मैच (7)
AFG v IRE (1)
WPL (1)
PSL 2024 (1)
NZ v AUS (1)
Nepal Tri-Nation (1)
Durham in ZIM (1)
QAT v HKG (1)
ख़बरें

अश्विन : इस साल अंपायरिंग के कुछ निर्णयों ने थोड़ा हैरान किया

राजस्थान के गेंदबाज़ ने आश्चर्य जताया कि सीएसके की पारी के दौरान गेंद को "अंपायर की सहमति" से क्यों बदला गया

अंपायरों के कुछ निर्णय से परेशान दिखे अश्विन  •  Associated Press

अंपायरों के कुछ निर्णय से परेशान दिखे अश्विन  •  Associated Press

रविचंद्रन अश्विन ने इस सीज़न उनके अनुसार अंपायरों के अनियमित निर्णय लेने के चलते अपनी निराशा जताई है। उन्होंने पूछा कि चेन्नई सुपर किंग्स के लक्ष्‍य का पीछा करते हुए उनकी टीम की गेंद को क्‍यों बदला गया।
अश्विन ने मैच के बाद पत्रकार वार्ता में कहा, "मैं काफ़ी हैरान हूं कि अंपायरों ने खु़द ही गेंद को ओस की वजह से बदल दिया। ऐसा पहले कभी नहीं हुआ और मैं इससे अचंभित हूं। सच कहूं तो इस साल के आईपीएल में कुछ निर्णयों ने मुझे थोड़ा परेशान किया है क्‍योंकि आप संतुलन चाहते हैं। हम एक गेंदबाज़ी टीम के तौर पर जा रहे हैं और हमने गेंद बदलने को नहीं कहा है, लेकिन अंपायरों ने अपने आप ही गेंद को बदल दिया। क्‍या कारण है, मैंने अंपायर से पूछा लेकिन उन्‍होंने कहा कि वह इसको बदल सकते हैं।"
"तो उम्‍मीद है कि आगे आईपीएल में जब भी ओस आए तो वह गेंद को बदल देंगे। आप जो चाहें कर सकते हैं लेकिन आपको एक स्‍टैंडर्ड बनाने की ज़रूरत है।"
शिवम दुबे के विकेट के बाद गेंद को बदला गया था, उस समय 12 ओवर में सीएसके का स्‍कोर तीन विकेट पर 92 रन था। अश्विन ने अपने स्‍पेल में अजिंक्‍य रहाणे और दुबे को एलबीडब्‍ल्‍यू किया था। आख़‍िर में एमएस धोनी और रवींद्र जाडेजा के प्रहार के बावजूद राजस्‍थान ने चेन्‍नई में तीन रनों से जीत हासिल की, 2008 के बाद चेन्नई में मेज़बान टीम पर आईपीएल में उनकी पहली जीत।
क्रिकेट के नियम और आईपीएल की खेलने की स्थिति दोनों ही अंपायरों को गेंद को बदलने की अनुमति देते हैं। नियम 4.5 और खेलने की स्थिति 4.4 कहते हैं, "यदि, खेल के दौरान गेंद को बरामद नहीं किया जा सकता है, या अंपायर इस बात से सहमत हैं कि यह सामान्य उपयोग के माध्यम से खेलने के लिए अनुपयुक्त हो गई है, तो अंपायर इसे एक ऐसी गेंद से बदल देंगे, जो कि पिछली गेंद से पहले प्राप्त हुई गेंद के जैसी थी। जब गेंद बदलेगी तो अंपायर बल्‍लेबाज़ और क्षेत्ररक्षण कप्‍तान को इस बारे में बता देंगे।"
लेकिन अश्‍विन पहले नहीं हैं जिन्‍होंने इस आईपीएल में अंपायरों के निर्णय पर सवाल खड़ा किया है। गुवाहाटी में 5 अप्रैल को पंजाब किंग्‍स की राजस्‍थान पर पांच विकेट से जीत के समय भी सैम करन को अंपायरों से बात करते देखा गया था। जब उनसे पूछा गया कि क्‍या बातचीत थी तो उन्‍होंने ब्रॉडकास्‍टर्स को कहा था, "मैंने थोड़ा अजीब पाया कि कैसे पहली पारी में गेंद को थोड़ी गीली होने पर बदल दिया गया और मैं गेंद को बदलने का प्रयास कर रहा था क्‍योंकि यह सा‍बुन की तरह हो गई थी। मुझे वास्तव में समझ नहीं आया कि यह कैसे काम करता है जब वे अपनी गेंद को बदल सकते हैं और हम ऐसा नहीं कर सकते।"
गुवाहाटी के उस मैच में के एन अनंतपद्मनाभन और साई दर्शन कुमार अंपायर थे, जबकि चेन्‍नई में हुए मैच में विनोद शेषन और वीरेंद्र शर्मा अंपायर थे।