मैच (25)
Legends WC (1)
ENG v NZ (W) (1)
LPL (3)
TNPL (4)
ZIM v IND (2)
MLC (3)
T20 Blast (8)
RHF Trophy (3)
ख़बरें

मैनचेस्टर टेस्ट का आधिकारिक परिणाम आना अभी बाक़ी है!

दोनों बोर्डों के बीच मामला नहीं सुलझने पर आईसीसी कर सकता है हस्तक्षेप

The message on the scoreboard after the fifth Test was called off, England vs India, 5th Test, Manchester, 1st day, September 10, 2021

स्कोरबोर्ड, जहां मैच रद्द होने की सूचना लगी है  •  PA Photos/Getty Images

मैनचेस्टर टेस्ट भले ही रद्द हो गया हो लेकिन परिणाम तक पहुंचने की लड़ाई तो बस शुरू हुई है क्योंकि दोनों पक्ष - भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) और इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) ओल्ड ट्रैफ़र्ड टेस्ट का नतीजा निकालने का प्रयास कर रहे हैं। बीसीसीआई ने कहा है कि दोनों बोर्ड भविष्य में इस टेस्ट मैच को आयोजित करने के लिए विंडो खोजेंगे। वहीं दूसरी ओर ईसीबी के सीईओ टॉम हैरिसन ने संभावना जताई है कि भविष्य में यह मैच सीरीज़ के निर्णायक मैच के रूप में नहीं बल्कि इकलौते टेस्ट मैच के तौर पर खेला जाएगा।
हैरिसन ने मेज़बान प्रसारक स्काई स्पोर्ट्स को बताया कि यह एक विचित्र स्थिति है। उन्होंने कहा, "हमें कई अन्य विकल्प पेश किए गए हैं। अपना समय लेकर हमें उन पर नज़र करने की ज़रूरत है। सबसे अच्छा फ़ैसला यह हो सकता है कि इसी मैदान पर वापस आकर हम भारत के ख़िलाफ़ इकलौता टेस्ट मैच आयोजित करे और प्रशंसकों को ख़ुश होने का मौक़ा दे।"
भले ही दोनों बोर्ड्स ने मैच रद्द होने के बाद एक समान और संतुलित बयान दिए हैं लेकिन ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो समझता है कि ईसीबी चाहता था कि अंतिम मैच के लिए फिर से कोई नई तिथि निर्धारित नहीं की जाए और सीरीज़ का परिणाम 2-2 घोषित हो। इससे ईसीबी को 30 मिलियन पाउंड (लगभग 305 करोड़ रुपए) का नुक्सान नहीं उठाना पड़ेगा। समझा जा रहा है कि ईसीबी ने कोरोना से मैच निरस्त होने का बीमा नहीं कराया था। हालांकि हैरिसन ने सुनिश्चित किया है कि सभी फ़ैंस को टिकट के दाम वापस मिलेंगे।
अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के नियमों के अनुसार अगर कोरोना के कारण कोई मैच रद्द होता है तो इसे एक तार्किक कारण माना जाएगा। हालांकि हैरिसन ने बीबीसी से कहा है कि इस निर्णय में कोरोना से अधिक बबल लाइफ़ के थकान का प्रभाव था।
"भारत पिछले कुछ महीनों से इंग्लैंड में है, इसलिए मानसिक स्वास्थ्य के मुद्दे से इनकार नहीं किया जा सकता है। इस स्तर पर हफ़्ते-दर-हफ़्ते लगातार खेलना बहुत ही कठिन है। जब किसी बंद माहौल में कोविड का प्रसार होता है, तो यह बहुत तेज़ी से फैलता है और यह शारीरिक व मानसिक दोनों रूप से परेशान करने वाला होता है।" ईसीबी के अंदर यह टकराव है कि क्या इसे मैच रद्द करने का तार्किक कारण माना जाए। मैच शुरू होने से एक दिन पहले गुरुवार को पूरे भारतीय दल का कोविड टेस्ट किया गया था और सभी की रिपोर्ट निगेटिव आई थी। और तो और उनके पास चयन के लिए 20 खिलाड़ियों का विकल्प था।
हालांकि सबसे बाद में कोविड पॉज़िटिव पाए गए भारत के सहायक फ़िज़ियो व ट्रेनर योगेश परमार खिलाड़ियों के साथ बहुत क़रीब से काम कर रहे थे, इसलिए उनके पॉज़िटिव आने के बाद भारतीय खिलाड़ी समूह में वायरस के प्रसार होने की बात को लेकर घबरा गए और खेलने से अनिच्छा ज़ाहिर की। हैरिसन ने इस बात से भी इनकार किया कि 19 सितंबर से होने जा रहा आईपीएल मैच रद्द होने के कारणों में से एक है।
मैच के रद्द होने के बाद अब गेंद ईसीबी के पाले में है। वह चाहे तो आईसीसी के समक्ष अपील कर सकता है। लेकिन फिर यह एक लंबी खिंच जाने वाली कहानी हो जाएगी। ईसीबी कह सकता है कि रवि शास्त्री ने बुक-लॉन्च कर प्रोटोकॉल को तोड़ा, तो भारत का तर्क हो सकता है कि इंग्लैंड में कभी कड़ा बायो-सिक्योर बबल था ही नहीं। वह यूट्यूबर जार्वो के लगातार तीन मैचों में तीन बार मैदान पर घुसने का भी हवाला दे सकता है। इसके अलावा भारत, इंग्लैंड के साउथ अफ़्रीका दौरे का भी उदाहरण दे सकता है, जब इंग्लिश टीम ने 2020 में ऐसी ही परिस्थितियों में दौरा रद्द कर दिया था।
अंत में सबसे अधिक इसी बात की संभावना बन रही है कि भारत अगले साल जब सीमित ओवर की क्रिकेट के लिए इंग्लैंड का दौरा करेगा, तब यह टेस्ट मैच आयोजित हो।

जॉर्ज डोबेल ESPNcricinfo के वरिष्ठ संवाददाता हैं, अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के दया सागर ने किया है