-साथ ज़रूरत पड़ने पर गेंदबाज़ी भी संभाल सके।
हालांकि टीम के पास सबसे बड़ी समस्या है कि वह टीम का सही संतुलन कैसे निकाले। टीम के बल्लेबाज़ी विभाग में अब भी टी20 विशेषज्ञ बल्लेबाज़ की कमी है। वहीं वॉर्नर और फ़िंच की सलामी जोड़ी की फ़िटनेस पर अभी भी अनिश्चितता के बादल हैं।
हालिया फ़ॉर्म
मई 2020 में विश्व नंबर एक की रैंकिंग प्राप्त करने के बाद लगातार पांच टी20 सीरीज़ हारकर ऑस्ट्रेलिया अब सातवें स्थान पर पहुंच चुका है। उन्होंने पिछले 21 मैचों में से सिर्फ़ छह मैच ही जीते हैं। हालांकि उनके प्रमुख खिलाड़ी वॉर्नर और कमिंस पिछले चार सीरीज़ व स्मिथ ने पिछला तीन सीरीज़ नहीं खेला है। इसके अलावा मैक्सवेल, स्टॉयनिस और केन रिचर्ड्सन भी बांग्लादेश के ख़िलाफ़ अंतिम सीरीज़ में नहीं थे।
ऑस्ट्रेलिया ने वेस्टइंडीज़ और बांग्लादेश दोनों के ख़िलाफ़ 1-4 से सीरीज़ गंवाया है। मिचेल मार्श का हालिया फ़ॉर्म उनके लिए एकमात्र शुभ संकेत है।
बल्लेबाज़ी
मार्श के अलावा हालिया आईपीएल में मैक्सवेल ने बेहतरीन प्रदर्शन किया है, जो कि उनके लिए उम्मीद की दूसरी किरण हैं। वॉर्नर और फ़िंच सलामी बल्लेबाज़ी के लिए तैयार हैं, जबकि मिचेल मार्श नंबर तीन पर। इसके बाद स्टीवन स्मिथ को नंबर चार पर आना होगा, वहीं मैक्सवेल और स्टॉयनिस आगे आ सकते हैं। इन सब में मैथ्यू वेड की जगह अनिश्चित हो गई है।
गेंदबाज़ी
ऑस्ट्रेलिया की तेज़ गेंदबाज़ी उनकी मजबूत कड़ी है। लेकिन उनके लिए सवाल यह होगा कि वह चार या पांच गेंदबाज़ों के साथ जाए और तीन ऑलराउंडर पर शेष ओवरों के लिए निर्भर रहें। कोच जस्टिन लैंगर हमेशा से पांच गेंदबाज़ों के पक्ष में रहे हैं। ऐसे में ऑस्ट्रेलिया कमिंस, स्टार्क और रिचर्ड्सन की तेज़ गेंदबाज़ी तिकड़ी व एगार व ज़ैम्पा के साथ उतर सकता है।
इन पर रहेगी नज़र
ग्लेन मैक्सवेल ऑस्ट्रेलिया को अकेले विश्व कप जिताने की क्षमता रखते हैं। उन्होंने रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरू (आरसीबी) को आईपीएल के प्ले ऑफ़ में पहुंचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। वह ऑस्ट्रेलिया के लिए सीमित ओवर क्रिकेट में लंबे समय से मैच विजेता खिलाड़ी रहे हैं। हालांकि ऑस्ट्रेलियाई टीम प्रबंधन को उन्हें आरसीबी की तरह डिविलियर्स से पहले उतारना होगा, ताकि उनके पास अपने तेवर दिखाने का पर्याप्त समय उपलब्ध हो।
ऑस्ट्रेलियाई दल: ऐरन फ़िंच (कप्तान), डेविड वॉर्नर, स्टीव स्मिथ, ग्लेन मैक्सवेल, मिचेल मार्श, मैथ्यू वेड, ऐश्टन एगार, पैट कमिंस, मिचेल स्टार्क, केन रिचर्डसन, ऐडम ज़ैम्पा, जॉश हेज़लवुड, मार्कस स्टॉयनिस, मिचेल स्वेप्सन, जॉश इंग्लिस

ऐलेक्स मैल्कम ESPNcricinfo के एसोसिएट एडिटर हैं, अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के दया सागर ने किया है