मैच (17)
IPL (2)
ACC Premier Cup (2)
Pakistan vs New Zealand (1)
PAK v WI [W] (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
Women's QUAD (2)
फ़ीचर्स

टीम प्रीव्यू : क्या यूएई की धीमी पिचों पर न्यूज़ीलैंड को ऑफ़ स्पिनर की कमी खलेगी?

फ़िलिप्स और कॉन्वे पर रहेगी मध्यक्रम की ज़िम्मेदारी

ICC/Getty Images

ICC/Getty Images

बड़ी तस्वीर

कुछ महीने पहले ही इंग्लैंड में केन विलियमसेन और रॉस टेलर ने विश्व टेस्ट चैंपियनशिप पर क़ब्ज़ा जमाया था। एक बार फिर से इस साल न्यूज़ीलैंड की टीम टी20 विश्व कप में शरीक होने के लिए तैयार है लेकिन इस बार केन विलियमसन के साथ रॉस टेलर नहीं हैं। इसके अलावा कीवी टीम में और भी कुछ छोटे-मोटे बदलाव किए गए हैं। हालिया समय में न्यज़ीलैंड ने अपनी घरेलू ज़मीन पर खेली गई श्रृंखलाओं में अपना दबदबा क़ायम रखा। इस दौरान कीवी टीम में डेवॉन कॉन्वे और ग्लेन फ़िलिप्स ग़ज़ब के फ़ॉर्म में दिखे हैं। हालांकि यह एक अलग बात कि जिन मैदानों पर न्यूज़ीलैंड की टीम ने अपना दबदबा दिखाया वह काफ़ी छोटी हैं और पिचों का मिज़ाज भी यूएई की पिच से बहुत अलग थे। इसलिए कीवी टीम के खिलाड़ियों को यूएई की धीमी और कम उछाल भरी पिचों के प्रति जल्द से जल्द से अनुकुल होना होगा।
न्यूज़ीलैंड के टी20 विश्व कप में मौजूद 16 में से 10 खिलाड़ी पिछले सप्ताह तक आईपीएल टीमों का हिस्सा थे, इसके कारण इन सभी खिलाड़ियों को यूएई के पिचों को समझने में काफ़ी मदद मिली होगी। 2016 के टी20 विश्व कप में ग्रुप स्टेज के दौरान नागपुर में न्यूज़ीलैंड ने टीम साउदी, ट्रेंट बोल्ट और मिचल मैक्कलैनघन की जगह इश सोढ़ी, मिचेल सैंटनर और नाथन मैक्कलम को टीम में शामिल किया था, जो एक मास्टर स्ट्रोक साबित हुआ था।
विलियमसन पहले ही संकेत दे चुके हैं कि भारत, पाकिस्तान, अफ़ग़ानिस्तान और बांग्लादेश के सामने उनकी टीम की एकादश परिस्थितियों के अनुसार तय की जाएगी। उन्होंने यह भी कहा था कि अगर सभी टीमें मुख्य दौर में शामिल हो जाती हैं तो यह टूर्नामेंट काफ़ी पेचिदा हो जाएगा।

हालिया फ़ॉर्म

न्यूजीलैंड के विश्व कप टीम का कोई भी खिलाड़ी ने बांग्लादेश दौरे में टीम का हिस्सा नहीं था, जहां टॉम लेथम की अगुवाई वाली टीम 3-2 से टी20 श्रृंखला हार गई थी। वहीं पाकिस्तान के ख़िलाफ़ रावलपिंडी में पहला एकदिवसीय मैच शुरू होने से कुछ मिनट पहले सुरक्षा चिंताओं के कारण रद्द कर दिया था। हालांकि न्यूज़ीलैंड के कई खिलाड़ी आईपीएल, सीपीएल, द हंड्रेड और द वैटैलिटी ब्लास्ट जैसे कई फ़्रेंचाइज़ी क्रिकेट में सक्रिय रहे हैं।

बल्लेबाज़ी

हालिया समय में फ़िलिप्स और कॉन्वे मध्य-क्रम के अच्छे बल्लेबाज़ों के रूप में में विकसित हुए हैं। साथ ही पूरी तरह से फ़िट विलियमसन की टीम में बड़ी भूमिका हो सकती है, लेकिन ऊपर क्रम के बल्लेबाज़ी में थोड़ी परेशानी हो सकती है। मार्टिन गप्टिल ने यूएई में नौ टी20 मैच खेले हैं, जिसमें उन्होंने 14 के औसत और 104.13 के स्ट्राइक रेट से 126 रन बनाए हैं। साइफ़र्ट ने सीपीएल और आईपीएल में नाइट राइडर्स की फ़्रेंचाइज़ी का हिस्सा रहे लेकिन उन्होंने एशिया में सिर्फ़ 10 टी20 मैच खेले हैं। जिमी नीशम और डेरेल मिचेल को कॉलिन डी ग्रैंडहोम से पहले टीम में जगह दी गई। मौजूदा टीम में उन्हें पारी खत्म करने की ज़िम्मेदारी सौंपी जाएगी।

गेंदबाज़ी

चोट और कोविड-19 से उबरने के बाद लॉकी फ़र्ग्युसन ने आईपीएल 2021 में कोलकाता नाइट राइडर्स के लिए अपने फ़ॉर्म और फ़िटनेस को बख़ूबी साबित किया। फ़र्ग्युसन अपनी तेज़ गति से बल्लेबाज़ों को परेशान करने का माद्दा रखते हैं। ऐडम मिल्न हंड्रेड में शानदार फ़ॉर्म में थे, न्यूज़ीलैंड के गेंदबाज़ी आक्रमण में वह एक एक्स-फैक्टर साबित हो सकते थे, लेकिन टीम प्रबंधन ने उनकी जगह पर बोल्ट और साउदी के अनुभव के साथ जाने का फ़ैसला किया और मिल्न को एक रिज़र्व गेंदबाज़ के रूप में रखा गया।
न्यूज़ीलैंड के पास विशेषज्ञ ऑफ़ स्पिनर नहीं है, हालांकि फ़िलिप्स बाएं हाथ के बल्लेबाज़ो के ख़िलाफ़ गेंदबाज़ी कर सकते हैं। सैंटनर एकमात्र न्यूज़ीलैंड के खिलाड़ी थे जिन्हें इस आईपीएल में एक भी मैच खेलने के लिए नहीं मिला, लेकिन मुख्य कोच गैरी स्टीड का मानना है कि वे अभ्यास मैचों में ख़ुद को मुख्य चरण के शुरू होने से पहले पूरी तरह से तैयार कर लेंगे।
काइल जेमीसन ने आईपीएल के पहले चरण के दौरान चेन्नई में अपने गेंदबाज़ी की गति में बदलाव से सबको प्रभावित किया था, लेकिन उसके बाद से वह कुछ ख़ास नहीं कर पाए हैं। अपने पिछले सात टी20 मैचों में उन्होंने 10.09 की इकॉनमी रेट से सिर्फ एक विकेट हासिल किया है।

इन खिलाड़ियों पर रहेगी नज़र

ग्लेन फ़िलिप्स ने ख़ुद को टी20 क्रिकेट में एक शानदार खिलाड़ी के रूप में साबित किया है। इस साल टी20 क्रिकेट में वह में सबसे ज़्यादा सिक्सर लगाने वाले खिलाड़ी हैं। इसके अलावा फ़िलिप्स न्यूज़ीलैंड लाइन-अप में स्पिन के बेहतर खिलाड़ियों में से एक हैं। उन्होंने सीपीएल में रामनरेश सरवन के साथ काम करते हुए अपने तकनीक पर काफ़ी काम किया है। पीठ में कुछ समस्याओं के कारण हाल के दिनों में वह विकेट कीपिंग नहीं कर रहे हैं लेकिन वह एक शानदार फील्डर भी हैं और ऑफ़ स्पिन गेंदबाज़ी भी कर सकते हैं।

बड़ा सवाल

क्या न्यूज़ीलैंड की बल्लेबाज़ी क्रम में पर्याप्त गहराई है? उन्होंने सिर्फ एक ही रिज़र्व प्लेयर रखा है और फ़िन एलन और कॉलिन मुनरो जैसे बल्लेबाज़ों को टीम में जगह नहीं दी है।
अगर गेंद स्विंग या सीम नहीं करती है तो क्या बोल्ट और साउदी यूएई के पिचों पर कारगर साबित होंगे ?

संभावित एकादश

1 मार्टिन गप्टिल, 2 टिम साइफ़र्ट (विकेट कीपर), 3 केन विलियमसन (कप्तान), 4 डेवन कॉन्वे, 5 ग्लेन फ़िलिप्स, 6 जिमी नीशम, 7 मिचेल सैंटनर, 8 काइल जेमीसन/डैरिल मिचेल, 9 लॉकी फ़र्ग्युसन, 10 ईश सोढ़ी, 11 ट्रेंट बोल्ट/टिम साउदी

देवरायण मुथु ESPNcricinfo के सब एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब एडिटर राजन राज ने किया है।