मैच (9)
SL v AFG (1)
PSL 2024 (3)
NZ v AUS (1)
विश्व कप लीग 2 (1)
CWC Play-off (3)
फ़ीचर्स

आंकड़े झूठ नहीं बोलते : इस गेंदबाज़ के सामने क्यों हो जाती है वॉर्नर की बोलती बंद

शारजाह की शान हैं केएल राहुल तो यूनिवर्स बॉस के पास नहीं है ख़ान साहब का तोड़

चिंताजनक मुद्रा में बैठे हैं सनराइज़र्स के खब्बू बल्लेबाज़ डेविड वॉर्नर  •  BCCI/IPL

चिंताजनक मुद्रा में बैठे हैं सनराइज़र्स के खब्बू बल्लेबाज़ डेविड वॉर्नर  •  BCCI/IPL

इंडियंन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2021 के दूसरे चरण में पहला डबल हेडर शनिवार को खेला जाएगा, जहां दूसरे यानी शाम के मुक़ाबले में सनराइज़र्स हैदराबाद और पंजाब किंग्स आमने सामने होंगे। सनराइज़र्स के लिए ये सत्र बेहद मुश्किल गुज़र रहा है, सनराइज़र्स ने अब तक आठ मैचों में एकमात्र जीत हासिल की है और वह सबसे निचले पायदान पर हैं। कुछ वैसी ही स्थिति पंजाब की भी है जो नौ मैचों में तीन जीत के साथ सातवें स्थान पर हैं। यानी काग़ज़ पर दोनों ही टीमें एक जैसी नज़र आ रही हैं, लेकिन आंकड़े क्या कहते हैं चलिए उनपर भी डालते हैं एक नज़र।
सामने हो पंजाब तो फिर बनता है पलटवार
अंक तालिका में भले ही इस समय सनराइज़र्स हैदराबाद सबसे नीचे हैं लेकिन आईपीएल में जब उनके सामने पंजाब आती है तो फिर समझिए जीत की उम्मीदों को पंख लग जाते हैं। अब तक इन दोनों टीमों के बीच 17 बार टक्कर हुई है और उसमें से 12 बार बाज़ी हैदराबाद ने मारी है। हालांकि साल 2018 के बाद से पंजाब ने इस आंकड़ों को बेहतर करने की भरपूर कोशिश की है, 2018 के बाद से हैदराबाद और पंजाब के बीच सात बार टक्कर हुई है इसमें तीन बार जीत का सेहरा पंजाब के सिर बंधा है। पंजाब को उम्मीद होगी कि इसी लय को बरक़रार रखते हुए शारजाह में भी सनराइज़र्स को पटखनी देते हुए प्ले-ऑफ़्स में पहुंचने की उम्मीदों को ज़िंदा रखा जाए।
वॉर्नर का अर्धशतक मतलब सनराइज़र्स की हुई आधी बाज़ी
सनराइज़र्स के दिग्गज बल्लेबाज़ डेविड वॉर्नर एक बड़े मैच विनर हैं, और ये हम नहीं कह रहे बल्कि आंकड़े दे रहे हैं इसकी गवाही और आंकड़े झूठ नहीं बोलते। वॉर्नर ने 2019 सीज़न के बाद से अब तक 15 पारियों में 50 या उससे ज़्यादा का स्कोर बनाया है, और इसमें से 8 बार हैदराबाद को जीत मिली है। यानी वॉर्नर के बल्ले से जब अर्धशतक आता है तो हैदराबाद का जीत प्रतिशत 53.3 हो जाता है। वैसे वॉर्नर ने आईपीएल इतिहास में पंजाब के ख़िलाफ़ 11 बार 50 का आंकड़ा पार किया है और ये किसी भी एक टीम के ख़िलाफ़ आईपीएल में एक बल्लेबाज़ का सबसे ज़्यादा नंबर है।
इतना ही नहीं पंजाब के गेंदबाज़ वॉर्नर को कुछ ज़्यादा ही पसंद हैं, आईपीएल में अब तक वॉर्नर ने पंजाब के ख़िलाफ़ 20 पारियां खेली हैं और इनमें उन्होंने 52.4 की औसत से 943 रन बनाए हैं। किसी एक टीम के ख़िलाफ़ सबसे ज़्यादा रनों के मामले में वॉर्नर से आगे बस रोहित शर्मा हैं, जिन्होंने कोलकाता नाइट राइडर्स के ख़िलाफ़ पिछले मैच में ही एक हज़ार रन (1015) पूरे किए थे।
राहुल शारजाह में ख़ूब गरजते हैं
वॉर्नर को अगर पंजाब पसंद है तो पंजाब किंग्स के कप्तान केएल राहुल हैं शारजाह की शान। राहुल ने अब तक शारजाह में आईपीएल की पांच पारियां खेली हैं और इसमें उनके नाम 52.5 की लाजवाब औसत से 210 रन आए हैं, इनमें दो अर्धशतक भी शामिल है। राहुल का इस सीज़न फ़ॉर्म भी बेहतरीन है और अब तक उन्होंने 8 पारियों में 63.3 की औसत से 380 रन बनाए हैं जिसमें चार अर्धशतक भी शामिल है।
दोनों ही टीम के लेग स्पिनर हैं दमदार
बल्लेबाज़ों के बाद अब नज़र गेंदबाज़ों के आंकड़ों पर डालें तो इसमें लेग स्पिनर का बोलबाला दिख रहा है। हैदराबाद के दिग्गज स्पिनर राशिद ख़ान इस सीज़न अब तक अपनी टीम के सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज़ रहे हैं। आठ मैचों में राशिद के नाम 11 विकेट हैं और इस दौरान उनका इकॉनमी रेट भी 6.2 का रहा है। उनकी और पंजाब के धुरंधर बल्लेबाज़ क्रिस गेल की टक्कर तो देखने लायक़ है, यूनिवर्स बॉस को ख़ान साहब ने 11 पारियों में पांच बार अपनी फिरकी के जाल में फंसाया है।
तो वहीं पंजाब के युवा लेग स्पिनर रवि बिश्नोई की उंगलियां भी डेविड वॉर्नर को सामने पाने की इंतज़ार में रहती हैं, क्योंकि अब तक दो पारियों में दो बार उन्होंने वॉर्नर को शिकार बनाया है। इतना ही नहीं वॉर्नर अब तक चार गेंदों से ज़्यादा बिश्नोई को नहीं खेल पाए हैं और इन चार गेंदों में दो बार बिश्नोई ने वॉर्नर को पवेलियन की राह दिखाई है। इस दौरान वॉर्नर महज़ पांच रन ही बना पाए हैं यानी उनकी औसत बिश्नोई के ख़िलाफ़ सिर्फ़ 2.5 की है, हालांकि अभी इन दोनों की टक्कर सिर्फ़ दो बार ही हुई है और इस आंकड़े को ऑस्ट्रेलिया का ये दिग्गज जल्द से जल्द सुधारना चाहेगा।

सैयद हुसैन ESPNCricinfo हिंदी में मल्टीमीडिया जर्नलिस्ट हैं।@imsyedhussain