मैच (12)
आईपीएल (1)
USA vs BAN (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
T20I Tri-Series (1)
ख़बरें

भविष्य में विश्व टेस्ट चैंपियन का निर्णय बेस्ट ऑफ़ थ्री फ़ाइनल से हो: विराट कोहली

भारतीय कप्तान ने माना कि फ़ाइनल के दौरान न्यूज़ीलैंड टीम भारत से बेहतर थी

Virat Kohli and Kane Williamson have a chat after the WTC final, India vs New Zealand, World Test Championship (WTC) final, Southampton, Day 6 - reserve day, June 23, 2021

फ़ाइनल हारने के बाद न्यूज़ीलैंड के कप्तान केन विलियमसन के साथ भारतीय कप्तान विराट कोहली  •  ICC/Getty Images

भारत के कप्तान विराट कोहली ने स्वीकार किया कि न्यूज़ीलैंड ने विश्व टेस्ट चैंपियनशिप फ़ाइनल के दौरान भारत से बेहतर खेल दिखाया और वह 'योग्य विजेता' है। हालांकि भारतीय कप्तान ने यह भी कहा कि विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के विजेता का निर्णय 'बेस्ट ऑफ़ थ्री' फ़ाइनल से होना चाहिए, जिसमें तीन टेस्ट मैच के सीरीज़ से विजेता का निर्णय हो।
साउथैंप्टन में अपनी टीम की आठ विकेट से हार के बाद कोहली ने कहा, "मैं एक मैच से दुनिया की सर्वश्रेष्ठ टेस्ट टीम का फैसला होने से पूरी तरह सहमत नहीं हूं।"
"इसे तीन टेस्ट मैचों का सीरीज़ होना चाहिए, जिसमें उस टीम के चरित्र का परीक्षण होगा कि कौन सी टीम सीरीज़ के दौरान वापसी करने की क्षमता रखती है या फिर दूसरी टीम का पूरी तरह से सुफड़ा साफ कर देती है। यह सिर्फ़ दो दिन के अच्छे या बुरे खेल पर निर्भर नहीं कर सकता, जिसमें हारने वाली टीम अचानक से एक ख़राब टीम की श्रेणी में आ जाती है। विश्व चैंपियन तय करने का यह सही प्रोसेस नहीं है।"
कोहली ने फ़ाइनल से पहले भी यह कहा था कि एकमात्र फ़ाइनल मैच में जीत या हार उनकी टीम के लिए बहुत अधिक महत्व नहीं रखती है। भारत के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने भी हाल ही में एक साक्षात्कार में विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के लिए 'बेस्ट ऑफ थ्री फ़ाइनल' का सुझाव दिया था।
"यह एक कठिन प्रक्रिया होना चाहिए। निश्चित रूप से भविष्य में इस पर काम करने की ज़रूरत है। तीन मैचों की सीरीज़ के दौरान कई उतार-चढ़ाव आते हैं, परिस्थितियां बदलती हैं, पहले मैच में की गई गलतियों को सुधारने का मौका होता है और फिर इस बात का निर्णय होता है कि वास्तव में कौन सी टीम बेहतर है। निश्चित रूप से विश्व चैंपियन चुनने का यह अच्छा पैमाना होगा।"
कोहली ने आगे कहा, "इसलिए हम इस परिणाम से बहुत परेशान नहीं हैं क्योंकि हमने एक टेस्ट टीम के रूप में ना सिर्फ़ पिछले 18 महीने में बल्कि पिछले 3-4 वर्षों में अच्छा किया है। "
फ़ाइनल का पहला और चौथा दिन बारिश से पूरी तरह धुल जाने के बावजूद यह मैच रिज़र्व डे पर एक रोमांचक मोड़ पर पहुंच गया। भारत ने अंतिम दिन के एक सेशन के बाद न्यूज़ीलैंड को 139 रन का लक्ष्य दिया था।
कोहली ने कहा कि जिस तरह से यह रोमांचक टेस्ट मैच चला, उसे देखकर कौन नहीं चाहेगा कि ऐसी दो बेहतरीन टीमों के बीच एक तीन मैचों की सीरीज़ हो।
"ऐतिहासिक रूप से आपने जितने भी बेहतरीन टेस्ट सीरीज़ देखे हैं, वे तीन या पांच मैचों की सीरीज़ रही हैं। मैं यह इसलिए नहीं कह रहा हूं क्योंकि हम यहां पर जीत नहीं सकें, बल्कि मैं सिर्फ़ टेस्ट क्रिकेट और इस चैंपियनशिप को और यादगार बनाने के लिए ऐसा कह रहा हूं।"
2015 और 2019 के वन डे विश्व कप फ़ाइनल में हार के बाद पहली बार कोई वैश्विक ख़िताब जीतने वाले न्यूज़ीलैंड के कप्तान केन विलियमसन ने भी कोहली के इस तर्क को स्वीकार किया लेकिन उनका कहना ​​​​था कि एकमात्र फ़ाइनल का भी अपना आकर्षण और महत्व है।
कोहली की टिप्पणियों के जवाब में विलियमसन ने कहा, "क्रिकेट अनिश्चितताओं का खेल है और मुझे लगता है कि एकमात्र फ़ाइनल इस अनिश्चितता को बरकरार रखते है। इस एकमात्र फ़ाइनल की सबसे रोमांचक बात यह होती है कि इसका कोई भी परिणाम आ सकता है। हम विश्व कप और अन्य प्रतियोगिताओं में ऐसा देख चुके हैं।"
इस फ़ाइनल की पूर्व संध्या पर आईसीसी के कार्यवाहक मुख्य कार्यकारी अधिकारी ज्योफ़ एलार्डिस ने ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो को बताया था कि 'बेस्ट ऑफ़ थ्री' फ़ाइनल की सबसे बड़ी बाधा अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट का व्यस्त कार्यक्रम है। विलियमसन भी इस तर्क से सहमत दिखें।
उन्होंने कहा, "मुझे भी लगता है कि पहले से ही बहुत सारा क्रिकेट हो रहा है, उनके बीच 'बेस्ट ऑफ़ थ्री' फ़ाइनल शेड्यूल करना बहुत कठिन है। हालांकि इसमें कोई संदेह नहीं है कि एक टेस्ट सीरीज़ बेहतर परिणाम दे सकती है।"
फ़ाइनल के बारे में बोलते हुए उन्होंने कहा, "यह वास्तव में एक रोमांचक मैच था। ऐसी प्रतियोगिता पहली बार हो रही थी और दोनों टीमें इस फ़ाइनल के लिए पूरी तरह से तैयार थीं

नागराज गोलापुड़ी ESPNcricinfo में न्यूज़ एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब एडिटर दया सागर ने किया है।