मैच (11)
WPL (1)
PSL 2024 (2)
रणजी ट्रॉफ़ी (2)
NZ v AUS (1)
Nepal Tri-Nation (1)
Sheffield Shield (3)
Dang CL (1)
फ़ीचर्स

इंडिया ए सीरीज़ : पाटीदार और सौरभ का रहा जलवा

उमरान मलिक को अपनी लाल गेंद क्रिकेट पर करना होगा काम

रजत पाटीदार ने चार पारियों में दो शतक लगाए  •  PTI

रजत पाटीदार ने चार पारियों में दो शतक लगाए  •  PTI

यह तीन साल में पहली बार था जब इंडिया ए की टीम घरेलू मैदान पर कोई सीरीज़ खेल रही थी। पहले दो अनाधिकृत टेस्ट बारिश से प्रभावित ड्रॉ रहे, वहीं तीसरे मैच में 113 रन की जीतदर्ज कर इंडिया ए ने न्यूज़ीलैंड ए के ख़िलाफ़ सीरीज़ जीत लिया। कुछ भारतीय खिलाड़ी जिन्होंने इस मौक़े का पूरा फ़ायदा उठाया।
पाटीदार का कमाल
पिछले कुछ महीने रजत पाटीदार के लिए शानदार रहे हैं। आईपीएल में आरसीबी और रणजी ट्रॉफ़ी में मध्य प्रदेश के लिए बेहतरीन प्रदर्शन के बाद उन्होंने इंडिया ए के लिए भी शानदार खेल दिखाया। उन्होंने इंडिया ए के लिए इस सीरीज़ में डेब्यू करते हुए चार पारियों में दो शतकों की मदद से 106.33 की औसत से 319 रन बनाए। पाटीदार अगर शुरूआत करते हैं तो उसे बड़ी पारी में बदलते हैं और यह अच्छे संकेत हैं।
सौरभ कुमार का उभार जारी
बाएं हाथ के स्पिनर सौरभ कुमार दूसरे और तीसरे टेस्ट में एकादश का हिस्सा थे। बारिश से प्रभावित दूसरे मैच में उन्हें गेंदबाज़ी का मौक़ा नहीं मिला। लेकिन जब तीसरे मैच में उन्हें गेंदबाज़ी का मौक़ा मिला तो उन्होंने नौ विकेट ले डाले। सौरभ ने कुछ महत्वपूर्ण विकेट लिए। उन्होंने मार्क चैपमैन और शॉन सोलिया के बीच हुए 114 रन की साझेदारी को तोड़ा और इंडिया ए को पहली पारी की बढ़त दिलाई। अंतिम दिन जब मैच ड्रॉ की ओर बढ़ रहा था तो उन्होंने पांच विकेट लेकर भारत को जीत दिलाई।
उमरान को लाल-गेंद क्रिकेट में काम करना होगा
तेज़ गेंदबाज़ उमरान मलिक ने इस सीरीज़ के पहले सिर्फ़ तीन प्रथम श्रेणी मैच खेले थे। इस सीरीज़ में उनकी यह अनुभवहीनता साफ़ दिखी। उन्होंने तीसरे मैच में दोनों पारियों में मिलाकर कुल 25 ओवर गेंदबाज़ी की और उन्हें सिर्फ़ एक विकेट मिला। इस दौरान उनकी इकॉनमी भी 4.64 की रही।
उनकी गति तो बेहतरीन थी लेकिन वह लेंथ नहीं हासिल कर पा रहे थे। इस दौरान उनमें अनुशासन की कमी भी साफ़ दिखी और उन्होंने पहली पारी में छह और दूसरी पारी में 10 नो बॉल फेंके।
कुछ नए चेहरे
इंडिया ए के लिए इस सीरीज़ में चार खिलाड़ियों मुकेश कुमार, यश दयाल, पाटीदार और तिलक वर्मा ने डेब्यू किया। चोट से प्रभावित रहे दयाल ने सिर्फ़ पहला मैच खेला। लेकिन बाक़ी तीनों खिलाड़ियों ने किसी ना किसी मैच में बेहतरीन प्रदर्शन किया। पहले मैच में मुकेश ने नौ विकेट लिए, वहीं तिलक ने 121 रन बनाए। वहीं पाटीदार के कारनामे की चर्चा हम पहले ही कर चुके हैं।

आशीष पंत ESPNcricinfo में सब एडिटर हैं