T20 वर्ल्ड कप (5)
ख़बरें

गिल: रोहित और मेरी जोड़ी विश्व कप में कारगर साबित होगी

भारतीय युवा बल्लेबाज़ ने अपने कप्तान और सलामी जोड़ीदार द्वारा दिए प्रोत्साहन की प्रशंसा की

युवा बल्लेबाज़ शुभमन गिल ने कप्तान रोहित शर्मा के बारे में कहा है कि वह एक ऐसे खिलाड़ी हैं जो अपने साथी खिलाड़ियों को खुल कर खेलने के लिए और ख़ुद को अभिव्यक्त करने का पूरा मौक़ा देते हैं। शुभमन का यह भी मानना है कि अक्तूबर में भारत में होने वाले वनडे विश्व कप में उनकी और रोहित की जोड़ी काफ़ी महत्वपूर्ण साबित हो सकती है।
अगर दोनों बल्लेबाज़ों के आपसी आंकड़ों को देखा जाए तो ऐसा प्रतीत होता है कि शिखर धवन और रोहित की बेहतरीन ओपनिंग जोड़ी के बाद अब भारत को गिल और रोहित की जोड़ी मिल चुकी है। इस जोड़ी ने पिछले कुछ समय से वनडे क्रिकेट में नौ बार एक साथ बल्लेबाजी करते हुए 76.11 की औसत से 685 रन बनाए हैं। सिर्फ़ ओपनिंग की बात करें तो उनकी साझेदारी की औसत 85.37 की है।
गिल ने इस संदर्भ में बात करते हुए कहा, "उनके (रोहित के) साथ ओपनिंग करने में सक्षम होना बहुत अच्छा लगता है। ख़ासकर यह जानते हुए कि सभी लोगों का ध्यान उन पर है। वह एक ऐसे खिलाड़ी हैं, जो चाहते हैं कि उनके साथी बल्लेबाज़ ख़ुद को अभिव्यक्त करें और अपने हिसाब से खेलें। वह खिलाड़ियों को पूरी आज़ादी देते हैं कि ताकि अपने मन मुताबिक़ खेला जा सके।"
वेस्टइंडीज़ में टेस्ट डेब्य करने वाले युवा बल्लेबाज़ यशस्वी जायसवाल भी रोहित के संदर्भ में ठीक ऐसे ही विचार रखते हैं। 21 वर्षीय बल्लेबाज़ ने डॉमिनिका में वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ 171 रनों की पारी खेलने के बाद रोहित के बारे में बात करते हुए बताया था कि रोहित उनकी काफ़ी मदद कर रहे थे।
उस दौरान रोहित ने भी यशस्वी को लगातार प्रोत्साहित करने की बात करते हुए कहा था, "यह बहुत ही महत्वपूर्ण बात है, क्योंकि जब आप अपना पहला टेस्ट मैच खेल रहे होते हैं, तो आप ख़ुद से पूछते रहते हैं कि आप इस स्तर पर खेलने के क़ाबिल हो या नहीं हो।"
रोहित ठीक इसी तरह का विश्वास गिल में डालने का प्रयास करते हैं। भले ही दोनों दाहिने हाथ के बल्लेबाज़ हैं लेकिन जिस तरह से रोहित और गिल खेलते हैं, वह उन्हें सफ़ेद गेंद के क्रिकेट में एक ख़तरनाक जोड़ी बनाती है।
इस जोड़ी ने आठ पारियों में से छह बार 50 या उससे ज़्यादा रनों की साझेदारी की है। साथ ही उन्होंने गुवाहाटी में श्रीलंका के विरूद्ध 143 और इंदौर में न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ 212 रनों की शानदार साझेदारी भी की है। उनकी बल्लेबाज़ी में आक्रमण की अलग-अलग योजनाएँ और अलग-अलग स्कोरिंग तकनीक काफ़ फलदायी साबित हुई हैं। इससे विपक्षी गेंदबाज़ों और कप्तानों को काफ़ी मुश्किलें भी हुई हैं।
गिल ने रोहित और उनकी बल्लेबाज़ी शैली के बारे में कहा, "बल्लेबाज़ी में देखा जाए तो मेरा और उनका (रोहित का) स्कोरिंग एरिया बिल्कुल अलग है। वह पावरप्ले में ज़्यादातर हवाई शॉट लगाते हैं। वहीं मैं ऐसा बल्लेबाज़ हूं जो गैप तलाशते हुए लगातार बाउंड्री मारना चाहता है, वहीं रोहित को सिक्सर लगाना पसंद है। मुझे लगता है कि इसी कारण से हमारी जोड़ी काफ़ी कारगर साबित होती है।"
अगर वेस्टइंडीज़ के हालिया दौरे को छोड़ दिया जाए तो गिल का रिकॉर्ड काफ़ी बेहतरीन रहा है और यही कारण है कि एशिया कप में भी इशान किशन की जगह उन्हें पहले मौक़ा दिए जाने की संभावना है। गिल ने ओपनर के तौर पर 23 पारियों में 1185 रन बनाए हैं, जिसमें तीन शतक भी शामिल हैं। गिल का मौजूदा औसत 62.47 का है, जो उनकी बल्लेबाज़ी के बारे में काफ़ी कुछ बयां करता है।
हालांकि भारत के सामने एक मुश्किल यह भी है कि वेस्टइंडीज़ में गिल ने कुछ ख़ास बल्लेबाज़ी नहीं की थी। वहां खेले गए तीन वनडे में सिर्फ़ एक ही मैच में वह अच्छा प्रदर्शन कर पाए थे। तीसरे वनडे में उन्होंने मैच जिताऊ 85 रनों की पारी खेली थी। वहीं उनके जोड़ीदार किशन ने तीनों वनडे में अर्धशतक लगाया था। ऐसे में अगर गिल आगे दिए जाने वाले मौक़ों को भुनाने में क़ामयाब नहीं हो पाते हैं तो उनकी जगह पर किशन को भी मौक़ा दिया जा सकता है।