आयरलैंड 107-3 (डेलेनी 44, स्टर्लिंग 30*, क्लासेन 1-18) ने नीदरलैंड 106 (ओडाउड 51, कैम्फ़र 4-26, ऐडेर 3-9) को सात विकेट से हराया

कर्टिस कैम्फ़र के चार गेंदों पर चार विकेट की बदौलत अबू धाबी में सोमवार को खेले गए टी20 विश्वकप के मुक़ाबले में आयरलैंड ने नीदरलैंड को सात विकेट से करारी शिकस्त दी। अपना सिर्फ़ पांचवां टी20 अंतर्राष्ट्रीय खेल रहे कैम्फ़र ने अपना नाम दिग्गज लसिथ मलिंगा और राशिद ख़ान जैसे गेंदबाज़ों के साथ शुमार कर लिया। 10वें ओवर में कैम्फ़र ने लगातार चार गेंदों पर किलन ऐकरमैन, रायन टेन डेस्काटा, स्कॉट एडवर्ड्स और रुलॉफ़ वैन डर मर्व को पवेलियन का रास्ता दिखाते हुए नीदरलैंड का स्कोर 51/6 कर दिया था। इस हार के बाद पीटर सीलार की ये टीम के लिए सुपर-12 में पहुंचने का रास्ता अब मुश्किल हो गया है।

कैम्फ़र के कमाल के पहले उनके लिए प्लेटफ़ॉर्म सेट किया था मार्क ऐडेर और जॉश लिटिल ने, इन दोनों ही गेंदबाज़ों ने पावरप्ले में आयरलैंड को खुलकर खेलने का कोई मौक़ा नहीं दिया। ऐडेर ने डेथ ओवर्स में बेहतरीन गेंदबाज़ी की और अपने चार ओवर में नौ रन देकर तीन विकेट झटका।

नीदरलैंड के लिए सलामी बल्लेबाज़ मैक्स ओडाउड ने शानदार पारी खेली, उन्होंने 47 गेंदों पर 51 रन बनाए लेकिन इसके बावजूद अपनी टीम को जीत नहीं दिला पाए।

नीदरलैंड के पावरप्ले में पावर नदारद

पहले बल्लेबाज़ी करते हुए नीदरलैंड ने बेन कूपर को पहले ही ओवर में रनआउट के तौर पर गंवा दिया था। इसके बाद बास डलीडे और ओडाउड ने कुछ शॉट्स लगाने की कोशिश ज़रूर की लेकिन बाएं हाथ के सीम गेंदबाज़ लिटिल ने उन्हें क्लीन बोल्ड कर दिया था। ऐडेर ने भी अपने पहले दो ओवर में महज़ दो रन दिए थे, और इस तरह से पावरप्ले में नीदरलैंड सिर्फ़ 25/2 रन ही बना पाया था।

कैम्फ़र का कमाल

कैम्फ़र की शुरुआत अच्छी नहीं रही थी और अपने पहले ही ओवर में उन्होंने 12 रन दे दिए थे। लेकिन इसके बाद जो उन्होंने किया वह इतिहास के पन्नों में सुनहरे अक्षरों में दर्ज हो गया। लेग स्टंप के बाहर उन्होंने एक छोटी गेंद डाली जिसे पुल करने की कोशिश में ऐकरमैन विकेट के पीछे कैच दे बैठे। अगली गेंद पर दिग्गज डेस्काटे विकेट के सामने पकड़ा गए और अगली गेंद भी बिल्कुल वही डाली और इस बार एलबीडब्ल्यू हुए एडवर्ड्स। एडवर्ड्स को आउट करते ही कैम्फ़र आयरलैंड की ओर से टी20 अंतर्राष्ट्रीय में हैट्रिक लेने वाले पहले गेंदबाज़ बन गए थे। लेकिन वह यहीं नहीं रुके लगातार चौथी गेंद पर उन्होंने विकेट हासिल की और इस बार उनका शिकार थे वन डर मर्व जो कैम्फ़र की गेंद को स्टंप्स पर मार बैठे। इन झटकों से नीदरलैंड की टीम उबर नहीं पाई और 20 ओवर में 106 रनों पर ऑलआउट हो गई।

107 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए आयरलैंड की शुरुआत भी कोई ख़ास नहीं रही थी, नीदरलैंड की ही तरह आयरलैंड ने भी पावरप्ले में ही अपने दो विकेट गंवा दिए थे। लेकिन गैरेथ डेलेनी और अनुभवी पॉल स्टर्लिंग के बीच तीसरे विकेट के लिए 59 रनों की साझेदारी ने आयरलैंड को जीत की दहलीज़ तक पहुंचा दिया था। 29 गेंदों पर 44 रनों की ताबड़तोड़ पारी खेलने वाले डेलेनी को सीलार ने आउट किया। लेकिन इसके बाद गेंद से धमाल मचाने वाले कैम्फ़र ने स्टर्लिंग के साथ मिलकर टीम को 15.1 ओवर में जीत दिला दी। स्टर्लिंग अपने अंदाज़ के विपरीत 39 गेंदों पर 30 रन बनाए लेकिन अंत तक वह नाबाद रहे।

देवरायण मुथु ESPNcricinfo में सब-एडिटर हैं, अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के मल्टीमीडिया जर्नलिस्ट सैयद हुसैन ने किया है।