फ़ीचर्स

आंकड़े : लखनऊ का चेज़ और 15 गेंदों में पूरन का अर्धशतक

लखनऊ बेंगलुरु मुक़ाबले से जुड़े कुछ रोचक आंकड़े

4 - आईपीएल में यह चौथी बार है जब किसी टीम ने एक विकेट से जीत प्राप्त की है। 2015 में कोलकाता नाइट राइडर्स ने 184 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए किंग्स इलेवन पंजाब पर एक विकेट से विजय प्राप्त की थी। जबकि 2018 के अपने पहले दोनों मैचों में मुंबई इंडियंस को चेन्नई सुपर किंग्स और सनराइज़र्स हैदराबाद के हाथों एक विकेट से हार झेलनी पड़ी थी।
213 - रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के ख़िलाफ़ लखनऊ सुपर जायंट्स ने 213 रनों का लक्ष्य प्राप्त किया जोकि आईपीएल के इतिहास में चौथा सबसे बड़ा रन चेज़ है। 2020 में पंजाब के ख़िलाफ़ राजस्थान रॉयल्स का 224 रनों का सफल रन चेज़ अभी भी इस सूची में शीर्ष पर है। उन्होंने 2008 में भी डेक्कन चार्जर्स के विरुद्ध 215 रनों का लक्ष्य प्राप्त किया था। वहीं 2021 में चेन्नई के विरुद्ध मुंबई का 219 रनों का रन चेज़ इस सूची में दूसरे स्थान पर है।
1 - एक विकेट की जीत के लिहाज़ से लखनऊ का 213 रनों का लक्ष्य प्राप्त करना टी20 के इतिहास में सबसे सफल रन चेज़ है। इससे पहले यह रिकॉर्ड लाहौर लायंस के नाम था जिन्होंने 2006 में कराची डॉल्फिंस के विरुद्ध 200 रनों के लक्ष्य को प्राप्त करते हुए एक विकेट से जीत हासिल की थी।
15 - निकोलस पूरन ने अपना अर्धशतक पूरा करने के लिए 15 गेंदें ली जोकि आईपीएल इतिहास का संयुक्त रूप से तीसरा सबसे तेज़ अर्धशतक है। आईपीएल में सबसे तेज़ अर्धशतक के एल राहुल और पैट कमिंस के नाम है, राहुल ने 2018 में दिल्ली डेयरडेविल्स के विरुद्ध 14 गेंदों पर अर्धशतक बनाया था जबकि कमिंस ने 2022 में मुंबई के ख़िलाफ़ इतनी ही गेंदों पर अर्धशतक पूरा कर लिया था। यूसुफ़ पठान ने 2014 में हैदराबाद और सुनील नारायण ने 2017 में बेंगलुरु के ख़िलाफ़ 2017 में 15 गेंदों पर अपना अर्धशतक पूरा किया था।
148 - लखनऊ ने 7 से 16 ओवर के बीच 148 रन बनाए जोकि इस चरण में आईपीएल इतिहास में बनाए गए सबसे अधिक रनों की सूची में दूसरे स्थान पर है। इस चरण में सबसे अधिक 155 रन बनाने का रिकॉर्ड पंजाब के नाम है जोकि उन्होंने बेंगलुरु के ख़िलाफ़ 2011 में बनाए थे। बेंगलुरु ने भी 2016 में मैच के इस चरण में पंजाब के ख़िलाफ़ 148 रन बनाए, हालांकि वह मैच 15-15 ओवर का था।
258.33 - लखनऊ ने इस मुक़ाबले में स्पिनर्स के ख़िलाफ़ 258.33 की स्ट्राइक रेट से रन बनाए। उन्होंने कर्ण शर्मा और शाहबाज़ अहमद की कुल 24 गेंदों पर 62 रन बनाए। बेंगलुरु ने तेज़ गेंदबाज़ों के विरुद्ध 181.66 जबकि लखनऊ ने तेज़ गेंदबाज़ों के ख़िलाफ़ 140.62 की स्ट्राइक रेट से रन बनाए।
5 - यह बेंगलुरु के ख़िलाफ़ 200 से अधिक के लक्ष्य का पांचवां सफल रन चेज़ है। टी20 क्रिकेट इतिहास में बेंगलुरु ने इस रिकॉर्ड के मामले में साउथ अफ़्रीका की टीम की बराबरी कर ली है।