मैच (14)
ज़िम्बाब्वे बनाम वेस्टइंडीज़ (1)
रणजी ट्रॉफ़ी (2)
ENG-LvSL (1)
महिला विश्व कप वॉर्म-अप (5)
एसए20 (2)
आईएलटी20 (1)
बीपीएल 2023 (2)
ख़बरें

सलमान: पाकिस्तान जीतने के इरादे से खेलेगा

पाकिस्तान के मध्यक्रम के बल्लेबाज़ ने अपने अर्धशतक से मेज़बान टीम को एक रोमांचक टेस्ट में जीवित रखा है

पहली पारी में अर्धशतक जड़ने के बाद दर्शकों का अभिवादन स्वीकारते आग़ा सलमान  •  Getty Images

पहली पारी में अर्धशतक जड़ने के बाद दर्शकों का अभिवादन स्वीकारते आग़ा सलमान  •  Getty Images

रावलपिंडी टेस्ट में तीन दिनों तक इंग्लैंड और उनकी सकारात्मक सोच की जयजय कार होती रही। इसको उन्होंने पहले ही दिन कई टेस्ट रिकॉर्ड तोड़कर प्रतिबिंबित किया था। दूसरे दिन के बाद विल जैक्स ने इशारा किया कि जहां उनकी टीम जीतने के लिए भरपूर कोशिश कर रही थी, वहीं मेज़बान पाकिस्तान ड्रॉ करने की उम्मीद लगाए बैठा था। तीसरे दिन के बाद जो रूट ने भी ऐसा ही कुछ कहा।
हालांकि रविवार शाम को स्टंप्स तक सपाट पिच पर आख़िरी दिन एक रोमांचक क्लाइमैक्स देखने को मिलने की पूरी संभावना है। इसके चलते पहली बार पाकिस्तान के शारीरिक भाषा में भी आत्मविश्वास दिख रहा है। टी ब्रेक पर इंग्लैंड ने पाकिस्तान को 343 का लक्ष्य ऐसे विकेट पर दिया है जिसको देख कर लगता है यहां चार और दिन खेले जा सकते हैं।
हालांकि ऐसे में बाबर आज़म समेत दो विकेटों के पतन से इंग्लैंड की रणनीति पर लोगों का विश्वास लौट आया है। इसके अलावा अज़हर अली भी चोटिल होकर पवेलियन लौट चुके हैं और ऐसे में इंग्लैंड के लिए एक ऐतिहासिक जीत के आसार और बढ़ गए हैं। हालांकि पाकिस्तानी समर्थकों को आश्वस्त करते हुए इमाम-उल-हक़ और सऊद शकील ने अर्धशतकीय साझेदारी निभा ली है। 263 रन के रहते ऐस लगता है ड्रॉ का विकल्प लगभग मिट ही चुका है।
पाकिस्तान के बल्लेबाज़ आग़ा सलमान ने दिन के खेल के बाद कहा, "हमारे ख़ेमे में यही चर्चा रहेगी कि हमें यह मैच जीतना है। हमें नहीं पता पिच का मिज़ाज आख़िरी दिन बदलेगा या नहीं लेकिन हम जीतने के इरादे से खेलेंगे।"
चौथे दिन के खेल में इंग्लैंड ने मैच को जिस गति से आगे बढ़ाया उसके चलते भूलना आसान है कि दिन के शुरुआत में एक सलमान ही थे जो इंग्लैंड के रास्ते में खड़े थे। जब तीसरे दिन के आख़िरी सत्र में सातवां विकेट गिरा था, तब पाकिस्तान 160 रनों से पिछड़ रहा था। मेज़बान टीम आख़िरी तीन विकेट जल्दी गंवाता तो इंग्लैंड अपने सकारात्मक खेल के चलते आख़िरी के चार सत्रों में पूरी तरह हावी होता।
अपने तीसरे टेस्ट में सलमान ने प्रत्याक्रमण शुरू किया और ज़ाहिद महमूद के साथ 67 रनों की साझेदारी की, जिसमें ज़ाहिद ने सिर्फ़ पांच रन बनाए। 67 गेंदों पर 53 बनाने के बाद आउट होने तक उन्होंने इंग्लैंड की बढ़त को 100 के क़रीब ला दिया था और पहले सत्र का काफ़ी समय भी खा लिया था।
उन्होंने कहा, "टीम प्रबंधन हमें अपनी नैसर्गिक गेम खेलने की सलाह देती है। मेरा गेम ही ऐसा है कि मैं आक्रमण करना पसंद करता हूं और लगातार रनों के तलाश में रहता हूं। वैसे भी पुछल्ले बल्लेबाज़ों के साथ खेलते हुए रन बनाने के अलावा कोई विकल्प नहीं बचता।"
हालांकि दिन के खेल में चोटिल हारिस रउफ़ की अनुपस्थिति में सलमान को अपने पार्ट-टाइम स्पिन गेंदबाज़ी करने को भी कहा गया। इंग्लैंड ने आक्रामक अंदाज़ में उनके डाले 30 गेंदों पर 47 बटोरकर आज का उनका अनुभव थोड़ा बहुत कड़वा बना दिया।
सलमान ने कहा, "हम गेंद के साथ केवल बाउंड्री न देने की कोशिश कर रहे थे। लेकिन हमें इंग्लैंड की सकारात्मक क्रिकेट की प्रशंसा करनी चाहिए। वह पिछले कुछ महीनों से ऐसा खेलते आ रहे हैं और ऐसे में हमें इस लक्ष्य के मिलने से भी आश्चर्य नहीं हुआ। हालांकि अब हमारे पास जीतने का मौक़ा बना है।"
इंग्लैंड के सकारात्मक क्रिकेट की तरफ़ प्रतिबद्धता में कोई ख़ास बदलाव नहीं आया है, लेकिन सहायक कोच पॉल कॉलिंगवुड के शब्दों से ज़रूर लगा कि पहली बार इंग्लैंड इस टेस्ट में बैकफ़ुट पर है। कॉलिंगवुड ने कहा, "यह स्पष्ट है कि जीत की तलाश में हम ख़ुद को हारने की स्थिति में डालने से नहीं कतराते। आप कह सकते हैं कि पारी समाप्ति की घोषणा हमने थोड़ी जल्दी कर दी लेकिन इसके बारे में आप कल ही बता सकेंगे। वैसे हम हारने से नहीं डरते और खिलाड़ियों पर परिणाम का दबाव नहीं डालना चाहते।"
उन्होंने आगे कहा, "यह रोमांचक बात है - एक सपाट पिच पर ऐसी स्थिति में होना कि आप आख़िरी दिन मैच भी जीत सकते हैं। बेन स्टोक्स और ब्रेंडन मैक्कलम की यही इच्छा है कि टेस्ट क्रिकेट रोमांचक और उत्तेजक हो।"
इस बात को दोनों टीमों को श्रेय मिलना चाहिए कि परिस्थितियों के बावजूद टेस्ट में फ़ैसला मिल सकता है। इंग्लैंड ने लगभग पूरे टेस्ट में कमान अपनी हाथ में रखी है। हालांकि उन्हें सोमवार को पता चल सकता है कि टेस्ट मैच में नियंत्रण और परिणाम, दोनों अलग चीज़ें होती हैं।

दान्यल रसूल ESPNcricinfo में सब एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सीनियर सहायक एडिटर और स्थानीय भाषा लीड देबायन सेन ने किया है।