मैच (16)
T20 वर्ल्ड कप (6)
CE Cup (2)
T20 Blast (8)
ख़बरें

रोहित के बाद राहुल और पंत सीमित-ओवर कप्तानी के सबसे बड़े दावेदार : सबा

पूर्व भारतीय खिलाड़ी और चयनकर्ता भारतीय टीम प्रबंधन की प्रसिद्ध कृष्णा के प्रति नीति से भी प्रभावित हैं

Rishabh Pant and KL Rahul at the toss, Delhi Capitals vs Lucknow Super Giants, IPL 2022, Mumbai, May 1, 2022

केएल राहुल और ऋषभ पंत आईपीएल में अपनी-अपनी फ़्रैंचाइज़ियों का नेतृत्व करते हैं  •  BCCI

भारत के पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज़ और चयनकर्ता रह चुके सबा करीम का मानना है कि अगर भारत तीनों फ़ॉर्मेंट में एक कप्तान की रणनीति से आगे बढ़ता है तो रोहित शर्मा के बाद केएल राहुल और ऋषभ पंत सीमित ओवर क्रिकेट में फ़ुल टाइम कप्तानी के प्रमुख दावेदार हैं। रोहित 35 साल से ज़्यादा के हो चुक हैं और हाल के दिनों में चोट के कारण और एहतियातन उन्हें कई सीरीज़ों में आराम दिया गया है जिसके चलते हर दूसरी सीरीज़ में भारत को एक नए कप्तान के साथ जाना पड़ा है।
स्पोर्ट्स18 के डेली न्यूज़ शो 'स्पोर्ट्स ओवर द टॉप' में सबा ने कहा, "मुझे लगता है कि यह चयनकर्ताओं पर निर्भर है कि वे पहले यह पता लगाएं कि क्या वे एक खिलाड़ी को सभी फ़ॉर्मेंट में कप्तान रखना चाहते हैं और यदि ऐसा है तो आपके पास कई विकल्प बचे हैं। नंबर एक केएल राहुल हैं क्योंकि वह तीनों फ़ॉर्मेट में खेलते हैं। नंबर दो पर ठीक उनके पीछे ऋषभ पंत हैं जो पिछले कुछ समय से असाधारण रहे हैं। अब वह एक बेहतरीन सफे़द गेंद के खिलाड़ी के रूप में भी विकसित हो गए हैं। लिहाज़ा आपके पास ये दो विकल्प बचे हैं।
"लेकिन और भी बहुत सी बातें हैं जिन पर विचार किया जाना चाहिए। नंबर एक यह है कि रोहित शर्मा अपनी चोट को देखते हुए कब तक कप्तानी जारी रख सकते हैं।"
पंत और राहुल दोनों सफ़ेद गेंद की भारतीय टीम में अपनी जगह पक्की कर चुके हैं लेकिन कप्तानी में दोनों का रिकॉर्ड अब तक साधारण रहा है। 30 वर्षीय राहुल इस साल की शुरुआत में साउथ अफ़्रीका में एक टेस्ट और तीन वनडे में कप्तान बने थे और उन्हें हर मैच में हार का सामना करना पड़ा था। हालांकि उन्होंने ज़िम्बाब्वे में मौजूदा वनडे सीरीज़ में कई अनुभवी खिलाड़ियों के ग़ैरमौजूदगी में टीम को सीरीज़ जीत दिलाई है।
वहीं आईपीएल 2022 के तुरंत बाद पंत ने भारत की टी20 टीम की कमान संभाली थी और साउथ अफ़्रीका के ख़िलाफ़ सीरीज़ में 2-0 से पिछड़ने के बाद दो मैच जिताए थे। निर्णायक मुक़ाबला बारिश के वजह से रद्द हो गया था। वहीं जहां आईपीएल में राहुल किंग्स XI पंजाब (अब पंजाब किंग्स) और लखनऊ सुपर जायंट्स के साथ कप्तानी करते हुए केवल एक ही बार प्लेऑफ़ में पहुंचे हैं, वहीं पंत अपनी कप्तानी के पहले ही सीज़न में दिल्ली कैपिटल्स को आईपीएल के प्लेऑफ़ में ले गए थे।
सबा ने दोनों खिलाड़ियों के बीच एक चुने जाने पर कहा, "क्या आप एक युवा कप्तान की ओर देख रहे हैं? अगर ऐसा है, तो ऋषभ पंत के साथ जाइए क्योंकि वह एक और ऐसा खिलाड़ी है जो आने वाले वर्षों में तीनों प्रारूपों में खेलेगा। ये ऐसे विकल्प हैं जिनसे चयनकर्ताओं को निपटना है।"
साथ ही इस शो में सबा ने भारतीय टीम प्रबंधन की तारीफ़ भी की कि पिछले महीने वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ वनडे सीरीज़ में प्रसिद्ध कृष्णा के ख़राब प्रदर्शन के बाद भी वे उनके साथ बने रहे। प्रसिद्ध ने पहले वनडे में 10 ओवर में 62 रन देकर कोई विकेट नहीं लिया था जिसके बाद उन्हें दूसरे वनडे में बाहर बिठा दिया गया था। तीसरे वनडे में प्रसिद्ध को एक और मौक़ा मिला लेकिन 35 ओवर में 257 रन (डकवर्थ लुईस मेथड के अनुसार) का बचाव करते हुए उन्हों चार ओवर में 30 रन लूटा दिए।
सबा ने कहा, "हां, अगर मुझे सही से याद है तो वनडे में वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ प्रसिद्ध का प्रदर्शन बहुत अच्छा नहीं था। यह देखना अच्छा है कि भारतीय टीम प्रबंधन उसके साथ लगातार बना हुआ है और यही इस नए सेटअप की पहचान है। एक बार जब वे एक खिलाड़ी पर भरोसा कर लेते हैं तो वे उसे पर्याप्त मौक़े देना चाहते हैं और इससे एक खिलाड़ी को किसी भी असफलता से नहीं डरने में मदद मिलती है और यही हमने प्रसिद्ध कृष्णा के साथ पिछली सीरीज़ में देखा था। उसने अच्छा प्रदर्शन किया, वह अपनी लेंथ को बदलने में सक्षम था। वह विकेट जो उसने एक पूरी तरह से सेट बल्लेबाज़ का यॉर्कर पर लिया, यह शानदार था।"
प्रसिद्ध हार्ड लेंथ करने वाले गेंदबाज़ के रूप में जाने जाते हैं। सबा ने उन्हें विदेशों में खेलते हुए आपको अपनी लेंथ में ज़रूरी बदलाव करने की सलाह भी दी। उन्होंने कहा, "उसे अभी बहुत कुछ सीखना बाक़ी है। भारत के बाहर उसका ट्रैक रिकॉर्ड उतना अच्छा नहीं रहा है क्योंकि वह हार्ड लेंथ गेंद करने वाले गेंदबाज़ों में से है और विदेशों में आपको अपनी लेंथ बदलने की ज़रूरत है ताकि आप विकेट लेने के साथ-साथ किफ़ायती भी रह सकें। लेकिन मुझे लगता है कि ये प्रसिद्ध कृष्णा के लिए बहुत अच्छे संकेत हैं चूंकि जितना अधिक वह खेलेंगा मुझे यक़ीन है कि वह सुधार करेगा और वह भारतीय तेज़ गेंदबाज़ों के मज़बूत पूल में शामिल होगा जो अभी हम देख रहे हैं।"

कुणाल किशोर ESPNcricinfo हिंदी में एडिटोरियल फ़्रीलांसर हैं।