मैच (13)
IPL (2)
Pakistan vs New Zealand (1)
ACC Premier Cup (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
फ़ीचर्स

आंकड़े झूठ नहीं बोलते : क्या आरसीबी के पास है जड्डू और ब्रावो का तोड़

मैक्सवेल को जाडेजा ने टी20 में सात बार अपना शिकार बनाया है

गेंदबाज़ी और बल्लेबाज़ी दोनों क्षेत्र में आरसीबी के लिए जाडेजा हैं सिरदर्द  •  BCCI

गेंदबाज़ी और बल्लेबाज़ी दोनों क्षेत्र में आरसीबी के लिए जाडेजा हैं सिरदर्द  •  BCCI

बुधवार को चेन्नई सुपर किंग्स और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के बीच आईपीएल के इस सीज़न का 49वां मुक़ाबला पुणे के एमसीए स्टेडियम में खेला जाना है। इस सीज़न की अच्छी शुरुआत करने के बाद आरसीबी एक बार फिर हार की पटरी पर है, जबकि चेन्नई सुपर किंग्स अपना पिछला मुक़ाबला जीत कर आ रही है। आईपीएल में दोनों टीमों के बीच हुई अब तक भिड़ंत के मामले में चेन्नई सुपर किंग्स आगे है। ऐसे में आंकड़ों के रास्ते दोनों टीमों के खिलाड़ियों की वस्तुस्थिति को टटोलने का प्रयास करते हैं।
जाडेजा की गेंदों को नहीं पाते मैक्सवेल खेल
आरसीबी की बल्लेबाज़ी को अग़र सबसे ज़्यादा ख़तरा किसी गेंदबाज़ से है तो वह रवींद्र जाडेजा हैं। आरसीबी के धाकड़ बल्लेबाज़ों का जाडेजा के ख़िलाफ़ रिकॉर्ड काफ़ी निराशाजनक रहा है। जाडेजा टी20 में ग्लेन मैक्सवेल को कुल सात बार अपना शिकार बना चुके हैं। कुल 13 पारियों में मैक्सवेल ने जाडेजा की 53 गेंदों पर 134 के स्ट्राइक रेट से रन बनाए हैं।
मैक्सवेल के अलावा टीम के एक और धाकड़ बल्लेबाज़ विराट कोहली बाएं हाथ के इस स्पिन गेंदबाज़ को नहीं खेल पाते। कोहली 16 पारियों में कुल तीन बार जाडेजा की गेंदों का शिकार हो चुके हैं। वहीं इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट भी महज़ 108 का रहा है। कोहली ने जाडेजा की 123 गेंदों का सामना करते हुए 133 रन बनाए हैं। जबकि दिनेश कार्तिक भी टी20 में कुल तीन बार जाडेजा का शिकार हो चुके हैं।
हालांकि कोहली ने आईपीएल में किसी एक फ़्रैंचाइज़ी के ख़िलाफ़ सबसे ज़्यादा 949 रन (28 पारियां) भी चेन्नई के विरुद्ध ही बनाए हैं। उन्होंने चेन्नई ख़िलाफ़ अपने आईपीएल करियर के सबसे अधिक नौ अर्धशतक भी जड़े हैं।
ब्रावो भी कर सकते हैं नाक में दम
जाडेजा के अलावा चेन्नई के मध्यम गति के तेज़ गेंदबाज़ ड्वेन ब्रावो भी आरसीबी के बल्लेबाज़ों की नाक में दम कर देते हैं। ब्रावो ने टी20 में मैक्सवेल और कार्तिक को चार-चार बार पवेलियन की राह दिखाई है। हालांकि इस दौरान दोनों बल्लेबाज़ों ने ब्रावो के ख़िलाफ़ क्रमशः 167 (36 गेंदों पर 60 रन) और 144 (34 गेंदों पर 39 रन) के स्ट्राइक रेट से रन भी बनाए हैं। ब्रावो ने विराट कोहली और फ़ाफ़ डुप्लेसी को भी दो-दो बार आउट किया है।
क्या हर्षल की गेंदों पर संभल पाएंगे रायुडू?
चेन्नई के अधिकतर बल्लेबाज़ आरसीबी के गेंदबाज़ों पर हावी रहते हैं, लेकिन अंबाती रायुडू को आरसीबी के तेज़ गेंदबाज़ हर्षल पटेल को पढ़ने में कठिनाई होती है। रायुडू टी20 में कुल पांच बार अपना विकेट हर्षल की गेंदों पर गंवा चुके हैं। उन्होंने आठ पारियों मे हर्षल की 44 गेंदों पर 123 के स्ट्राइक रेट से 54 रन बनाए हैं।
रायुडू के अलावा महेंद्र सिंह धोनी भी हर्षल पटेल की गेंदों पर अपने हाथ नहीं खोल पाते। धोनी ने टी20 में हर्षल की गेंदों पर दो बार आउट हो चुके हैं। सात पारियों में हर्षल की 31 गेंदों का सामना करते हुए उन्होंने 77 के स्ट्राइक रेट से 24 रन बनाए हैं।
क्या जाडेजा उतार देंगे जॉश का जोश?
जाडेजा की फिरकी तो आरसीबी के लिए परेशानी खड़ी कर ही सकती है लेकिन उनकी आक्रामक शैली पर लगाम लगाना भी आरसीबी के गेंदबाज़ों के लिए काफ़ी चुनौतीपूर्ण रहने वाला है। इस सीज़न आरसीबी के सफल गेंदबाज़ों में से एक जॉश हेज़लवुड की 9 गेंदों पर 278 की स्ट्राइक रेट से 25 रन बनाए हैं। वहीं हर्षल पटले की 23 गेंदों पर भी उन्होंने 244 के स्ट्राइक रेट से 56 रन बनाए हैं। रॉबिन उथप्पा ने भी हर्षल की गेंदों पर 197 जबकि ऋतुराज गायकवाड़ ने उनकी गेंदों पर 200 के स्ट्राइक रेट से रन बनाए हैं।
हालांकि मोहम्मद सिराज की 21 गेंदों पर वह महज़ 91 के स्ट्राइक रेट से 19 रन ही बना पाए हैं, लेकिन कुल तीन पारियों में सिराज एक बार भी जाडेजा को आउट नहीं कर पाए हैं। वहीं एमएस धोनी मोहम्मद सिराज की गेंदों की अच्छी ख़ातिरदारी करते हैं। धोनी ने कुल चार पारियों में सिराज की 28 गेंदों पर 182 के स्ट्राइक रेट से 52 रन बनाए हैं।

नवनीत झा (@imnot_nav) ESPNcricinfo हिंदी में एडिटोरियल फ़्रीलांसर हैं।