मैच (9)
IPL (2)
SA v SL (W) (1)
ACC Premier Cup (4)
Women's QUAD (2)
फ़ीचर्स

रेटिंग्स: रेणुका और हरमनप्रीत को सर्वाधिक अंक, दोनों लेफ़्ट-आर्म स्पिनरों को मिले सबसे कम अंक

राष्ट्रमंडल खेलों के पहले मुक़ाबले में भारत ने टी20 विश्व चैंपियन ऑस्ट्रेलिया के पसीने छुड़वाए लेकिन जीत ना सका

रेणुका सिंह ने बेहतरीन गेंदबाज़ी करते हुए ऑस्ट्रेलिया के शीर्ष क्रम को ध्वस्त कर दिया था  •  Associated Press

रेणुका सिंह ने बेहतरीन गेंदबाज़ी करते हुए ऑस्ट्रेलिया के शीर्ष क्रम को ध्वस्त कर दिया था  •  Associated Press

भारत को राष्ट्रमंडल खेलों के पहले मुक़ाबले में एक रोमांचक मैच में विश्व चैंपियन ऑस्ट्रेलिया से हार का सामना करना पड़ा। कप्तान हरमनप्रीत कौर और शेफ़ाली वर्मा की बल्लेबाज़ी और फिर रेणुका सिंह की गेंदबाज़ी के बदौलत भारत मैच में हावी था लेकिन ऑस्ट्रेलिया की बल्लेबाज़ी में गहराई अंतत: उनके लिए रंग लाई। आईए देखते हैं इस मैच में भारतीय एकादश के सदस्यों को कितने अंक देता है ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो।
क्या सही और क्या ग़लत?
भारत के लिए सबसे बड़ी ताक़त रही नई गेंद से रेणुका का स्पेल। एजबेस्टन में राष्ट्रमंडल खेलों के लिए हाइब्रिड (मिली-जुली) पिच का उपयोग हो रहा है और यहां पर गेंदबाज़ों के लिए कोई ख़ास मदद मौजूद नहीं है। गति और उछाल की कमी के चलते अनुशासन और चतुराई भरी गेंदबाज़ी से ही फ़ायदा मिलता है। इसके अलावा हरमनप्रीत कौर ने श्रीलंका में दर्शाए गए फ़ॉर्म को बल्ले के साथ जारी रखा।
ख़ामियों में कहा जा सकता है कि सलामी जोड़ी के बाद मध्यक्रम में किसी ने हरमनप्रीत का पर्याप्त साथ नहीं दिया, अन्यथा भारत 170 के स्कोर तक पहुंच सकता था। भारत ने ऐश्ली गार्डनर और जेस जॉनासन को आठ ओवर में 26 डॉट गेंदें डालने दी, जो एक क़रीबी मैच में बड़ा फ़ासला बन बैठा। भारतीय स्पिन गेंदबाज़ों ने भी निराश किया और शायद रणनीति में हरमनप्रीत ने ख़ुद केवल एक ओवर डालकर ग़लती की।
प्लेयर रेटिंग्स (1 से 10, 10 सर्वश्रेष्ठ)
स्मृति मांधना, 7: स्मृति ने बल्ले के साथ भारत को अच्छी शुरुआत दिलाई थी और एक समय लग रहा था एक बड़ी पारी की ओर अग्रसर हैं। ऐसे में एक लूज़ शॉट ने उनकी पारी को ख़त्म किया। फ़ील्ड पर उन्होंने कुछ अच्छे रन रोके।
शेफ़ाली वर्मा, 8.5: जब स्मृति का विकेट गिरा, तब भारत को ज़रूरत थी कि तब तक ठहराव के साथ खेल रहीं शेफ़ाली गियर बदलें और भारत की पारी को गतिशीलता प्रदान करें। शेफ़ाली ने इसे काफ़ी अच्छे से किया, हालांकि भाग्य ने भी उनका अच्छा सहारा दिया। उन्होंने सही गेंदबाज़ों को अटैक किया और विकेट के चरों ओर रन बनाए। शेफ़ाली से फ़ील्ड पर कुछ ग़लतिया ज़रूर हुई और यह भारत के साधारण क्षेत्ररक्षण का प्रतीक बना।
यास्तिका भाटिया, 4: यास्तिका को इन खेलों के दल में ऋचा घोष से आगे विकेटकीपर बल्लेबाज़ के रूप में रखा गया है और बल्लेबाज़ी क्रम में वह महत्वपूर्ण नंबर तीन पर आई थीं। उन्हें विकेट की गति से परिचित होने में काफ़ी समय लगा और मिडविकेट की ओर एक लुभावने बाउंड्री के अलावा वह कुछ ख़ास नहीं कर सकीं।
हरमनप्रीत कौर, 9.5: एक धीमी विकेट पर तेज़ी से रन कैसे बनाए जाते हैं इसका मास्टरक्लास आज भारतीय कप्तान हरमनप्रीत ने दिया। क्रीज़ का पूरा उपयोग करना और फ़ील्ड के हिसाब से अपने विरोधी टीम पर निशाना साधना उनके लिए कारगर साबित हुआ। उन्होंने ग्रेस हैरिस को आउट करने के लिए एक शानदार कैच पकड़ा लेकिन शायद कप्तानी में दो फ़ैसले थोड़े ग़लत गए। एक था ख़ुद केवल एक ओवर डालना, और दूसरा था 17वें ओवर के लिए डेब्यू कर रहीं मेघना सिंह को गेंद थमाना।
जेमिमाह रॉड्रिग्स, 5: जेमिमाह जब बल्लेबाज़ी करने उतरी थीं तब हरमनप्रीत बढ़िया लय में नज़र आ रहीं थीं और आठ से अधिक ओवर पारी में बचे थे। ऐसे में एक बेहतरीन सहायक की भूमिका जेमिमाह की राह देख रही थी। उन्होंने शुरुआत अच्छी की लेकिन काफ़ी जल्दी आउट हुईं और इससे भारत के आख़िरी स्कोर में से शायद 20 रन घट गए।
दीप्ति शर्मा, 8: भारत ने इस मैच में तीन विशेषज्ञ स्पिन गेंदबाज़ खिलाए और इनमें सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन दीप्ति का ही रहा। उन्होंने विकेट टू विकेट लाइन पर गेंदबाज़ी की और रन रोकने के दबाव के चलते उन्होंने रेचल हेंस और जॉनासन के विकेट अर्जित किए। दीप्ति ने बल्ले से निराश किया लेकिन उनकी गेंदबाज़ी के साथ फ़ील्डिंग भी अच्छी थी।
हरलीन देओल, 4: हरलीन की बल्लेबाज़ी तब आई जब भारत के लिए लगभग चार ही ओवर बचे थे और हरमनप्रीत को ज़्यादा से ज़्यादा स्ट्राइक देने की ज़रूरत थी। उन्होंने एक बेहतरीन इनसाइड आउट शॉट खेला ज़रूर लेकिन उसके अलावा कुछ ख़ास नहीं कर सकीं। हरलीन एक चपल फ़ील्डर भी हैं लेकिन आज के दिन उन्होंने मैदान पर कोई ख़ास प्रभाव नहीं छोड़ा।
राधा यादव, 3: राधा के लिए यह भुलाने लायक मैच था, बावजूद इसके कि उन्होंने शुरुआत में दो अच्छे कैच पकड़े। उन्होंने लगभग पहली ही ओवर से सही लाइन नहीं पकड़ा और जब भी गेंदबाज़ी करने आई तब दूसरे छोर से बन रहे दबाव को हटने दिया। राधा द्वारा डाले गए 18वें ओवर में गार्डनर ने दो चौकों के सहारे 12 रन लिए और मैच को ख़त्म ही कर दिया।
मेघना सिंह, 6: मेघना डेब्यू पर थीं और यह उनके पहले स्पेल में साफ़ नज़र आया। बाद में उन्होंने कुछ अच्छे ओवर डाले और गति परिवर्तन से हैरिस को छकाया। उन्होंने शॉर्ट गेंद का अच्छा इस्तेमाल किया लेकिन दबाव में 17वें ओवर में 15 रन देकर मैच को भारत के हाथों से दूर कर दिया।
राजेश्वरी गायकवाड़, 3: राजेश्वरी भारत की वरिष्ठ स्पिनर थीं लेकिन उनके आते ही ऑस्ट्रेलिया ने उन पर प्रहार संपन्न किया और ऐसा लगा उनके पास इसका कोई जवाब नहीं था। ठीक राधा की तरह उन्होंने भी सटीक दिशा और लंबाई हासिल करने में मुश्किलों का सामना किया और ऐसे में कप्तान उनसे केवल दो ही ओवर डलवा पाए।
रेणुका सिंह, 10: रेणुका हाल ही में श्रीलंका में अच्छे फ़ॉर्म में थीं लेकिन ऑस्ट्रेलिया के बड़े नामों को उखाड़ने में उनका प्रदर्शन उम्मीदों से परे था। कुछ हद तक अलीसा हीली और मेग लानिंग शायद ख़राब शॉट का शिकार हुए, लेकिन रेणुका ने गेंद को दोनों तरफ़ स्विंग करवाया। बेथ मूनी उनकी गेंद की उछाल से बीट हुए और इस मैच के सर्वश्रेष्ठ गेंद में रेणुका ने तालिया मैक्ग्रा के ड्राइव को बीट करते हुए उन्हें बोल्ड किया! अगर रेणुका इस फ़ॉर्म को बरक़रार रख सकीं तो इस टूर्नामेंट में उनसे बड़ी चीज़ों की उम्मीद की जा सकती है।

देबायन सेन ESPNcricinfo हिंदी में सीनियर सहायक एडिटर और स्थानीय भाषा लीड हैं।