मैच (20)
T20 वर्ल्ड कप (6)
IND v SA [W] (1)
T20 Blast (8)
CE Cup (4)
SL vs WI [W] (1)
ख़बरें

मैनचेस्टर के प्रदर्शन को इंग्लैंड टीम का मानक बनाना चाहते हैं स्टोक्स

पिछले हफ़्ते साउथ अफ़्रीका से लॉर्ड्स पर पारी की हार से वापसी करते हुए इंग्लैंड ने दूसरे टेस्ट में मेहमान टीम को पारी और 85 रनों से परास्त किया।

Ben Stokes celebrates the dismissal of Rassie van der Dussen, England vs South Africa, 2nd Test, Manchester, 3rd day, August 27, 2022

रासी वान दर दुसें का विकेट लेने के बाद जश्न मनाते हुए स्टोक्स  •  Getty Images

इंग्लैंड कप्तान बेन स्टोक्स ने अपनी टीम से आह्वान किया है कि मैनचेस्टर में साउथ अफ़्रीका के ख़िलाफ़ दूसरे टेस्ट में अपने प्रदर्शन को वह अपनी टीम का "बेंचमार्क" या मानक समझ लें।
पिछले हफ़्ते साउथ अफ़्रीका से लॉर्ड्स पर पारी की हार से वापसी करते हुए इंग्लैंड ने दूसरे टेस्ट में तीन दिनों में मेहमान टीम को पारी और 85 रनों से परास्त किया
नए कोच ब्रेंडन मक्कलम और कप्तान स्टोक्स के कार्यकाल में पहली हार के बाद टीम की प्रतिक्रिया पर सबकी नज़रें गढ़ीं थीं और ऐसे में इंग्लैंड ने विपक्ष को पहले ही दिन 151 की स्कोर पर सिमेटा। इसके बाद ख़ुद 415 रन बनाने के बाद उन्होंने शनिवार को ही साउथ अफ़्रीका को दूसरी बार ऑल आउट कर दिया।
स्टोक्स को अपने 103 की पारी और चार विकेटों के चलते प्लेयर ऑफ़ द मैच घोषित किया गया लेकिन जेम्स एंडरसन (मैच में छह विकेट) और स्टुअर्ट ब्रॉड (मैच में चार विकेट) ने भी अहम भूमिकाएं निभाईं। टेस्ट क्रिकेट में लौट रहे ऑली रॉबिंसन ने दूसरी पारी में 43 रन पर चार विकेट लिए। बेन फ़ोक्स ने 113 नाबाद की अहम पारी खेली और ज़ैक क्रॉली ने भी संघर्षपूर्ण 101 गेंद खेलकर 38 रनों से पारी की मज़बूत नींव रखी।
तीसरे दिन दोपहर को जब रासी वान दर दुसें और कीगन पीटरसन एक लंबी साझेदारी के साथ इंग्लैंड पर दबाव डालने की कोशिश कर रहे थे तब भी मैदान पर यह आशावादी सोच दिख रही थी कि किसी भी वक़्त विकेट मिल सकता है और मैच वापस इंग्लैंड की झोली में लौट सकता है। स्टोक्स ने कहा, "क्रिकेट में यही मायने रखता है कि आप कैसी बल्लेबाज़ी, गेंदबाज़ी और फ़ील्डिंग करते हैं और जैसा हमने तीनों विभागों में किया है, मैं चाहता हूं हम इसे अपना बेंचमार्क समझ लें। जब रासी और कीगन बल्लेबाज़ी कर रहे थे और हमारे सारे योजनाओं को विफल कर रहे थे, तब भी गेंदबाज़ों में और फ़ील्ड में ऊर्जा देखने लायक था।"
स्टोक्स ने इंग्लैंड के बल्लेबाज़ी में एप्रोच को भी सराहा। इस साल में देखे गए अति आक्रामक शैली के बजाय इस मैच में इंग्लैंड ने बल्ले के साथ समय लेते हुए मज़बूत पारी का निर्माण किया। क्रॉली, जॉनी बेयरस्टो (जिन्होंने 49 रन बनाए), स्टोक्स और फ़ोक्स सबको पारी की शुरुआत में ध्यानपूर्वक बल्लेबाज़ी करनी पड़ी थी। पिच पर थोड़ी असमतल उछाल के चलते भी उन्हें ऐसा करना पड़ा।
स्टोक्स ने कहा, "सबसे अच्छी बात थी कि हमने बल्ले के साथ बहुत जल्दी समझ लिया था कि यह ऐसा पिच नहीं है जहां हम उतरकर ही मर्ज़ी के मुताबिक़ बड़े शॉट खेल सकेंगे। यह इस टीम के विकास का एक बड़ा अध्याय है। इस विकेट के असमतल उछाल के चलते आप खड़े-खड़े शॉट नहीं लगा सकते थे। कुछ गेंदें ज़्यादा ऊपर से निकल रहीं थीं और कुछ तेज़ी से स्किड कर रहीं थी। फिर भी हमारी नीयत हमेशा यही थी कि हम फ़्रंटफुट पर रहते हुए रन बनाएं।"
आगे उन्होंने कहा, "हमारा निर्णयन बहुत बेहतर था। ज़ैक ने गेम को सेट करने का काम किया और फिर फ़ोक्सी और मैं नैसर्गिक खेल दिखा पाए। फ़ोक्स के लिए यह अहम पारी थी क्योंकि उन्होंने शुरू में दबाव को पूरी तरह सोक कर लिया था। उन्होंने हर रन बनाने के मौक़े भुनाएं लेकिन साथ ही रिवर्स स्विंग के सामने सही निर्णय लेते रहे। यह करना बहुत कठिन होता है और उन्होंने दिखाया कि वह विश्व-स्तरीय बल्लेबाज़ हैं।"
स्टोक्स ने एंडरसन की भी तारीफ़ की। आख़िरी दिन 30 पर तीन लेकर एंडरसन केवल 664 टेस्ट विकेट ही नहीं बल्कि 951 अंतर्राष्ट्रीय विकेट के आंकड़े तक पहुंचे। इससे वह ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज ग्लेन मैकग्रा के 949 विकेटों के भी आगे निकल गए।
स्टोक्स ने कहा, "आपको पता है आप उनसे क्या उम्मीद रख सकते हैं। वह तेज़ी से दौड़ते हुए आते हैं और बल्लेबाज़ को कोई मौक़ा नहीं देते। मैंने इस मैच से भी पहले कहा था कि मुझे सच में नहीं पता कि वह कितने दिनों तक खेलते रहेंगे। वह 40 साल के हैं लेकिन उनका व्यवहार इस उम्र के अनुरूप नहीं है। वह ड्रेसिंग रूम में भी लाजवाब हैं। वह इस गेम और ख़ासकर तेज़ गेंदबाज़ों के लिए एक बड़े प्रेरणास्रोत हैं।"

विदूशन अहंतराजा ESPNcricinfo के असोशिएट एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी में सीनियर सहायक एडिटर और स्थानीय भाषा लीड देबायन सेन ने किया है।