ख़बरें

धोनी अगले साल भी करेंगे चेन्नई की कप्तानी

ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो को पता चला है रवींद्र जाडेजा भी टीम में बने रहेंगे

MS Dhoni and Ravindra Jadeja have a lot to ponder over after Chennai Super Kings lost a fourth straight game, Chennai Super Kings vs Sunrisers Hyderabad, IPL 2022, DY Patil Stadium, April 9, 2022

इस सीज़न शुरुआती मैचों में जाडेजा ने चेन्नई की कप्तानी की थी  •  BCCI

आईपीएल के गत विजेता चेन्नई सुपर किंग्स और उनके समर्थकों के लिए एक बड़ी ख़ुशी की बात है कि महेंद्र सिंह धोनी एक बार फिर अगले साल पांच बार विजयी रह चुकी टीम में दिखेंगे। यही नहीं 41 वर्षीय धोनी इस फ़्रैंचाइज़ी की कप्तानी भी करते दिखेंगे।
राजस्‍थान रॉयल्‍स के ख़िलाफ़ इस सीज़न लीग के आख़िरी मुक़ाबले में टॉस जीतने के बाद धोनी ने कहा, "मेरे लिए चेन्नई में जाकर नहीं खेलना नाइंसाफ़ी होगी। एक खिलाड़ी या व्यक्ति के तौर पर वहां मुझे बहुत प्यार मिला है। अगले साल मेरे पास चेन्नई में खेलने का मौक़ा होगा। अगला साल मेरा आख़िरी साल होगा या नहीं, ये तो मुझे नहीं पता लेकिन मैं यह ज़रूर कह सकता हूं कि अगले साल हम मज़बूती से वापसी करेंगे।"
2022 का सीज़न चेन्नई के लिए निराशाजनक रहा है और वह प्लेऑफ़ की दौड़ से बाहर होने वाली दूसरी टीम है। ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो को पता चला है कि धोनी ने टीम प्रबंधन से अगले साल उपलब्ध होने की बात की है और यह भी बताया है कि वह कप्तानी करेंगे। साथ ही कप्‍तानी छोड़ने के बाद चो​टिल होने के बाद इस सीज़न से बाहर हुए हरफ़नमौला रवींद्र जाडेजा भी 2023 आईपीएल के लिए टीम में लौटेंगे। उनके बाहर जाने के तरीक़े से अफ़वाहों का बाज़ार गर्म हो गया था।
सीज़न के शुरुआत में चेन्नई ने जिन चार खिलाड़ियों को रिटेन किया था उनमें ये दोनों सबसे प्रमुख थे। जहां जाडेजा को 16 करोड़ रुपयों की राशि में सबसे पहले टीम में रखा गया था तो वहीं जाडेजा 14 करोड़ के साथ दूसरे नंबर के पिक थे।
इस सीज़न के नौवें मैच से पहले जाडेजा ने कप्तानी त्यागने का फ़ैसला किया था और सनराइज़र्स हैदराबाद के ख़िलाफ़ धोनी पुन: चेन्नई के लिए टॉस में दिखे थे। जब डैनी मॉरिसन ने उनसे पूछा कि क्या वह अगले सीज़न फिर से चेन्नई की पीली जर्सी में खेलते दिखेंगे तो उन्होंने कहा था, "आप मुझे ज़रूर पीली जर्सी में देखेंगे लेकिन यह वाली या कोई और इसके लिए आपको इंतज़ार करना पड़ेगा।"
जाडेजा के कप्तानी से हटने और फिर टीम से हट जाने पर चेन्नई की दीर्घावधि में कप्तानी के विकल्पों पर काफ़ी बातचीत होती रही है। धोनी ने ख़ुद जाडेजा के बचाव में हैदराबाद के साथ मैच के बाद कहा था, "जब आप कप्तान बन जाते हो, तो कई चीज़ें आपके दिमाग़ को प्रभावित करती हैं। मुझे लगता है कि कप्तानी से उनकी तैयारी और प्रदर्शन प्रभावित हुआ। एक खिलाड़ी से कप्तान बनना एक धीमी प्रक्रिया होती है। आपको मैच के महत्वपूर्ण क्षणों में अपनी ज़िम्मेदारी लेते हुए कुछ महत्वपूर्ण निर्णय लेने होते हैं। जब आप कप्तान बन जाते हैं तो आपको अपने खेल के अलावा भी कई चीज़ों पर ध्यान देना होता है। जाडेजा इतना दबाव ले रहे थे कि उनसे कैच छूटने लगे थे। अमूमन ऐसा नहीं होता है।"
पिछले साल अक्तूबर में आईपीएल ख़िताब जीतने के बाद चेन्नई के मालिक एन श्रीनिवासन ने कहा था कि धोनी चेन्नई का ही नहीं पूरे तमिलनाडु का "अभिन्न हिस्सा" हैं और रहेंगे। उन्होंने कहा था, "धोनी के बिना कोई सीएसके नहीं और सीएसके के बिना कोई धोनी नहीं।"
उसके एक महीने बाद जब टीम का सम्मान समोराह आयोजित किया गया था तब उन्होंने कहा था, "लोग उन्हें परेशान करते रहते हैं कि 'क्या आप खेलना जारी रखेंगे?' अरे वह हमारे साथ ही हैं और कहीं नहीं जा रहे। ऐसे में मैं ख़ुश हूं कि जब उनसे पूछा जाता है कि आप क्या उत्तरदायित्व देकर जाना चाहते हैं तो उनका जवाब हमेशा होता है, 'मैं कहीं गया ही नहीं।'"

नागराज गोलपुड़ी ESPNcricinfo में न्यूज़ एडिटर हैं