मैच (6)
IPL (2)
ACC Premier Cup (2)
Women's QUAD (2)
फ़ीचर्स

आंकड़े झूठ नहीं बोलते : मिलर के सामने राजस्थान की स्पिन तिकड़ी तो बटलर के लिए राशिद हैं काफ़ी

यशस्वी जायसवाल को शांत करने के लिए क्या यश दयाल को उतारेगा गुजरात?

राजस्थान की स्पिन तिकड़ी ने पिछले मैच में कमाल किया था  •  BCCI

राजस्थान की स्पिन तिकड़ी ने पिछले मैच में कमाल किया था  •  BCCI

सुपर संडे के दूसरे मुक़ाबले में गुजरात टाइटंस का मुक़ाबला राजस्थान रॉयल्स से गुजरात के होमग्राउंड अहमदाबाद में होगा। दोनों टीमें चार में से तीन-तीन मुक़ाबले जीतकर अंक तालिका के शीर्ष चार में विराजमान हैं। हालांकि नेट रनरेट के मामले में गुजरात, राजस्थान से पीछे है, तो उनकी नज़रे मुक़ाबले को जीतकर आगे निकलने पर होंगी। आइए देखते हैं इस मैच से जुड़े कुछ प्रमुख आंकड़े।
मिलर को रहना होगा राजस्थान की स्पिन तिकड़ी से सावधान
पिछले मैच में राजस्थान तीन विश्व स्तरीय स्पिनरों के साथ खेलने उतरा। जहां रविचंद्रन अश्विन और युज़वेंद्र चहल शुरुआती एकादश में शामिल थे, वहीं ऐडम ज़ैम्पा गेंदबाज़ी के दौरान इंपैक्ट प्लेयर के रूप में आए। ये तीनों गेंदबाज़ गुजरात के फ़िनिशर डेविड मिलर को ख़ूब परेशान करते हैं। तीनों ने मिलर को तीन-तीन बार आउट किया है। हालांकि मिलर, अश्विन के ख़िलाफ़ 144, वहीं चहल के ख़िलाफ़ 176 के स्ट्राइक रेट से रन बनाते हैं। तो सावधान रहने की ज़रूरत इन गेंदबाज़ों को भी है, क्योंकि जब मिलर का बल्ला चलता है तो गेंदबाज़ उड़ता नहीं उड़ जाता है।
राशिद के सामने बटलर करते हैं संघर्ष
यूं तो जॉस बटलर का बल्ला इस सीज़न ख़ूब चला है, लेकिन वह करिश्माई स्पिनर राशिद ख़ान के सामने संघर्ष करते नज़र आते हैं। राशिद ने बटलर को चार बार आउट किया है, जबकि बटलर उनके सामने सिर्फ़ 69 के स्ट्राइक रेट और 12.5 की औसत से रन बना पाते हैं। हालांकि गुजरात के अन्य गेंदबाज़ों के ख़िलाफ़ बटलर का स्ट्राइक रेट 200 से ऊपर का हो जाता है। उन्होंने यश दयाल के ख़िलाफ़ 241, अल्ज़ारी जोसेफ़ के ख़िलाफ़ 240, मोहित शर्मा के ख़िलाफ़ 207, हार्दिक पंड्या के ख़िलाफ़ 167 और मोहम्मद शमी के ख़िलाफ़ 157 के स्ट्राइक रेट से रन बनाए हैं।
एक यश को दूसरे यश रख सकते हैं शांत
इस सीज़न में बटलर के साथ उनके सलामी जोड़ीदार यशस्वी जायसवाल का भी बल्ला ख़ूब बोला है। वह इस सीज़न चार पारियों में दो अर्धशतक लगा चुके हैं। इसके पहले यशस्वी का घरेलू सीज़न भी बहुत अच्छा गया था। हालांकि एक और भारतीय घरेलू खिलाड़ी यश दयाल उन्हें शांत रखने की क्षमता रखते हैं। कोलकाता के ख़िलाफ़ मैच में रिंकू सिंह से लगातार पांच छक्के खाने के बाद यश दयाल भले ही एकादश से बाहर हो गए हों, लेकिन अगर वह खेलते हैं तो यशस्वी जल्दी ही पवेलियन में दिखाई दे सकते हैं। यश ने यशस्वी को दो पारियों में दो बार आउट किया है, जबकि यशस्वी उनके ख़िलाफ़ सिर्फ़ 92 के स्ट्राइक रेट और 5.5 की औसत से रन बना पाते हैं।
हेटमायर के लिए दो विकल्प : राशिद ख़ान, मोहम्मद शमी
जहां बटलर और यशस्वी राजस्थान के लिए ऊपर आकर रन बनाते हैं, वहीं शिमरॉन हेटमायर पारी को तेज़ फ़िनिश देते हैं। हालांकि गुजरात के पास उनको शांत रखने के लिए दो हथियार हैं। अगर वह पारी के बीच में आते हैं तो राशिद को उनके सामने लगाया जा सकता है, जो हेटमायर को चार बार टी20 मैचों में आउट कर चुके हैं। वहीं अगर हेटमायर पारी के एकदम अंत में आते हैं, तो डेथ में शमी को लगाया जा सकता है, जो कि पांच पारियों में हेटमायर को चार बार पवेलियन भेज चुके हैं।

दया सागर ESPNcricinfo हिंदी में सब एडिटर हैं. @dayasagar95