मैच (26)
ENG v PAK (1)
T20WC Warm-up (7)
Vitality Blast (13)
CE Cup (5)
फ़ीचर्स

KKR vs SRH रिपोर्ट कार्ड : सनराइज़र्स हैदराबाद की बड़ी जीत में हैरी ब्रूक बने हीरो

कोलकाता नाइट राइडर्स की तरफ़ से कप्तान नितीश राणा और पिछले मैच के हीरो रिंकू सिंह ने लड़ी लड़ाई

Harry Brook celebrates his maiden IPL hundred, Kolkata Knight Riders vs Sunrisers Hyderabad, IPL, Kolkata, April 14, 2023

शतक लगाने के बाद अभिवादन स्वीकार करते ब्रूक  •  Associated Press

आईपीएल 2023 के 19वें मैच में सनराइज़र्स हैदराबाद ने कोलकाता नाइट राइर्स को उनके घर में 23 रनों से हरा दिया। टॉस हारकर पहले बल्लेबाज़ी करने उतरी हैदराबाद की टीम ने सलामी बल्लेबाज़ हैरी ब्रूक के शानदार शतक और कप्तान एडन मारक्रम की अर्धशतक की मदद से चार विकेट पर 228 रन का विशाल स्कोर खड़ा किया। यह आईपीएल सीज़न 2023 का सबसे बड़ा स्कोर था, जबकि ब्रूक ने इस सीज़न का पहला शतक लगाया। जवाब में कोलकाता की टीम ने अपने विकेट लगातार अंतराल पर गंवाए और लक्ष्य से 23 रन पीछे रह गए। उनकी तरफ़ से कप्तान नितीश राणा और पिछले मैच के हीरो रिंकू सिंह ने अर्धशतक लगाकर संघर्ष किया, लेकिन दूसरे बल्लेबाज़ों ने उनको पर्याप्त साथ नहीं मिला। आइए देखते हैं कि खेल के सभी विभागों में दोनों टीमों को क्या ग्रेड मिलता है।
बल्लेबाज़ी
कोलकाता (B+): बड़े लक्ष्य का पीछा करने उतरी कोलकाता की टीम की शुरुआत बहुत ख़राब रही थी और उनके तीन विकेट चौथे ओवर में ही 20 रन के भीतर गिर गए थे। लेकिन इसके बाद से नारायण जगदीशन और कप्तान नितीश ने रन रेट के मुताबिक़ बल्लेबाज़ी करने की कोशिश की, लेकिन रन काफ़ी अधिक थे और लगातार विकेट गिरने से लक्ष्य हमेशा उनके पाले से बाहर लगता रहा। हां, नितीश और अंत में रिंकू ने कुछ बड़े शॉट ज़रूर लगाए, लेकिन वह नाकाफ़ी था। उन्हें आंद्रे रसल के गेंदबाज़ी के दौरान चोटिल होने का भी नुक़सान पहुंचा और वह बल्लेबाज़ी करने तो आए, लेकिन कतई भी रंग में नहीं दिखे। पिछले मैच के हीरो रिंकू सिंह ने भी पारी के आख़िर में अपना हाथ खोला, लेकिन तब तक शायद देर हो चुकी थी।
हैदराबाद (A+): बल्लेबाज़ी की बात है तो हैदराबाद को सर्वोच्च ग्रेड ज़रूर मिलना चाहिए। पिछले तीन मैचों में लगातार असफल रहने वाले ब्रूक ने आज अपनी नीलामी क़ीमत का हक़ अदा किया और 55 गेंदों में 100 रन की ताबड़तोड़ पारी खेली। उन्होंने मैदान के चारों तरफ़ आकर्षक शॉट लगाकर दर्शकों का मन मोह लिया। उनका कप्तान एडन मारक्रम और बाद में अभिषेक शर्मा ने भी बख़ूबी साथ दिया और सुनिश्चित किया कि हैदराबाद एक ख़राब शुरुआत के बाद 200 से ऊपर के स्कोर तक पहुंचे। ग़ौरतलब है कि हैदराबाद की शुरुआत अच्छी नहीं हुई थी और उन्होंने अपने पहले दो विकेट पांच ओवर के भीतर ही गंवा दिए थे।
गेंदबाज़ी
कोलकाता (B-): कोलकाता की तरफ़ से सिर्फ़ आंद्रे रसल ही इस मैच में गेंदबाज़ी के दौरान प्रभावित कर सके। उन्होंने तीन विकेट लिए, हालांकि इस दौरान वह सिर्फ़ 2.1 ओवर ही गेंदबाज़ी कर सके और लगातार क्रैंप का शिकार दिखे। जिसकी वजह से उनका तीसरा ओवर शार्दुल ठाकुर को पूरा करना पड़ा, जो आश्चर्यजनक रूप से प्रमुख तेज़ गेंदबाज़ होने के बावजूद पूरी पारी में सिर्फ़ पांच गेंद ही फेंक सके। माना जा रहा था कि कोलकाता की पिच एक बार फिर स्पिनरों को मदद देगी, लेकिन उनकी स्पिन तिकड़ी बुरी तरह फ़ेल हुई। इस दौरान वरुण चक्रवर्ती और सुयश शर्मा ने अपने चार ओवरों के कोटे में 40-40 रन से अधिक दिए। सुनील नारायण को छोड़कर कोलकाता के सभी गेंदबाज़ों ने 10 से ऊपर की इकॉनमी से रन लुटाए, जो बताता है कि आज उनकी गेंदबाज़ी कैसी रही।
हैदराबाद (A-): कोलकाता के स्पिन गेंदबाज़ों ने जहां निराश किया, वहीं हैदराबाद के तेज़ गेंदबाज़ भी उनसे कम नहीं थे। एक बड़े लक्ष्य का कुशन लेकर उतरी हैदराबाद की गेंदबाज़ी क्रम ने सही शुरुआत की थी। भुवनेश्वर कुमार ने जहां कोलकाता के शुरुआती बल्लेबाज़ों को रोका, वहीं मार्को यानसन ने दूसरी छोर से विकेट चटकाए। हालांकि जब जगदीशन और नितीश ने हाथ खोले, तो हैदराबाद के गेंदबाज़ भी पानी मांगते नज़र आए। स्पीडस्टार उमरान मलिक के एक ही ओवर में नितीश ने चार चौके और दो छक्के जड़े। मयंक मार्कंडेय ने बीच के ओवरों में ज़रूर रन रोके और विकेट भी चटकाए, लेकिन उनका स्पेल ख़त्म होने के बाद फिर से रनों की बरसात होती रही और कोलकाता भी 10 के रन रेट से रन बनाता रहा।
क्षेत्ररक्षण और रणनीति
कोलकाता (B-) : इस विभाग में तो दोनों टीमों को समान ग्रेड मिलने चाहिए। जहां कोलकाता ने फ़ील्ड में दो, वहीं हैदराबाद ने पांच कैच टपकाए। सुयश शर्मा ने अपनी ही गेंद पर ब्रूक का कैच छोड़ा, जब वह 45 रन पर थे। इसके बाद ब्रूक ने शतक जड़ा। वहीं सुयश की ही गेंद पर शार्दुल ने अभिषेक शर्मा का एक रन पर कैच छोड़ा। इसके बाद अभिषेक ने अगली 14 गेंदों पर 3 रन बनाए। इसका ख़ामियाजा ज़रूर कोलकाता को भुगतना पड़ा और ये दोनों कैच हार का अंतर साबित हो सकते थे। वहीं रणनीति की बात करें तो कोलकाता के कप्तान नितीश ने पावरप्ले में ही अपने दो स्पिनर उतारे, लेकिन उनकी यह रणनीति काम नहीं कर सकी। शार्दुल ठाकुर का भी गेंदबाज़ी में उपयोग ना करना भी कुछ समझ नहीं आया।
हैदराबाद (B-) : जहां कोलकाता ने दो, वहीं हैदराबाद ने पांच कैच टपकाए। भुवनेश्वर, ग्लेन फ़िलिप्स, मार्करम, राहुल और वॉशिंगटन सबने फ़ील्ड में ग़लतियां की और आसान कैच छोड़े। हालांकि हैदराबाद का स्कोर इतना अधिक था कि यह उन पर भारी नहीं पड़ा। वहीं रणनीति में टॉस हारकर पहले बल्लेबाज़ी करने उतरी हैदराबाद की टीम ने अपने पहले एकादश में पांच गेंदबाज़ों को रखा, जिस पर कई लोगों ने सवाल खड़े किए। हालांकि उनकी यह रणनीति थी कि पारी जैसी चलेगी, उसी के अनुसार अब्दुल समद या वॉशिंगटन का उपयोग इंपैक्ट प्लेयर के रूप में किया जाएगा। उनकी यह ना समझ में आने वाली रणनीति ने अंततः काम किया और वॉशिंगटन ने उमरान के महंगा साबित होने के बाद दो उपयोगी ओवर किए।

दया सागर ESPNcricinfo हिंदी में सब एडिटर हैं @dayasagar95