मैच (6)
ज़िम्बाब्वे बनाम वेस्टइंडीज़ (1)
एसए20 (2)
आईएलटी20 (1)
सुपर स्मैश (1)
सुपर स्मैश (W) (1)
ख़बरें

मुझे पूरा भरोसा है कि प्रत्येक बल्लेबाज़ सही निर्णय लेगा : जॉस बटलर

इंग्लैंड कप्तान प्रसन्न हैं कि टीम ने ओवल में मिली हार के बाद लॉर्ड्स में बढ़िया वापसी की

इंग्लैंड के निचले क्रम ने भारतीय गेंदबाज़ों को तंग किया  •  Associated Press

इंग्लैंड के निचले क्रम ने भारतीय गेंदबाज़ों को तंग किया  •  Associated Press

जॉस बटलर का मानना है कि इंग्लैंड की बल्लेबाज़ी अब भी उच्चतम स्तर पर प्रदर्शन नहीं कर रही है लेकिन कप्तान लॉर्ड्स में टीम के दिखाए गए जज़्बे और सकारात्मकता से प्रसन्न हैं। इंग्लैंड ने एक चुनौतीपूर्ण पिच पर रीस टॉप्ली के छह विकेटों की मदद से 246 के स्कोर का सफल बचाव किया।
इंग्लैंड की 100 रनों की जीत से 48 घंटे पहले कप्तान ने कहा था कि वह दो प्रतिस्पर्धियों वाली दौड़ में तीसरे स्थान पर आए थे। ओवल मैदान पर इंग्लैंड को 10 विकेटों से हार झेलनी पड़ी थी। साथ ही भारत की दमदार बल्लेबाज़ी को देखते हुए ऐसा लग रहा था कि टी20 सीरीज़ की तरह वनडे सीरीज़ भी मेहमान टीम के पक्ष में जाएगी जब उन्होंने 148 रनों के भीतर इंग्लैंड के छह विकेट झटके थे।
हालांकि इस बार पहले बल्लेबाज़ी करते हुए मोईन अली और डेविड विली ने क्रमशः 47 और 41 रनों की महत्वपूर्ण पारियां खेली और टीम को 241 के ऐतिहासिक स्कोर से आगे पहुंचाया। तीन साल पहले इसी मैदान पर इसी दिन इंग्लैंड ने न्यूज़ीलैंड के साथ विश्व कप का फ़ाइनल टाई किया था।
बटलर ने कहा, "हम लॉर्ड्स पर क्रिकेट खेलते रहते हैं और यह कभी भी बल्लेबाज़ी के लिए बेहतरीन पिच नहीं रही है। इसमें कुछ ना कुछ हरकत होती है। यह विश्व कप के फ़ाइनल वाली पिच की तरह थी जो सरल नहीं थी और जिससे रोमांचक मुक़ाबले देखने को मिलते हैं।"
उन्होंने आगे कहा, "एक लेंथ को पकड़कर रखने पर रन बनाना कठिन था। आपको लग रहा था कि आप बल्ले को बीट करते हुए विकेट निकालेंगे। यह वनडे क्रिकेट की अलग शैली थी जो हम हालिया वर्षों में इंग्लैंड में देखने के अधीन नहीं थे। हमने कुछ बेहतरीन पिचों पर मैच खेले हैं जहां बड़े रन बने हैं।"
कुछ हफ़्तों पहले ही इंग्लैंड ने नीदरलैंड्स के विरुद्ध 498 पर 4 का सर्वश्रेष्ठ वनडे स्कोर का रिकॉर्ड बनाया था। हालांकि वनडे क्रिकेट के नंबर एक गेंदबाज़ के नेतृत्व वाले गेंदबाज़ी क्रम का सामना करना एक अलग ही चुनौती है और बटलर प्रसन्न हैं कि टीम ने ओवल में मिली हार के बाद बढ़िया वापसी की जहां बुमराह ने छह विकेट निकाले थे।
बटलर ने कहा, "मुझे नहीं लगता कि हमने (ओवल में) ख़राब बल्लेबाज़ी की थी। वह बढ़िया गेंदबाज़ी थी जिसने बाहरी और अंदरूनी किनारे निकाले और विकेट के पीछे अद्भुत कैच भी लपके गए। आज की विकेट भी आसान नहीं थी लेकिन यही तो चुनौती है। वनडे क्रिकेट में हम सपाट पिचों के आदी हो चुके हैं जहां बल्लेबाज़ हावी होते हैं। मुझे लगता है कि इन पिचों के कारण हमने क्रिकेट के दो अलग अंदाज़ों को देखा।"
उन्होंने आगे कहा, "आज हमने बल्ले के साथ जो सकारात्मकता दिखाई, उस ही के चलते हम इस स्कोर तक पहुंच पाए। हम बेहतर बल्लेबाज़ी कर सकते हैं लेकिन सुरक्षित होकर गेंदबाज़ों को हमपर दबाव बनाने के मौक़े देने की बजाय हम सकारात्मक थे और हमने अपने शॉट लगाए जिसने थोड़े और रन हमारे खाते में जोड़ दिए।"
इंग्लैंड कप्तान का कहना है, "एक टीम के तौर पर हमने बल्लेबाज़ी के दौरान सकारात्मक रहने का प्रयास किया है। हम और रन बना सकते थे लेकिन हम जानते हैं कि उस बल्लेबाज़ी क्रम में कितना अनुभव है और मुझे क्रीज़ पर रहने वाले हर एक व्यक्ति पर पूरा भरोसा है कि वह सही निर्णय लेगा और पूरा ड्रेसिंग रूम हमेशा उसका समर्थन करेगा।"
बटलर को लगता है कि ऑलराउंडरों का होना उनकी टीम का एक मज़बूत पक्ष है। साथ ही उनके पास ऐसे गेंदबाज़ हैं जो बल्लेबाज़ी कर सकते हैं। बल्लेबाज़ी में गहराई होने के कारण उनके बल्लेबाज़ खुलकर खेल सकते हैं।
उन्होंने कहा, "पहली पारी की समाप्ति पर हमें लगा कि हमने कम रन बनाए। हालांकि हम जानते थे कि शुरुआत में विकेट लेकर हम मैच में बने रह सकते हैं। हमने बेहतरीन गेंदबाज़ी की, गेंदबाज़ों ने बढ़िया शुरुआत की और सभी ने उसे आगे बढ़ाया।"

ऐंड्रयू मिलर (@miller_cricket) ESPNcricinfo के यूके एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब एडिटर अफ़्ज़ल जिवानी ने किया है।