ख़बरें

डीआरएस में डीन एल्गर का निर्णय पलटने के बाद निराश खिलाड़ियों ने कहा- 'पूरा देश 11 लोगों के ख़िलाफ़ है'

भारतीय क्रिकेटरों ने साउथ अफ़्रीकी ब्रॉडकास्टर पर निकाला ग़ुस्सा

केपटाउन टेस्ट के तीसरे दिन साउथ अफ़्रीकी कप्तान डीन एल्गर को डीआरएस में नॉटआउट करार दिए जाने पर भारतीय कप्तान विराट कोहली सहित कई भारतीय खिलाड़ियों ने साउथ अफ़्रीकी ब्रॉडकास्टर सुपरस्पोर्ट के ख़िलाफ़ खुलकर अपनी नाराजगी जताई।
यह घटना साउथ अफ़्रीकी पारी के 21वें ओवर में घटी। आर अश्विन की एक गेंद एल्गर के पैरों पर लगी। अंपायर मराय इरास्मस ने इसको पगबाधा आउट दिया। लेकिन साउथ अफ़्रीका द्वारा डीआरएस लेने पर इस फ़ैसले को पलट दिया गया, क्योंकि बॉल ट्रैकिंग में दिखा कि गेंद स्टंप के ऊपर से जा रही थी।
इससे झुंझलाए कोहली स्टंप माइक पर आए और कहा, "जब आपकी टीम गेंद को चमकाती है, तब भी ध्यान दिया करो, सिर्फ़ विपक्षी टीम पर नहीं। हमेशा लोगों को पकड़ने की कोशिश किया करो।"
सिर्फ़ कोहली अकेले नहीं थे। टीम के उपकप्तान केएल राहुल ने कहा, "पूरा देश 11 खिलाड़ियों के ख़िलाफ़ है।" वहीं अश्विन ने कहा, "सुपरस्पोर्ट, आपको जीतने के लिए कुछ और उपाय अपनाने चाहिए।"
हालांकि इस फ़ैसले से अंपायर इरास्मस भी चकित थे जब उन्होंने बड़े स्क्रीन पर बॉल ट्रैकिंग देखने के बाद अपना सिर हिलाते हुए असहमति प्रकट की। "यह असंभव है", उन्हें कहते सुना गया। आपको बता दें कि वर्तमान सीरीज़ में बॉल ट्रैकिंग तकनीक को एक स्वतंत्र संस्था 'हॉकआई' देख रही है।
दिन के खेल के बाद प्रेस कॉन्फ़्रेंस में साउथ अफ़्रीकी तेज़ गेंदबाज़ लुंगी एनगिडी ने कहा, "हमें डीआरएस पर पूरा भरोसा है। इसी तकनीक को पूरे दुनिया में उपयोग किया जाता है।"
उन्होंने आगे कहा, "यह उनकी निराशा को दिखाता है। हम मैदान पर इमोशन को देख सकते थे। यह उनके ऊपर दबाव को दिखाता है क्योंकि एल्गर और कीगन पीटरसन अच्छी साझेदारी कर रहे थे। वे इस साझेदारी को तोड़ना चाहते थे, इसलिए ऐसा हुआ। सभी लोग अलग तरह से किसी घटना पर प्रतिक्रिया देते हैं।"
हालांकि भारत की तरफ़ से प्रतिक्रिया अलग थी। प्रेस कॉन्फ़्रेंस में जब भारतीय गेंदबाज़ी कोच पारस महाम्ब्रे से इस मामले पर पूछा गया तो उन्होंने कहा, "आपने भी इसे देखा, हमने भी देखा, अब इसे मैच रेफ़री पर छोड़ देते हैं। अब मैं इस पर कोई टिप्पणी नहीं करना चाहता, चलिए मैच पर आगे बढ़ते हैं।"
जब महाम्ब्रे से पूछा गया कि क्या भारतीय खिलाड़ी ब्रॉडकास्टर पर आरोप लगा रहे हैं? उन्होंने कहा, "मैदान पर सभी खिलाड़ी अपना सर्वश्रेष्ठ देने की कोशिश कर रहे थे। कभी-कभी ऐसे मौक़ों पर कुछ लोग कुछ चीज़ें कह देते हैं। यह खेल है। अच्छा होगा कि हमें अब आगे बढ़ जाना चाहिए। कभी कभी खेल में इमोशन आ जाता है।

फ़िरदौस मूंडा ESPNcricinfo की साउथ अफ़्रीका संवाददाता हैं, अनुवाद ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो हिंदी के दया सागर ने किया है